This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

कोरोना वायरस का खौफ, अब चीन बैंक के नोटों को कर रहा कीटाणुरहित

चीन ने बैंकनोटों के माध्यम से फैलने वाले कोरोनावायरस पर रोक के लिए इस्तेमाल किए गए नोटों को भी वायरसरहित करने का काम शुरू कर दिया है।

Vinay TiwariMon, 17 Feb 2020 12:22 PM (IST)
कोरोना वायरस का खौफ, अब चीन बैंक के नोटों को कर रहा कीटाणुरहित

बीजिंग। कोरोनावायरस ने चीन को बुरी तरह से प्रभावित किया है। अर्थव्यवस्था को भी बुरी तरह से प्रभावित किया है। स्कूल, कॉलेज, मॉल्स सब बंद पड़े हैं। लोग अपने घरों में कैद हैं। पालतू जानवरों को मल्टीस्टोरी बिल्डिंग्स में रहने वाले वहीं से फेंक दे रहे हैं।

वुहान और हुबेई प्रांत अब तक इससे सबसे अधिक प्रभावित थे। प्रशासन ने हर तरह से कोरोनावायरस को रोकने की दिशा में कदम भी उठाए हैं मगर उसके बाद भी अब तक इस पर पूरी तरह से रोक नहीं लग पाया है। चीन से निकलकर कोरोना अब दुनिया के कई और देशों में फैल चुका है।

कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए अब चीन ने एक नया काम शुरू किया है। इसके तहत जो बैंकनोट इस्तेमाल किए जा चुके हैं और बैंक पहुंच गए हैं उनको बैंक में ही रखकर कीटाणु रहित किया जा रहा है, उसके बाद उसे चलन में डाला जा रहा है। डेलीमेल की रिपोर्ट के अनुसार बैंक चीन में चलने वाली मुद्रा युआन को कीटाणुरहित करने के लिए पराबैंगनी प्रकाश और उच्च रक्तचाप का उपयोग कर रहे हैं, फिर वो उसे 14 दिनों के लिए नकदी को सील करके अलग रखते हैं, उसके बाद उसे चलन में वापस डाल रहे हैं। इस पूरी प्रक्रिया का एक वीडियो भी जारी किया गया है। 

 

मालूम हो कि जनवरी माह के अंत में वुहान में कोरोना वायरस के मरीज पाए जाने शुरू हुए थे, उसके बाद वहां की मार्केट पर तालाबंदी की घोषणा कर दी गई। जिमनेजियम और स्टेडियम अस्पताल में तब्दील कर दिए गए। आलम ये हो गया कि चीन में चेहरे को ढकने के लिए मास्क तक कम पड़ गए।

दुकानदार मास्क को ब्लैक करने लगे। चीनी सरकार ने मास्क आदि बनाने वाली कंपनियों से उत्पादन डबल करके मास्क मुहैया कराने के लिए कहा। इस दौरान इन शहरों में रहने वाले लोग तमाम तरह की चीजों का इस्तेमाल करके उसे मास्क बना रहे थे, वो उसका इस्तेमाल कर रहे थे। सरकार ने कदम उठाते हुए तमाम इमारतों में टिशू पेपर मशीनें स्थापित की जिससे लोग उसका इस्तेमाल कर पाएं। 

इसी तरह से पब्लिक ट्रांसपोर्ट कंपनियों को अपनी कारों को रोजाना साफ-सफाई और कीटाणु रहित करने के बाद ही सड़क पर चलाने के लिए कहा गया जिससे इसको फैलने से रोका जा सके। चीन के केंद्रीय बैंक के डिप्टी गवर्नर फैन युफेई ने कहा कि बैंकों से कहा कि जब भी संभव हो वो ग्राहकों को नए बैंकनोट उपलब्ध कराएं जिससे वायरस के फैलाव को रोका जा सके।

चीन में केंद्रीय बैंक ने हुबेई प्रांत में चार अरब नए युआन नोट जारी करवाए हैं, इन नोटों को आपातकालीन जारी' किया गया है। उन्होंने कहा कि ये नए नोट कोरोनावायरस के कीटाणु को फैलने से रोकने के लिए जारी किया गया है। उनका कहना है कि नए नोट कोरोनावायरस को फैलने से रोकने में कितने कामयाब होंगे फिलहाल नहीं कहा जा सकता है मगर कुछ न कुछ मदद जरूर मिलेगी।

सरकार की ओर से भी इस बारे में अपील की गई है कि वो नगद करंसी का कम से कम इस्तेमाल करें, हो सकता है कि वो नगदी के इस्तेमाल से कोरोनावायरस की चपेट में आ जाएं। यदि आनलाइन का इस्तेमाल करेंगे तो इससे बचाव होगा। एक नोट किन-किन हाथों से होते हुए आपके पास पहुंचता है इसके बारे में किसी को पता नहीं होता है इस वजह से सावधानी जरूरी है। फिलहाल बैंक अपने स्तर से नोटों से कीटाणु को हटाने के लिए काम कर रहा है।