पेट सही रहेगा तो एथलीटों का प्रदर्शन होगा बेहतर, शोधकर्ताओं के मुताबिक- आंतों में माइक्रोबियल अस्थिरता एथलीटों के प्रदर्शन में पैदा कर सकते है बाधा

डा.जस्टिन ने कहा एथलीटों को दी गई डाइट काफी संतुलित थी। इसलिए हमें लगता है कि यह संभावना नहीं है कि प्रोटीन इनके प्रदर्शन में गिरावट का कारण बना। इसके बजाय हमें लगता है कि यह संभव है कि आंत माइक्रोबायम में परिवर्तन आंतों की पारगम्यता को प्रभावित करता।

Shashank_MishraPublish: Sat, 06 Aug 2022 02:24 AM (IST)Updated: Sat, 06 Aug 2022 02:24 AM (IST)
पेट सही रहेगा तो एथलीटों का प्रदर्शन होगा बेहतर, शोधकर्ताओं के मुताबिक- आंतों में माइक्रोबियल अस्थिरता एथलीटों के प्रदर्शन में पैदा कर सकते है बाधा

वाशिंगटन, एजेंसियां। हाल में किए गए एक शोध में पता चला है कि एथलीटों के अच्छे प्रदर्शन का संबंध उनके स्वस्थ पेट से जुड़ा होता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, आंतों में माइक्रोबियल अस्थिरता एथलीटों के प्रदर्शन में बाधा उत्पन्न कर सकती है। इसके अलावा, अल्पकालिक उच्च प्रोटीन आहार भी एथलीटों के प्रदर्शन को प्रभावित कर सकते हैैं। यूके के शोधकर्ताओं ने उच्च प्रोटीन और उच्च कार्बोहाइड्रेट आहार दोनों के प्रभाव का पता लगाने के लिए, अच्छी तरह से मेल खाने वाले, उच्च प्रशिक्षित धावकों के एक समूह के प्रदर्शन और आंत स्वास्थ्य का विश्लेषण किया। अध्ययन में पाया गया कि उच्च-प्रोटीन का सेवन करने वालों में, इसके परिणामस्वरूप आंत माइक्रोबायोम की स्थिरता में गड़बड़ी हुई।

यह समय परीक्षण प्रदर्शन में 23.3 प्रतिशत की कमी के साथ भी था।

विश्लेषण में काफी कम विविधता और आंत फागोसोम की परिवर्तित संरचना, साथ ही साथ कुछ प्रकार के वायरल और बैक्टीरिया के डिब्बों के उच्च स्तर पाए गए। जिन प्रतिभागियों की आंत माइक्रोबायोम अधिक स्थिर थी, उन्होंने समय परीक्षणों के दौरान बेहतर प्रदर्शन किया।

एथलेटिक प्रदर्शन आंत माइक्रोबियल की स्थिरता पर निर्भर

शोधकर्ताओं ने कहा कि आंत असंतुलन अलग-अलग लोगों को अलग-अलग तरीकों से प्रभावित करता है, और लोगों के पेट में ऐंठन या मतली जैसे तीव्र लक्षण पैदा हो सकते हैं। वहीं, उच्च कार्बोहाइड्रेट आहार का पालन करने वालों के परिणामस्वरूप 6.5 प्रतिशत का समय परीक्षण प्रदर्शन बेहतर हुआ। एंग्लिया रस्किन यूनिवर्सिटी (एआरयू) में स्वास्थ्य और व्यायाम पोषण में एसोसिएट प्रोफेसर और अध्ययन के सह-लेखक डा. जस्टिन राबट्रस ने कहा, इन परिणामों से पता चलता है कि एथलेटिक प्रदर्शन को आंत माइक्रोबियल स्थिरता से जोड़ा जा सकता है। जिन एथलीटों की आंत माइक्रोबियल स्थिर थी, उनका प्रदर्शन काफी बेहतर रहा, उन एथलीटों के मुकाबले जिनका माइक्रोबियल स्थिर नहीं था।

हालांकि हम निश्चित नहीं हो सकते हैं कि शरीर में प्रोटीन की उच्च मात्रा पूरी तरह से समय-परीक्षण के प्रदर्शन में महत्वपूर्ण गिरावट के लिए जिम्मेदार थी। लेकिन यह पाया गया कि अल्पकालिक उच्च प्रोटीन आहार के बाद आंत माइक्रोबायोम में कुछ बदलाव हुए थे।

शोधकर्ताओं ने कहा, इन परिणामों से पता चलता है कि एक उच्च प्रोटीन आहार का सेवन एक परिवर्तित माइक्रोबियल पैटर्न के माध्यम से आंत को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है, जबकि एक उच्च कार्बोहाइड्रेट का सेवन, उदाहरण के लिए विभिन्न प्रकार के अनाज और सब्जियां, अधिक आंत माइक्रोबियल स्थिरता से जुड़ा था।

डा.जस्टिन ने कहा, एथलीटों को दी गई डाइट काफी संतुलित और नियंत्रित थी। इसलिए हमें लगता है कि यह संभावना नहीं है कि प्रोटीन इनके प्रदर्शन में गिरावट का कारण बना। इसके बजाय, हमें लगता है कि यह संभव है कि आंत माइक्रोबायम में परिवर्तन आंतों की पारगम्यता या पोषक तत्व अवशोषण को प्रभावित कर सकता है। इसके अलावा, आंत और मस्तिष्क के बीच संदेश, कथित प्रयास और प्रदर्शन को प्रभावित करते हैं।

Edited By Shashank_Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept