This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

West Bengal Assembly Election 2021: विधानसभा चुनाव से पहले ओवैसी की पार्टी के बंगाल अध्यक्ष ने छेड़ा अलग राग

West Bengal Assembly Election 2021 एआइएमआइएम के बंगाल अध्यक्ष ने कहा तृणमूल कांग्रेस को मजूबत करने और भाजपा को हराने के लिए करेंगे काम। अब्बास ओवैसी का साथ छोड़ कांग्रेस और वाममोर्चा का दामन थाम चुके हैं। बंगाल में तृणमूल भाजपा दोनों को हराने के लिए अपने उम्मीदवार खड़े करेंगे।

Priti JhaThu, 04 Mar 2021 09:44 AM (IST)
West Bengal Assembly Election 2021: विधानसभा चुनाव से पहले ओवैसी की पार्टी के बंगाल अध्यक्ष ने छेड़ा अलग राग

कोलकाता, राज्य ब्यूरो।बिहार विधानसभा चुनाव के बाद ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी बंगाल में भी चुनाव लड़ने के लिए ताल ठोंक रहे हैं। लेकिन बंगाल में ओवैसी की पार्टी चुनाव लड़ने से पहले ही लड़खड़ा रही है। ओवैसी के बंगाल में एंट्री के बाद से पार्टी से अलग-अलग बयान लगातार आ रहे हैं। बंगाल पहुंचने के बाद ओवैसी ने सबसे पहले फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी से मुलाकात की थी। लेकिन अब्बास ओवैसी का साथ छोड़ कांग्रेस और वाममोर्चा का दामन थाम चुके हैं। ओवैसी ने दावा किया था कि वह बंगाल में तृणमूल और भाजपा दोनों को हराने के लिए अपने उम्मीदवार खड़े करेंगे। इसके लिए उन्होंने बंगाल के पदाधिकारियों से सलाह-मशविरा किए बगैर अपनी पार्टी की बागडोर फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी के हाथों में सौंप दी।

लेकिन अब खुद उनकी ही पार्टी के बंगाल इकाई के अध्यक्ष जमीरुल हसन कह रहे हैं कि एआइएमआइएम चुनाव में तृणमूल को नुकसान नहीं पहुंचाएंगे। ओवैसी को किसी ने भ्रमित किया है। उन्होंने साफ कहा कि वह किसी भी कीमत पर भाजपा को फायदा होने नहीं देंगे। जमीरुल हसन का कहना है कि तृणमूल कांग्रेस जहां भी कमजोर है, वहां उनकी पार्टी अपने उम्मीदवार उतारकर या तृणमूल की हर प्रकार से मदद करके भाजपा को सत्ता से दूर रखने में मदद करेगी। राज्य की सत्ता पर तृणमूल ही तीसरी बार काबिज हो, इस रणनीति के तहत एआइएमआइएम काम कर रही है।

जमीरुल हसन कह रहे हैं कि तृणमूल कांग्रेस जहां भी मजबूत स्थिति में है, वहां भी एआइएमआइएम उसकी जीत के अंतर को बढ़ाने में मदद करेगी। दीदी हमें जितना भी झटकें, हम उनसे चिपककर रहेंगे। वाम, कांग्रेस और फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्दीकी की पार्टी इंडियन सेकुलर फ्रंट गठबंधन तृणमूल का वोट काटकर भाजपा की जीत सुनिश्चित करेगी। हसन ने कहा कि एआइएमआइएम ने उन सीटों की पूरी सूची तैयार कर ली है, जहां तृणमूल कांग्रेस कमजोर है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी इस मुद्दे पर समीक्षा के बाद 25 से 30 सीटों पर अपना उम्मीदवार उतारेंगे। 

कोलकाता में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!