पाकिस्तान ने अपनी नौसेना में चीन निर्मित बहुउद्देश्यीय फ्रिगेट को शामिल किया

पाकिस्तान निरंतर अपनी सुरक्षा और सीमाओं को दुरुस्त करने की कोशिश में लगा रहता है। इसी प्रयास में सोमवार को देश ने अपनी समुद्री सीमाओं को मजबूत करने के लिए चीन का सहारा लिया है। पाकिस्तान नौसेना ने चीनी बहु-भूमिका युद्धपोत को शामिल किया है।

Ashisha RajputPublish: Tue, 25 Jan 2022 08:20 AM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 08:20 AM (IST)
पाकिस्तान ने अपनी नौसेना में चीन निर्मित बहुउद्देश्यीय फ्रिगेट को शामिल किया

इस्लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान ने सोमवार को चीन निर्मित एक बहुउद्देश्यीय फ्रिगेट (तेज गति से चलने वाला युद्धपोत) और कतर द्वारा दिए गए 10 हेलीकॉप्टरों को अपनी नौसेना में शामिल किया। पाकिस्तान नौसेना द्वारा जारी एक बयान के अनुसार पीएनएस तुगरिल फ्रिगेट और 10 सी किंग हेलीकॉप्टरों को कराची के ‘डॉकयार्ड’ में आयोजित एक समारोह में नौसेना के बेड़े में शामिल किया गया। पाकिस्तान नौसेना के लिए चार फ्रिगेट के अनुबंध पर जून 2018 में पाकिस्तान और चीन के बीच हस्ताक्षर किए गए थे। वहीं सी किंग हेलीकॉप्टर कतर ने पाकिस्तान में उपहार में दिए हैं। पीएनएस तुगरिल अपनी तरह का पहला पोत है जिसे शंघाई के एक ‘शिपयार्ड’ में बनाया गया है।

पाकिस्तान नौसेना प्रमुख ने कहा

चीन निर्मित बहुउद्देश्यीय फ्रिगेट की खूबियों का ब्यौरा देते हुए, पाकिस्तान नौसेना प्रमुख एडमिरल मुहम्मद अमजद खान नियाज़ी ने कहा कि टाइप 054A/P एक शक्तिशाली मंच है, जो अत्याधुनिक हथियारों और सेंसर से लैस है। नियाज़ी ने बताया कि यह जहाज खास तौर पर युद्ध नीतियों के लिए बनाया गया है, जहां पर या बहू- खतरे वाले वातावरण में लड़ने की क्षमता रखता है। यही नहीं यह जहाज सुपरसोनिक सतह से सतह पर मार करने वाली क्रूज मिसाइलों, पनडुब्बी रोधी युद्ध टारपीडो और वायु रक्षा मिसाइलों के साथ कई डोमेन में आवश्यक मारक क्षमता उत्पन्न कर सकता है।

नौसेना की युद्ध क्षमता इस जहाज से बढ़ेगी

चीन के इस बहुआयामी जहाज का पाकिस्तान गुणगान करते हुए नहीं थक रहा है। पाकिस्तान नौसेना प्रमुख ने आगे कहा कि इन क्षमताओं से पाकिस्तानी नौसेना नौसैनिक युद्ध में समकालीन रुझानों के बराबर बनी रहेगी, जिससे देश की युद्ध क्षमता इस जहाज से और ज्यादा बढ़ जाएगी।

चीन और पाकिस्तान की साझेदारी

जून 2018 में चीन और पाकिस्तान ने चार टाइप 054A/Ps के लिए अनुबंध पर हस्ताक्षर किए, चीनी राज्य मीडिया टैब्लाइड ग्लोबल टाइम्स ने बताया कि इस वर्ग का पहला पतवार अगस्त 2020 में शंघाई में लान्च किया गया था, जिसे बाद में पिछले साल नवंबर में पाकिस्तान की नौसेना को सौंप दिया गया था।

आपको बता दें कि फ्रिगेट चीन द्वारा अब तक निर्यात किया जाने वाला सबसे उन्नत सतही युद्धपोत है। पाकिस्तान तरह-तरह से अपनी युद्ध शक्तियों को मजबूत करने में लगा हुआ है, प्रेरण अवसर के दौरान, पाकिस्तानी नौसेना ने कतर से प्राप्त 10 सी किंग हेलीकाप्टरों का भी स्वागत किया है। 

Edited By Ashisha Rajput

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept