Facebook
Jagran
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK
Media Partner

लखनऊ सिटी

कितना हुआ काम, कितना है बाकी

Rate Now

लखनऊ महज एक शहर नहीं बल्कि मिजाज है। लखनऊ की हवाओं में स्नेह भरा आमंत्रण है। यहां की फिजा में संगीत की सुमधुर स्वर लहरियां सुनाई देती हैं। यह दुनिया के उन चुनिंदा शहरों में से एक है जो गोमती नदी के दोनों किनारों पर आबाद है। लखनऊ की शाम तो विश्व प्रसिद्ध है। हजरतगंज का एक चक्कर लगा लीजिए, चोला मस्त हो जाएगा। लखनऊ के नवाब जहां अपनी नजाकत, नफासत के साथ ही स्थापत्य के लिए जाने गए वहीं अंग्रेजों ने भी इल्म का परचम फहराने में पूरा जोर लगा दिया। बड़ा इमामबाड़ा, छोटा इमामबड़ा हो या चाहे भूलभुलैया या घंटाघर। नवाबी दौर की तमाम इमारतें अब भी तनकर खड़ी पर्यटकों को आमंत्रण देती दिखती हैं।

  • जनसंख्या4,589,838 (2011 जनगणना के अनुसार)
  • साक्षरता77.3%
  • क्षेत्रफल2528 वर्ग किलोमीटर (लखनऊ की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार)
  • पुलिस स्टेशन43

कितना हुआ काम

  • 1

    बालिका स्कूलों में सेनेटरी नैपकीन एटीएम लगने में कितनी प्रगति हुई है?

    40%
  • 2

    बेरोजगार युवाओं और 300 गरीब महिलाओं को नि:शुल्क प्रशिक्षण देने में कितनी प्रगति हुई है?

    40%
  • 3

    महिलाओं को हैंडीक्राफ्ट ट्रेनिंग दिए जाने में कितनी प्रगति हुई है?

    40%

शहर में बदलाव के महानायक बनिए, यहां सुझाव दीजिए और शहर को जागरूक बनाइए