Pakistan Fuel Price Hike: आइएमएफ के दबाव में पाक में फिर बढ़े ईंधन के दाम, जानें अब पेट्रोल की क्या है कीमत

Pakistan Fuel Price Hike पाकिस्तान में लगातार महंगाई बढ़ती जा रही है। इस बीच पेट्रोल-डीजल के दामों ने आसमान छू लिया है। पेट्रोल की कीमत अब बढ़कर 248.74 व डीजल की 276.54 पाकिस्तानी रुपये प्रति लीटर हो गई है।

Mahen KhannaPublish: Fri, 01 Jul 2022 01:23 PM (IST)Updated: Fri, 01 Jul 2022 01:23 PM (IST)
Pakistan Fuel Price Hike: आइएमएफ के दबाव में पाक में फिर बढ़े ईंधन के दाम, जानें अब पेट्रोल की क्या है कीमत

इस्लामाबाद, प्रेट्र: आर्थिक संकट के बीच पाकिस्तान सरकार ने छह अरब डालर के बेलआउट पैकेज के लिए आइएमएफ की शर्तों को मानते हुए पेट्रोलियम पदार्थों के दाम एक बार फिर बढ़ा दिए हैं। गुरुवार मध्यरात्रि से लागू सभी पेट्रोलियम पदार्थो की कीमतों में 14 से 19 पाकिस्तानी रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। पाकिस्तान सरकार द्वारा जारी अधिसूचना में यह जानकारी दी गई है।

अब यह हुए पेट्रोल-डीजल के दाम

पड़ोसी देश में अब पेट्रोल की कीमत 14.85 रुपये बढ़कर 248.74 व हाई स्पीड डीजल की कीमत 13.23 रुपये बढ़कर 276.54 पाकिस्तानी रुपये प्रति लीटर हो गई है। केरोसिन की कीमत 18.83 रुपये बढ़कर 230 पाकिस्तानी रुपये प्रति लीटर हो गई है। वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल ने मीडिया से कहा कि चार महीने पहले पूर्ववर्ती इमरान सरकार द्वारा हस्ताक्षरित समझौते से मुकर जाने बाद अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आइएमएफ) के निलंबित पैकेज को पुनर्जीवित करने के लिए पेट्रोलियम लेवी लगानी पड़ी है।

उल्लेखनीय है कि बीते अप्रैल में सत्ता में आने के बाद से शहबाज शरीफ सरकार द्वारा पेट्रोलियम पदार्थो में यह चौथी बार बढ़ोतरी की गई है।

इससे पहले ईंधन से हटाई थी सब्सिडी

पाकिस्तानी सरकार ने इससे पहले भी आइएमएफ के दबाव में राजकोषीय घाटे को कम करने के इरादे से ईंधन सब्सिडी को खत्म कर दिया था। इस चीज का ऐलान करते हुए पाकिस्तान के वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल ने कहा था कि सरकार पेट्रोलियम उत्पादों पर अब सब्सिडी देने की स्थिति में नहीं है। इसलिए इनकी कीमतों में उछाल देखा गया।

फैसले का हो रहा विरोध 

पाकिस्‍तान सरकार द्वारा ईंधन पर सब्सिडी हटाने के चलते पड़ोसी मुल्क के लोग बेहाल हैं। वहां बेहताशा महंगाई के चलते आए दिन विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। वहीं इसी के मद्देनजर पाकिस्तान नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के एक कर्मचारी ने तो सरकार से गधा गाड़ी रखने की अनुमति मांग ली थी। कर्मचारी ने कहा कि महंगाई इतनी हो गई है कि अब वह गाड़ी चलाने लायक नहीं रहे हैं।

Edited By Mahen Khanna

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept