This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

अमेरिकी अस्पतालों में बिगड़े हालात, रूस में भी कम नहीं हो रहा संक्रमण; जानें चीन समेत अन्य देशों का हाल

कोरोना महामारी के चंगुल से निकलने में अब तक कोई देश पूरी तरह सफल नहीं हो सका है। महामारी की शुरुआत से लेकर अब तक दुनिया भर के देशों में सबसे खराब हाल अमेरिका का है। फ्रांस इटली और रूस में भी मामले कम नहीं हुए हैं।

Monika MinalSat, 15 Jan 2022 06:46 AM (IST)
अमेरिकी अस्पतालों में बिगड़े हालात, रूस में भी कम नहीं हो रहा संक्रमण; जानें चीन समेत अन्य देशों का हाल

वाशिंगटन, एएनआइ। कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट के चलते आई महामारी कोविड-19 की लहर से अमेरिका में स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है। बुधवार को अमेरिकी अस्पतालों में भर्ती मरीजों की संख्या 1,51,261 तक पहुंच गई जो महामारी के शुरू होने के बाद से अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। बढ़ते मरीजों के चलते अस्पताल में उनकी देखभाल करने वाले कर्मचारियों की संख्या कम पड़ती जा रही है।

अमेरिका स्वास्थ्य एवं मानव सेवा विभाग के आंकड़ों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि 19 प्रांतों में 15 प्रतिशत से कम आइसीयू बेड खाली हैं। इनमें से भी चार राज्यों-केंचुकी, अल्बामा, इंडियाना और न्यू हैम्पशायर के अस्पतालों में खाली आइसीयू बेड की संख्या 10 प्रतिशत से भी कम रह गई है।

ओमिक्रोन के चलते नए मामलों की सुनामी आई है। अस्पताल में काम करने वालों के संक्रमित होने का खतरा सबसे ज्यादा बढ़ गया है। स्टाफ की कमी को दूर करने के लिए वाशिंगटन के मेयर ने गुरुवार को कहा कि वह चाहते हैं कि अस्पताल सामान्य आपरेशन को फिलहाल रोक दें।

रूस में भी कम नहीं हो रहे केस

रूस भी कोरोना की नई लहर की चपेट में है। नए मामले कम नहीं हो रहे। पिछले 24 घंटे में 23,820 नए मामले मिले हैं और 739 मौतें हुई हैं। कुल संक्रमितों का आंकड़ा एक करोड़ सात लाख को पार कर गया है। अब तक 3.19 लाख लोगों की जान भी जा चुकी है। रूस की उप प्रधानमंत्री तातियाना गोलिकोवा ने कहा कि ओमिक्रोन के भी अब तक 783 मामले मिल चुके हैं जिनमें से आधे से अधिक मास्को में पाए गए हैं।

विंटर ओलंपिक से पहले चीन में बढ़े मामले, पाबंदियां और सख्त

चीन में बीजिंग विंटर ओलंपिक शुरू होने में दो हफ्ते ही बचे हैं और कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए चीन पाबंदियों को और सख्त कर रहा है। अंतरराष्ट्रीय स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की जांच भी अगले हफ्ते से शुरू की जा रही है। किसी तीसरे देश के रास्ते लोगों के आने पर रोक लगा दी गई है। चीन ने अपने लोगों को जरूरी होने पर ही यात्रा करने की अनुमति दी है और वैसे लोगों की वापसी की भी कोई गारंटी नहीं है जो किसी संक्रमण वाले शहर या क्षेत्र की यात्रा किए हों। बीजिंग से सटे तियाजिन शहर में चौथे दौर की जांच शनिवार से शुरू हो रही है। यहां कोरोना के 34 नए मामले मिले हैं।

ओमिक्रोन से बच्चों में अस्पताल में भर्ती होने के मामले अधिक

ब्रिटेन में किए गए अध्ययन में सामने आया है कि युवाओं और बच्चों में ओमिक्रोन संक्रमण के चलते अस्पताल में भर्ती होने के मामले अधिक मिल रहे हैं, लेकिन ज्यादातर में हल्के संक्रमण है। ओमिक्रोन बहुत तेजी से फैल रहा है और इसी की वजह से मामले बढ़ रहे हैं। चूंकि टीकाकरण ज्यादा हुआ है इसलिए संक्रमण गंभीर नहीं हो रहा है और लोगों को अस्पताल में भर्ती कराने की नौबत कम आ रही है। हालांकि, ओमिक्रोन के चलते एक साल से कम उम्र के 42 प्रतिशत बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत पड़ रही है दूसरी लहर में यह संख्या 30 प्रतिशत के करीब थी।

इटली में 1.86 लाख नए केस मिले

इटली में कोरोना संक्रमण के 1,86,253 नए मामले मिले हैं और 360 लोगों की मौत हुई है। एक दिन पहले 1,84,615 मिले थे और 316 मौतें हुई थीं।

फ्रांस में मामले बढ़ने के बावजूद आइसीयू में मरीज घटे

फ्रांस में रिकार्ड संख्या में नए मामले सामने आने के बावजूद आइसीयू में लगातार दूसरे दिन मरीजों की संख्या घटी। शुक्रवार को आइसीयू में 3,895 मरीज थे जो एक दिन पहले के मुकाबले 44 कम थे। इससे एक दिन पहले भी आइसीयू में मरीजों की संख्या घटी थी जबकि पिछले हफ्ते औसत दैनिक नए मामलों की संख्या 2.94 लाख थी।

Edited By: Monika Minal