This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

चीन ने ड्रग तस्करी के आरोप में ऑस्ट्रेलियाई व्यक्ति को दी मौत की सजा

सुनवाई वेबसाइट पर थी लेकिन आरोपों के बारे में कोई विवरण नहीं दिया गया है।

Nitin AroraSat, 13 Jun 2020 02:26 PM (IST)
चीन ने ड्रग तस्करी के आरोप में ऑस्ट्रेलियाई व्यक्ति को दी मौत की सजा

बीजिंग, एपी। एक ऑस्ट्रेलियाई व्यक्ति को नशीले पदार्थों की तस्करी के लिए दक्षिणी चीन में मौत की सजा सुनाई गई है। कैम गिलेस्पी नामक शख्स को बुधवार को सजा सुनाई गई, गुआंगज़ौ इंटरमीडिएट पीपुल्स कोर्ट ने अपनी वेबसाइट पर मामले की सभी जानकारी दी, जिसमें मौत की सजा का भी विवरण है। इसके अलावा बयान में कहा गया है कि उनकी सभी निजी संपत्ति जब्त कर ली जाएगी। हालांकि, इसमें आरोपों के बारे में कोई विवरण नहीं दिया गया।

CNN ने रिपोर्ट करते हुए बताया, ऑस्ट्रेलिया के विदेश विभाग और व्यापार विभाग ने कहा कि इस फैसले से गहरा दुःख हुआ और शख्स को कांसुलर सहायता प्रदान कर रहे हैं। विभाग ने एक बयान में कहा, 'ऑस्ट्रेलिया सभी लोगों के लिए सभी परिस्थितियों में मौत की सजा का विरोध करता है। हम मौत की सजा के सार्वभौमिक उन्मूलन का समर्थन करते हैं और हमारे लिए उपलब्ध सभी मार्गों के माध्यम से इस सजा को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।' बता दें कि इस कदम से चीन और ऑस्ट्रेलिया के बीच तनाव और भी बढ़ सकता है। प्रधान मंत्री स्कॉट मॉरिसन द्वारा सार्वजनिक रूप से नोवल कोरोना वायरस महामारी की औपचारिक जांच की मांग के बाद संबंधों में खटास आ गई है। इससे बीजिंग में अधिकारियों द्वारा भी ऑस्ट्रेलिया को लेकर नजरिया बदल गया और संबंध खराब होने लग गए।

COVID-19 महामारी के मद्देनजर एशियाइयों को लक्षित करने वाली नस्लीय घटनाओं के कारण, ऑस्ट्रेलिया को चुनने से पहले दो बार सोचने के लिए चीन ने छात्रों से मंगलवार को आग्रह किया था। चीनी संस्कृति और पर्यटन मंत्रालय के बाद अब शिक्षा मंत्रालय ने नस्लीय भेदभाव और हिंसा की चेतावनी जारी की है। ऑस्ट्रेलिया में ऐसे ज्यादा मामले सामने आए हैं, जिस कारण वहां जाने को लेकर दो बार सोचने की हिदायत दी गई है। ज्ञात हो, 2019 के अंत में चीन से सबसे पहले कोरोना वायरस का मामला सामने आया था।

ऑस्ट्रेलिया और चीन के बीच संबंध कोरोना महामारी के मद्देनजर तनावपूर्ण हो गए हैं क्योंकि ऑस्ट्रेलियाई ने अंतर्राष्ट्रीय जांच का प्रस्ताव दिया है कि कैसे चीन में COVID-19 का प्रकोप वैश्विक महामारी बन गया। वहीं, चीन ने ऑस्ट्रेलियाई से जौ के आयात पर शुल्क लगाया है और कई ऑस्ट्रेलियाई स्रोतों से गोमांस के आयात को अवरुद्ध किया है, हालांकि बीजिंग ने अपने कार्यों को COVID-19 विवाद से जोड़कर नहीं बताया।

ऑस्ट्रेलिया ने हांगकांग के लिए चीन के प्रस्तावित राष्ट्रीय सुरक्षा कानूनों पर भी बात की है, जो आलोचकों का कहना है कि पूर्व ब्रिटिश उपनिवेश में स्वतंत्रता को कमजोर करता है। चीनी शिक्षा मंत्रालय की चेतावनी पर ऑस्ट्रेलियाई डॉलर मंगलवार को और लुढ़क कर 1% गिरकर 0.6951 डॉलर पर आ गया।

Edited By: Nitin Arora