लाहौर के अनारकली बाजार में लगे सीसीटीवी कैमरे खराब, गुरुवार को हुए हमले का आरोपी हुआ रडार से बाहर

पाकिस्तान पुलिस गुरुवार को लाहौर के अनारकली बाजार में बम विस्फोट में शामिल आतंकवादियों का पता नहीं लगा पाई है। अनारकली बाजार में सीसीटीवी कैमरे खराब होने के कारण संदिग्घ व्यक्ति का पता नहीं चल पाया है। कैमरों की मदद से बड़े मामले को सुलझाने में मदद मिल सकती थी।

Geetika SharmaPublish: Mon, 24 Jan 2022 03:46 PM (IST)Updated: Mon, 24 Jan 2022 04:12 PM (IST)
लाहौर के अनारकली बाजार में लगे सीसीटीवी कैमरे खराब, गुरुवार को हुए हमले का आरोपी हुआ रडार से बाहर

लाहौर, एएनआइ। पाकिस्तान पुलिस गुरुवार को लाहौर के अनारकली बाजार में हुए बम विस्फोट में शामिल आतंकवादियों का पता लगाने में असफल रही है। पाकिस्तानी अखबार डान ने बताया कि अनारकली बाजार में लगे पंजाब सेफ सिटी अथारिटी (पीएससीए) के सीसीटीवी कैमरे खराब पाए गए है। एक कानून प्रवर्तन अधिकारी ने खेद व्यक्त करते हुए कहा कि हमें उम्मीद थी कि अनारकली की भीड़भाड़ वाली पान मंडी में बम लगाने वाले व्यक्ति को पीएससीए कैमरों के माध्यम से ट्रैक किया जा सकता था। इससे एक बड़े मामले को सुलझाने में मदद मिल सकती थी।

आलाकमान के लिए निराशाजनक स्थिति‍

अधिकारी ने कहा कि अनारकली इलाके बाजार में निजी तौर पर लगे कैमरों में संदिग्ध का पता चला गया था। हालांकि पीएससीए के आफलाइन सीसीटीवी कैमरों की वजह से संदिग्ध व्यक्ति रडार से बाहर हो गया। आपको बता दें कि गुरुवार को एक अज्ञात व्यक्ति ने लाहौर के अनारकली इलाके में 1 से 1.5 किलोग्राम वजन के उच्च-तीव्रता वाले विस्फोटक रखे, जिससे गुरुवार एक हमले में तीन लोगों की मौत हो गई और 26 घायल हो गए। अधिकारी ने आगे कहा कि अनारकली आतंकवाद मामले के मद्देनजर विशेष रूप से बुलाई गई हाई-प्रोफाइल बैठकों के दौरान एलईए के आलाकमान के लिए यह स्थिति काफी निराशाजनक है।

101 4जी टावर पूरी तरह से डाउन

वहीं, पीएससीए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) डीआईजी कामरान खान ने डान अखबार को बताया कि लाहौर में लंबे समय से केवल 30 फीसदी कैमरे आफलाइन हैं। डान की रिपोर्ट के अनुसार अधिकारी के पास कई कार्यों का भार है और परियोजना में उनके कार्यकाल के दौरान पिछले दो सालों से कैमरे काम नहीं कर रहे हैं। इसके साथ ही प्राधिकरण को आधिकारिक सूत्रों ने इस मुद्दे पर कुछ भी करने में असमर्थ होने के लिए फटकार लगाई है। अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि 101 4जी टावरों में से दो पूरी तरह से डाउन हो गए थे और अधिकांश टावर बैकअप की सुविधा के बिना थे।

पीएससीए को लाहौर बारिश में हुई काफी परेशानी

इसका मतलब है कि जब बिजली बंद हो जाती है तो कमजोर 4 जी सिग्नल के कारण पुलिस को 15 काल पास नहीं की जा सकती हैं। उन्होंने आगे बताया कि हालहीं में लाहौर में बारिश के दौरान पीएससीए को सबसे खराब समय का सामना करना पड़ा था। इस दौरान बैकअप के अभाव के कारण 92 4जी टावर आफलाइन हो गए थे। उन्होंने कहा कि सात कंप्यूटर सिस्टम खराब होने से पुकार-15 भी समस्याओं का सामना कर रहा है, जिससे पूरे पंजाब से आपातकालीन 15 काल प्राप्त होते हैं उन्होंने उल्लेख किया कि बाकी 33 सिस्टम में हेडफोन टूट गए हैं और कुछ में हेडफोन ही नहीं हैं।

Edited By Geetika Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept