स्मार्ट फोन आधारित जांच से 20 मिनट में मिल सकती है कोविड की सटीक जानकारी

शोधकर्ताओं ने बताया कि द हार्मोनी में पीसीआर की तरह की प्रणाली का इस्तेमाल किया गया है जो छोटे और किफायती डिटेक्टर की मदद से स्वैब के नमूनों में मौजूद सार्स सीओवी-2 आरएनए जीनोम का पता लगाती है।

Dhyanendra Singh ChauhanPublish: Tue, 25 Jan 2022 03:43 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 03:43 PM (IST)
स्मार्ट फोन आधारित जांच से 20 मिनट में मिल सकती है कोविड की सटीक जानकारी

वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिकी शोधकर्ताओं ने कोविड-19 की जांच के लिए स्मार्ट फोन आधारित एक ऐसा किफायती टूल विकसित किया है, जिसमें एंटीजन टेस्ट की रफ्तार और पीसीआर टेस्ट की शुद्धता सम्मिलित है। यूनिवर्सिटी आफ वाशिंगटन के शोधकर्ताओं द्वारा विकसित 'द हार्मोनी' नामक यह टेस्ट किट सार्स सीओवी-2 वायरस की आनुवंशिक सामग्री का पता लगाती है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि पारंपरिक पीसीआर टेस्ट में कई घंटे लगते हैं, वहीं 'द हार्मोनी' किट 20 मिनट से भी कम समय में उसी शुद्धता के साथ परिणाम दे देती है।

यूनिवर्सिटी आफ वाशिंगटन में एसोसिएट प्रोफेसर बैरी लुट्ज ने कहा, 'हमने इस किट को इस तरह से डिजाइन किया है कि किफायती होने के साथ-साथ इसका कहीं भी इस्तेमाल किया जा सकता है।'

साइंस एडवांसेज नामक पत्रिका में प्रकाशित इस अध्ययन के वरिष्ठ लेखक लुट्ज के अनुसार, 'हमें उम्मीद है कि यह किफायती किट स्थानीय के साथ-साथ दुनियभार में जांच की रफ्तार को तेज करेगी।'

शोधकर्ताओं ने बताया कि 'द हार्मोनी' में पीसीआर की तरह की प्रणाली का इस्तेमाल किया गया है, जो छोटे और किफायती डिटेक्टर की मदद से स्वैब के नमूनों में मौजूद सार्स सीओवी-2 आरएनए जीनोम का पता लगाती है। स्मार्ट फोन के जरिये डिटेक्टर को नियंत्रित किया जाता है और उसके परिणाम को पढ़ा जा सकता है।

यह भी पढ़ें : Padma Awards 2022: सीडीएस बिपिन रावत और कल्याण सिंह को मरणोपरांत पद्म विभूषण, सुंदर पिचाई व सत्या नडेला को पद्म भूषण सम्मान

Edited By Dhyanendra Singh Chauhan

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept