This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

गाजा पट्टी में थमी लड़ाई लेकिन हमास बोला- दुनिया को पता होना चाहिए कि ट्रिगर पर हैं हमारे हाथ

युद्ध का मैदान बने गाजा पट्टी में 11 दिनों बाद इजरायल और आतंकी संगठन हमास के बीच लड़ाई थम गई। लेकिन हमास ने कहा है कि भले ही संघर्ष आज खत्म हो गया हो लेकिन नेतन्याहू और पूरी दुनिया को पता होना चाहिए कि हमारे हाथ ट्रिगर पर हैं...

Krishna Bihari SinghSat, 22 May 2021 12:16 AM (IST)
गाजा पट्टी में थमी लड़ाई लेकिन हमास बोला- दुनिया को पता होना चाहिए कि ट्रिगर पर हैं हमारे हाथ

यरुशलम, एजेंसियां। युद्ध का मैदान बने गाजा पट्टी में 11 दिनों बाद इजरायल और आतंकी संगठन हमास के बीच लड़ाई थम गई। अमेरिका, मिस्र और अन्य देशों के दबाव के चलते दोनों पक्ष संघर्ष विराम को सहमत हो गए। यह संघर्ष विराम शुक्रवार तड़के से प्रभावी हो गया। हालांकि हमास के तेवर नरम नहीं पड़े हैं। उसने कहा है कि भले ही संघर्ष आज खत्म हो गया हो लेकिन नेतन्याहू और पूरी दुनिया को पता होना चाहिए कि हमारे हाथ ट्रिगर पर हैं और हम अपनी क्षमताओं को बढ़ाना जारी रखेंगे।

दुनिया ने किया स्‍वागत

इस कदम का संयुक्त राष्ट्र (यूएन) प्रमुख एंतोनियो गुतेरस के अलावा रूस और अन्य देशों ने स्वागत किया है। सन 2014 के गाजा युद्ध के बाद इजरायल और हमास के बीच यह सबसे भीषण संघर्ष बताया जा रहा है। गत दस मई से छिड़े इस संघर्ष में ढाई सौ से ज्यादा लोगों की मौत हुई। संघर्ष विराम की खबर मिलने पर हमास के शासन वाले गाजा पट्टी में लोगों ने सड़कों पर उतरकर अपनी खुशी का इजहार किया।

संघर्ष विराम पर सहमत लेकिन चेताया भी

इजरायली सिक्यूरिटी कैबिनेट ने गुरुवार देर रात संघर्ष विराम पर मुहर लगाई। प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के दफ्तर ने एक बयान में कहा कि बिना किसी शर्त संघर्ष विराम को सहमति दी गई है। 11 दिन चले संघर्ष में इजरायल और हमास दोनों ने अपनी-अपनी जीत का दावा किया है। साथ ही दोनों ने यह भी कहा कि संघर्ष विराम का उल्लंघन होने पर जवाबी कार्रवाई को तैयार हैं।

हमास के बयान से आशंकाओं के बादल

हमास के सियासी ब्यूरो के वरिष्ठ सदस्य इज्जत अल-रेशीक ने कहा, 'यह सच है कि संघर्ष आज खत्म हो गया, लेकिन नेतन्याहू और पूरी दुनिया को पता होना चाहिए कि हमारे हाथ ट्रिगर पर हैं और हम अपनी क्षमताओं को बढ़ाना जारी रखेंगे।' जाहिर है हमास के इस बयान से युद्ध के भड़कने की आशंकाएं भी समय के साथ बनी रहेंगी...

इजरायल और फलस्तीन समर्थकों में झड़पें

अमेरिका के न्यूयार्क शहर में इजरायल और फलस्तीन समर्थकों के बीच हिंसक झड़प देखने को मिली। यह घटना शहर के टाइम्स स्क्वायर इलाके में गुरुवार को संघर्ष विराम का एलान होने के कुछ घंटे बाद हुई। इसमें एक व्यक्ति के घायल होने की खबर है। पुलिस घटना की जांच कर रही है।

11 दिनों में जानमाल को इतनी क्षति

  • इजरायल ने गाजा में हमास के ठिकानों पर सैकड़ों हवाई हमले किए
  • हमले में हमास के पनाहगाह टनल नेटवर्क को निशाना बनाया गया
  • 243 फलस्तीनियों की मौत हो गई और 1,900 से अधिक घायल हुए
  • कई बड़ी इमारतें ध्वस्त हो गई और सैकड़ों घरों को काफी नुकसान पहुंचा
  • हमास के हमले में इजरायल में 12 लोगों की मौत और सैकड़ों जख्मी हुए
  • हमास ने मध्य व दक्षिणी इजरायल में चार हजार से ज्यादा राकेट दागे

मिस्र ने निभाई मध्यस्थता

इजरायल और हमास में संघर्ष विराम कराने में मिस्र ने मध्यस्थ की भूमिका निभाई। मिस्र ने कहा कि वह संघर्ष विराम पर नजर रखने के लिए इजरायल और गाजा में एक-एक प्रतिनिधिमंडल भेजेगा। मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सिसी ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन का आभार व्यक्त किया कि उनकी अहम भूमिका से मिस्र की मध्यस्थता से इजरायल और हमास के बीच संघर्ष विराम कराने में सफलता मिली।

बाइडन ने की संघर्ष विराम की सराहना

अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने भी संघर्ष विराम की सराहना करते हुए कहा, 'फलस्तीन और इजरायली नागरिक समान रूप से सुरक्षित माहौल में जीने के हकदार हैं।' बाइडन ने पत्रकारों को बताया, 'मैंने मिस्र के राष्ट्रपति और इजरायल के प्रधानमंत्री से फोन पर बात की। मैंने संघर्ष रोकने का फैसला लेने के लिए नेतन्याहू की तारीफ की।'

Edited By: Krishna Bihari Singh