This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

कोरोना वायरस की दहशत के बीच जेल से रिहा की गईं बांग्‍लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया

कोरोना वायरस की दहशत के बीच बांग्‍लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री एवं मुख्‍य विपक्षी पार्टी की नेता खालिदा जिया को रिहा कर दिया गया है।

Krishna Bihari SinghWed, 25 Mar 2020 07:07 PM (IST)
कोरोना वायरस की दहशत के बीच जेल से रिहा की गईं बांग्‍लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया

ढाका, रॉयटर/पीटीआइ। कोरोना वायरस (Coronavirus) की दहशत के बीच बांग्‍लादेश (Bangladesh) की पूर्व प्रधानमंत्री एवं मुख्‍य विपक्षी पार्टी की नेता खालिदा जिया (Khaleda Zia) को आज यानी बुधवार को रिहा कर दिया गया। विपक्षी दल बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (Bangladesh Nationalist Party) ने अपने बयान में कहा है कि पार्टी प्रमुख को मानवीय आधार पर जेल से छह महीने के लिए रिहा किया गया है। 

मालूम हो कि खालिदा जिया काफी समय से बीमार चल रही हैं। 74 वर्षीय जिया को हाई ब्लड प्रेशर समेत कई रोगों के अलावा दिल की बीमारी की बात भी रिपोर्टें सामने आई हैं। बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी की प्रमुख 74 वर्षीय जिया भ्रष्टाचार के दो मामलों में 17 साल की सजा काट रही हैं। उनको आठ फरवरी 2018 को जेल भेज दिया गया था। बांग्लादेश के गृह मंत्री असद-उज-जमां ने बताया कि जिया को मानवीय आधार पर शर्तों के साथ रिहा किया गया। 

उल्‍लेखनीय है कि खालिदा जिया (Khaleda Zia) साल 1991 के बाद से तीन बार बांग्लादेश की प्रधानमंत्री रह चुकी हैं। साल 2018 के आम चुनावों में उनकी पार्टी बुरी तरह हार गई थी। जिया की पार्टी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (Bangladesh Nationalist Party) तब 300 सीटों में से केवल छह पर जीत दर्ज कर पाई थी। खराब स्‍वास्‍थ्‍य के चलते उन्‍हें पिछले साल अप्रैल में अस्पताल भी ले जाना पड़ा था। 

बांग्‍लादेश में कोरोना वायरस से अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 33 लोग इस संक्रमित हो चुके हैं। मरीजों की बढ़ती संख्‍या को देखते हुए बांग्‍लादेश ने कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। देश में सभी यात्री ट्रेनों को अगले आदेश तक रद कर दिया गया है। इससे पहले राजधानी ढाका से विभिन्‍न गंतव्‍यों को जाने वाली ट्रेनें रोकी जा चुकी हैं। बंग्‍लादेश ने 26 मार्च से चार अप्रैल तक सार्वजनिक छुट्टी घोषित कर दी है ताकि देश में कोरोना के फैलने पर रोक लगाई जा सके। 

Edited By: Krishna Bihari Singh