Russia Ukraine War: रूस ने छोड़ा रणनीतिक रूप से खास स्नेक द्वीप का कब्जा, मिल सकती है खाद्य संकट से राहत

रूस ने गुरुवार को रणनीतिक रूप से स्थापित काला सागर द्वीप से अपनी सेना वापस बुला ली जहां उन्होंने यूक्रेन के लगातार हमलों का सामना किया है लेकिन यूक्रेन के प्रतिरोध की आखिरी दीवार को पूर्वी प्रांत लुहांस्क में घेरने के लिए अपना जोर जारी रखा है।

Arun Kumar SinghPublish: Thu, 30 Jun 2022 07:10 PM (IST)Updated: Thu, 30 Jun 2022 11:23 PM (IST)
Russia Ukraine War: रूस ने छोड़ा रणनीतिक रूप से खास स्नेक द्वीप का कब्जा, मिल सकती है खाद्य संकट से राहत

कीव, एपी। रूसी नौसेना ने काला सागर में स्थित रणनीतिक रूप से बेहद महत्वपूर्ण स्नेक द्वीप का कब्जा छोड़ दिया है। हाल के दिनों में द्वीप पर यूक्रेनी सेना के लगातार हमलों के बाद वहां पर रूसी नौसेना की स्थिति कमजोर पड़ रही थी। स्नेक द्वीप हाथ से जाने के बाद काला सागर में रूसी नौसेना की स्थिति कमजोर हुई है। लेकिन लुहांस्क में रूसी सेना की स्थिति मजबूत हुई है। वह लिसिचांस्क शहर पर पूर्ण नियंत्रण के करीब पहुंच गई है।

गुरुवार को रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि स्नेक द्वीप से नौसेना को हटा लिया गया है। रूसी नौसेना ने सद्भाव प्रदर्शित करते हुए यह कदम उठाया है। जबकि यूक्रेन की सेना ने कहा कि हमारे हमलों से घबराकर द्वीप पर तैनात रूसी नौसैनिक दो स्पीड बोटों में सवार होकर वहां से भाग निकले। रूसी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट जनरल इगोर कोनाशेंकोव ने कहा, यूक्रेन से खाद्यान्न के निर्यात के संयुक्त राष्ट्र के प्रयास पर रूस कुठाराघात करना नहीं चाहता, इसीलिए उसने स्नेक द्वीप से अपनी सैनिकों को हटाया है।

इससे यूक्रेन से खाद्यान्न निर्यात के लिए सुरक्षित समुद्री रास्ता बनाने में मदद मिलेगी। इससे पहले यूक्रेन ने आरोप लगाया था कि रूसी नौसेना ने यूक्रेनी बंदरगाहों को घेर रखा है जिसके कारण खाद्यान्न का निर्यात बाधित हो रहा है। इससे दुनिया में खाद्यान्न संकट पैदा होने की आशंका पैदा हो रही है।

यूक्रेन और पश्चिम ने वैश्विक खाद्य संकट में रूस पर अनाज के निर्यात को रोकने के लिए यूक्रेनी बंदरगाहों को अवरुद्ध करने का आरोप लगाया है। रूस ने आरोपों से इनकार किया है और आरोप लगाया है कि नौपरिवहन की अनुमति देने के लिए यूक्रेन को काला सागर से समुद्री खदानों को हटाने की जरूरत है।

तुर्की ने यूक्रेन से अनाज के निर्यात को अनब्लॉक करने के लिए एक सौदा करने की मांग की है, लेकिन कीव ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि रूस ओडेसा पर हमले शुरू करने के लिए सौदे का इस्तेमाल कर सकता है। कीव ने त्वरित प्रगति के किसी भी संकेत के बिना वार्ता को खींच लिया है। इस क्षेत्र को नियंत्रित करने के लिए इसका इस्तेमाल करने और ओडेसा पर हमले के लिए इसे एक मंच के रूप में इस्तेमाल करने की उम्मीद में युद्ध के शुरुआती दिनों में रूस ने स्‍नेक द्वीप पर नियंत्रण कर लिया था, जो एक व्यस्त शिपिंग लेन पर है।

स्‍नेक द्वीप रूसी आक्रमण के लिए यूक्रेनी प्रतिरोध का प्रतीक था, जब यूक्रेनी सैनिकों को रूसी युद्धपोत से आत्मसमर्पण करने या बमबारी का सामना करने की मांग मिली। जवाब मिला कि "रूसी युद्धपोत, खुद जाओ।" द्वीप के यूक्रेनी रक्षकों को रूसियों ने पकड़ लिया था लेकिन बाद में कैदी विनिमय के हिस्से के रूप में मुक्त कर दिया गया।

Edited By Arun Kumar Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept