West Bengal: उत्तर प्रदेश के साइकिल गैंग का पर्दाफाश, तीन महिला समेत 14 गिरफ्तार

पिछले एक माह से विभिन्न जगहों पर लगातार चोरी की घटनाएं हो रही थीं। 25 जनवरी को पुलिस ने इस सिलसिले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। वे लोग उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं और यह गिरोह घर एवं दुकानों का ताला काट कर चोरी किया करता है।

Priti JhaPublish: Fri, 28 Jan 2022 09:13 AM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 09:18 AM (IST)
West Bengal: उत्तर प्रदेश के साइकिल गैंग का पर्दाफाश, तीन महिला समेत 14 गिरफ्तार

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। हुगली ग्रामीण पुलिस ने चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाले उत्तर प्रदेश के एक साइकिल गैंग का पर्दाफाश किया है। आरामबाग व आसपास के इलाकों में रात के अंधेरे में चोरी करने वाले इस गिरोह के कुल 14 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनमें तीन महिलाएं भी शामिल हैं। पुलिस ने उनके पास से चार पाइप गन, 36 कारतूस, 500 ग्राम सोने के गहने, डेढ़ किलोग्राम चांदी, 60 हजार रुपये नगद, कुछ मोबाइल फोन एवं सिम कार्ड बरामद किए हैं।

गौरतलब है कि पिछले एक माह से आरामबाग एवं गोघाट थाना क्षेत्र के विभिन्न जगहों पर लगातार चोरी की घटनाएं हो रही थीं। 25 जनवरी को पुलिस ने इस सिलसिले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। उनसे पूछताछ में पता चला कि वे लोग उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं और यह गिरोह रात के अंधेरे में गैस कटर से घर एवं दुकानों का ताला काट कर चोरी किया करता है। गिरोह के सदस्य इलाके में घर भाड़े पर लेकर रह रहे थे। तीन महिलाओं की मदद से इस गिरोह के सदस्य दिनभर साइकिल से इलाके के घरों एवं दुकानों में नजरदारी चलाया करते थे और रात के अंधेरे में घटना को अंजाम देते थे। पिछले दिनों इस गिरोह ने आरामबाग में एक आभूषण की दुकान का ताला तोड़कर चोरी की थी। इसी घटना के बाद पुलिस ने यहां के श्रीनिकेतन पल्ली से पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। हुगली ग्रामीण पुलिस के अधीक्षक अमनदीप का कहना है कि इस गिरोह को चोरी करने में किसी स्थानीय व्यक्ति ने मदद थी या नहीं, इसकी भी तहकीकात की जा रही है। 

19 साल की उम्र में ही मौत को गले लगा लिया 

उम्र के 19वें वर्ष में कदम रखने के एक सप्ताह बाद ही मेधावी दुनिया से क्विट कर गया। कमरे में लगे बोर्ड पर मां के लिए बस 'मां आई क्विट' का पैगाम छोड़ गया। आश्चर्यजनक यह घटना शहर के प्रधान नगर थाना अंतर्गत ज्योति नगर इलाके में घटी है। पुलिस ने मृतक की पहचान सोमनाथ साहा के रूप में की है। पोस्टमार्टम के बाद छात्र के शव को परिवार वालों को सौंप दिया गया है। कोरोना संक्रमण की वजह से दूसरे शिक्षार्थियों की तरह सोमनाथ भी घर में रह कर ही अपनी शिक्षा को जारी रखे हुए था। सब कुछ ठीक ही चल रहा था, अचानक रात कमरे से उसका लटकता हुआ शव बरामद हुआ। इस घटना से इलाके में मातम पसर गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक एक मेधावी छात्र था। 93 प्रतिशत अंक के साथ उसने माध्यमिक की परीक्षा उत्तीर्ण की थी। पदार्थ विज्ञान लेकर पढ़ने को इच्छुक था। भविष्य में एस्ट्रोनॉट्स बनने की इच्छा थी। लेकिन ऐसा क्या हुआ कि बोर्ड पर एक सवाल हल करते-करते ही उसके सामने क्विट करने की नौबत आन पड़ी? हालाकि इस सवाल का जवाब फिलहाल किसी के पास नहीं है। 

Edited By Priti Jha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept