Year Ender 2021: आस्‍ट्रेलिया ने चीन को दिया बड़ा झटका, बेल्ट एंड रोड सहित कई द्विपक्षीय समझौते किए रद

देश की विदेश मंत्री मारिस पायने ने एक बयान में कहा था कि जिन सौदों को रद किया गया है उनमें विक्टोरिया राज्य की दो ‘बेल्ट एंड रोड’ अवसंरचना इमारत से संबंधित सौदे भी हैं। इस सौदों पर दोनों देशों के बीच वर्ष 2018 और 2019 में हस्ताक्षर हुए थे।

Ramesh MishraPublish: Sat, 25 Dec 2021 02:46 PM (IST)Updated: Sat, 25 Dec 2021 02:47 PM (IST)
Year Ender 2021: आस्‍ट्रेलिया ने चीन को दिया बड़ा झटका, बेल्ट एंड रोड सहित कई द्विपक्षीय समझौते किए रद

नई दिल्‍ली, जेएनएन। 21 अप्रैल, 2021 को आस्ट्रेलिया ने यह घोषणा की है कि, वह चीनी बेल्ट एंड रोड में शामिल होने के लिए राज्य सरकार के सौदे को रद कर देगा। इस देश ने यह भी कहा कि, यह समझौता उसकी विदेश नीति के प्रतिकूल था। आस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री मारिज पायने ने यह जानकारी साझा करते हुए कहा था कि संघीय सरकार चीनी बेल्ट एंड रोड पहल पर हस्ताक्षर करने के विक्टोरियन राज्य सरकार के फैसले को रद करेगी। आस्ट्रेलिया ने अपने नए कानून के तहत चीन, ईरान और सीरिया के साथ किए गए चार द्विपक्षीय समझौतों को रद कर दिया था। इस कानून के तहत संघीय सरकार को निचले प्रशासनिक स्तर पर किए गए उन अंतरराष्ट्रीय समझौतों को अनदेखा करने की शक्ति मिलती है, जो राष्ट्र के खिलाफ पाए जाते हैं।

1- उस वक्‍त देश की विदेश मंत्री मारिस पायने ने एक बयान में कहा था कि जिन सौदों को रद किया गया है, उनमें विक्टोरिया राज्य की दो ‘बेल्ट एंड रोड’ अवसंरचना इमारत से संबंधित सौदे भी हैं। इस सौदों पर दोनों देशों के बीच वर्ष 2018 और 2019 में हस्ताक्षर हुए थे। विक्टोरिया एजुकेशन डिपार्टमेंट समझौते पर सीरिया के साथ 1999 में और ईरान के साथ 2004 में हस्ताक्षर हुए थे, जिन्हें रद कर दिया गया। आस्‍ट्रेलिया का इस करार को तोड़ना चीन के लिए बड़ा झटका था। इस समय चीन का अलग-अलग मुद्दों पर दुनिया के कई देशों के साथ विवाद चल रहा है। भारत, अमेरिका और फिलीपींस के साथ चीन का तनाव चरम पर है।

2- विदेश मंत्री पायने ने कहा था कि मुझे लगता है कि ये चार व्यवस्था आस्ट्रेलिया की विदेश नीति के तारतम्य में नहीं हैं। यह हमारे विदेश संबंधों के प्रतिकूल हैं। चीन ने पूर्व में विक्टोरिया के साथ ‘सफल व्यवहारिक सहयोग’ को बाधित करने को लेकर चेतावनी दी थी। आस्ट्रेलिया ने वर्ष 2018 में एक राष्ट्रीय सुरक्षा कानून पारित किया था, जो घरेलू नीतियों में गुप्त विदेशी दखल को प्रतिबंधित करता है। बीजिंग ने इन कानूनों को चीन के प्रति पूर्वाग्रह पूर्ण और चीन-आस्ट्रेलिया के रिश्तों में जहर घोलने वाला करार दिया था।

3- आस्ट्रेलिया ने यह घोषणा ऐसे समय की है, जब प्रशांत क्षेत्र में प्रभाव के लिए प्रतिस्पर्धा करने वाली इन दोनों सरकारों के कारण ही इन दोनों देशों-आस्ट्रेलिया और चीन के बीच आपसी संबंध बिगड़ रहे हैं। इस कदम से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है। आस्ट्रेलिया ने कोरोना महामारी की उत्पत्ति की स्वतंत्र जांच के लिए पहले ही अपनी मांग रखी है, जो पहली बार चीनी शहर वुहान में पाया गया था।

4- आस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री ने यह घोषणा की कि वह वर्ष, 2004 में विक्टोरिया के शिक्षा विभाग और ईरान के बीच एक समझौता ज्ञापन सहित वर्ष, 1999 में सीरिया के साथ हस्ताक्षरित विभाग के बीच एक वैज्ञानिक सहयोग समझौते को भी रद कर देंगे। आस्ट्रेलिया के संविधान के तहत, संघीय सरकार मुख्य रूप से विदेशी मामलों और रक्षा के लिए जिम्मेदार है और राज्य स्वास्थ्य और शिक्षा के लिए जिम्मेदार हैं, लेकिन वास्तविक तौर पर कभी-कभी ये जिम्मेदारियां ओवरलैप होती हैं। आस्ट्रेलिया के नए विधान, जो संघीय सरकार को राज्य के अधिकारियों द्वारा हस्ताक्षरित समझौतों को रद करने की शक्ति देते हैं, केवल सार्वजनिक रूप से वित्त पोषित संस्थानों पर लागू होते हैं, वाणिज्यिक समझौतों पर नहीं।

Edited By Ramesh Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept