7.1 तीव्रता के बड़े भूकंप से हिली धरती, इंडोनेशिया पर मंडराया सुनामी का खतरा; चेतावनी जारी

इंडोनेशिया में गुरुवार को एक बड़ा भूकंप आ गया जिसकी तीव्रता 7.1 मापी गई है। इसके बाद देश में सुनामी का अलर्ट जारी कर दिया गया है।

Shashank PandeyPublish: Fri, 15 Nov 2019 08:17 AM (IST)Updated: Fri, 15 Nov 2019 10:54 AM (IST)
7.1 तीव्रता के बड़े भूकंप से हिली धरती, इंडोनेशिया पर मंडराया सुनामी का खतरा; चेतावनी जारी

कोटा तर्नते, एएनआइ। इंडोनेशिया में गुरुवार को एक बड़ा भूकंप आया।यहां भूकंप के बड़े झटके महसूस किए गए हैं। रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 7.1 मापी गई है। यह भूकंप इंडोनेशिया के कोटा टर्नाटे में आया। इस बड़े भूकंप के बाद इंडोनेशिया में सुनामी की चेतावनी जारी कर दी गई है।

इंडोनेशिया की भूभौतिकी एजेंसी के एक अधिकारी रहमत ट्रायोनो ने कोम्पस टीवी को बताया कि अधिक संभावना है कि यह (सुनामी) से नहीं टकराएगा नहीं, लेकिन हमें अभी भी सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने साथ ही कहा कि अब तक नुकसान की कोई रिपोर्ट नहीं है।

भूकंप से कोई नुकसान नहीं

संयुक्त राज्य भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (यूएसजीएस) के अनुसार भूकंप का केंद्र  45.1 किलोमीटर की गहराई पर बताया जा रहा है। भूकंप के बाद घायलों की संख्या को लेकर कोई आंकड़ा सामने नहीं आया है या संपत्ति को कोई नुकसान नहीं हुआ।

यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के अनुसार भूकंप के कारण शहर के तटीय शहर टर्नेट के 140 किलोमीटर (87 मील) उत्तर-पश्चिम में भूकंप आया। अमेरिकी सुनामी चेतावनी केंद्र ने कहा कि विनाशकारी सुनामी की उम्मीद नहीं है। इंडोनेशियाई मीटरोलॉजिकल एंड क्लाइमेटोलॉजी एजेंसी ने हालांकि एहतियात के तौर पर समुद्र तटों से दूर रहने की चेतावनी दी है।

कितने बजे आया भूकंप

यह भूकंप कोटा तर्नते में स्थानीय समयानुसार 1 बजकर 17 मिनट पर जोरदार तरीके से महसूस किया गया. जिसके बाद सोते हुए लोग अपने घरों से बाहर निकल गए। इंडोनेशिया प्रशांत महासागर के रिंग ऑफ फायर पर अपनी स्थिति के कारण लगातार भूकंपीय और ज्वालामुखी गतिविधि का अनुभव करता है, जहां टेक्टोनिक प्लेट टकराती हैं।

पहले भी आया भूकंप

पिछले साल सितंबर में सुलावेसी द्वीप पर पलाउ में 7.5 तीव्रता का भूकंप और उसके बाद आई सुनामी में 2200 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी, वहीं 1,000 से अधिक लापता घोषित किए गए। 26 दिसंबर, 2004 को 9.1 तीव्रता का भूकंप आचे प्रांत में आया, जिसके बादसुनामी आई और इंडोनेशिया में 170 से अधिक लोग मारे गए।

Edited By Shashank Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept