बीएसएफ ने साइकिल के फ्रेम में छिपा कर रखे बांग्लादेशी मुद्रा किए जब्त, एक तस्कर भी गिरफ्तार

जवानों ने उत्तर 24 परगना जिले में भारत-बांग्लादेश सीमा के पास तस्करी को नाकाम करते हुए साइकिल की सीट के नीचे फ्रेम में छिपा कर रखे 70000 बांग्लादेशी मुद्रा जब्त करने के साथ एक तस्कर को गिरफ्तार किया है।

Priti JhaPublish: Sun, 11 Apr 2021 10:20 AM (IST)Updated: Sun, 11 Apr 2021 10:20 AM (IST)
बीएसएफ ने साइकिल के फ्रेम में छिपा कर रखे बांग्लादेशी मुद्रा किए जब्त, एक तस्कर भी गिरफ्तार

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के तहत सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के सतर्क जवानों ने उत्तर 24 परगना जिले में भारत-बांग्लादेश सीमा के पास तस्करी को नाकाम करते हुए साइकिल की सीट के नीचे फ्रेम में छिपा कर रखे 70,000 बांग्लादेशी मुद्रा जब्त करने के साथ एक तस्कर को गिरफ्तार किया है। दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के प्रवक्ता व डीआइजी सुरजीत सिंह गुलेरिया ने बताया कि जवानों की आंखों में धूल झोंकने के लिए तस्करों ने साइकिल की सीट के नीचे मुद्रा को छिपा कर रखा था और इसको सीमा पार कराने की योजना थी लेकर सतर्क जवानों ने इसे विफल कर दिया।

जब्त बांग्लादेशी टका (मुद्रा) की भारतीय बाजार में कीमत 62,836 रुपये है। बांग्लादेशी मुद्रा को सीमा चौकी आरशिकारी,112वीं बटालियन, उत्तर 24 परगना जिले के क्षेत्र से तस्करी के माध्यम से बांग्लादेश ले जाया जा रहा था। बीएसएफ अधिकारी ने बताया कि नौ अप्रैल को सीमा चौकी आरशिकारी, 112वीं वाहिनी, सेक्टर कोलकाता के जवान अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास रूटीन ड्यूटी पर थे। रात लगभग 8:15 बजे जवानों ने देखा कि एक साइकिल सवार जो भिटारी की तरफ से आ रहा था, जब उसे रोककर तलाशी ली गई तो साइकिल की सीट के नीचे फ्रेम के अंदर से 70,000 बांग्लादेशी मुद्रा बरामद की गई। तस्कर को तुरंत ही गिरफ्तार कर सीमा चौकी में लाया गया। पकड़े गए तस्कर की पहचान उत्तम शाह, ग्राम- आरशिकारी, पोस्ट -भिटारी,थाना- स्वरूपनगर जिला- उत्तर 24 परगना, पश्चिम बंगाल के रुप मे हुई है। पूछताछ में पकड़े गए तस्कर ने बताया कि वह भारतीय नागरिक है तथा पिछले कुछ दिनों से बांग्लादेशी मुद्रा की तस्करी में शामिल है।

सुबह उसे ये बांग्लादेशी मुद्रा नासिर मोल्ला, पिता- आमिर मोल्ला द्वारा मिलीं थी जो की ग्राम- दत्तपारा, थाना – स्वरूपनगर, जिला- उत्तर 24 परगना का निवासी है। उसने आगे बताया कि ये मुद्रा, बांग्लादेश के रहने वाले अख्तारुल मोल्ला तथा सिद्दिक मोल्ला, जो गांव- चन्दा, थाना- कलरुआ, जिला- सत्खीरा के निवासी है उसे सौंपना था।वह जब अंतरराष्ट्रीय सीमा को पार करने की कोशिश कर रहा था, इसी दौरान सीमा सुरक्षा बल ने उसे पकड़ लिया। उसने यह भी खुलासा किया कि उसे गंतव्य तक पहुंचने के बाद नासिर मोल्ला से 500 रुपये मिलते। गिरफ्तार तस्कर तथा जब्त की गई बांग्लादेशी मुद्रा को अग्रिम कानूनी कार्यवाही हेतु पुलिस स्टेशन स्वरूप नगर को सौंप दिया गया है।

बीएसएफ कमांडेंट ने जवानों की थपथपाई पीठ

इधर, 112 वाहिनी, बीएसएफ के कमांडिंग ऑफिसर अरुण कुमार ने अपने जवानों की उपलब्धि पर खुशी व्यक्त की, जिसके परिणामस्वरूप इस प्रकार के प्रतिबंधित सामान की तस्करी को नाकाम करते हुए एक तस्कर को गिरफ्तार किया तथा 70,000 बांग्लादेशी मुद्रा जब्त की। उन्होंने कहा कि यह केवल ड्यूटी पर तैनात उनके जवानों द्वारा प्रदर्शित सतर्कता के कारण ही संभव हो सका है। 

Edited By Priti Jha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept