This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

BSF ने 2114 बोतल फेंसिडिल और 10,092 स्ट्रिप्स गर्भनिरोधक गोलियों की बड़ी खेप के साथ दो तस्करों को दबोचा

अंतरराष्ट्रीय सीमा के जरिए बांग्लादेश में की जा रही तस्करी के प्रयासों को बीएसएफ जवानों ने नाकाम करते हुए 2114 बोतल फेंसिडिल और 10080 स्ट्रिप गर्भनिरोधक गोलियां की बड़ी खेप जब्‍त की है। जब्त फेंसिडिल का बाजार मूल्य 358726 रुपये जबकि गर्भनिरोधक गोलियों का मूल्य 100920 रुपये है।

Babita KashyapThu, 24 Dec 2020 08:46 AM (IST)
BSF ने 2114 बोतल फेंसिडिल और 10,092 स्ट्रिप्स गर्भनिरोधक गोलियों की बड़ी खेप के साथ दो तस्करों को दबोचा

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने बंगाल में भारत-बांग्लादेश सीमा के पास अभियान चलाकर तस्करी के प्रयासों को नाकाम करते हुए प्रतिबंधित फेंसिडिल कफ सिरप एवं गर्भनिरोधिक गोलियों की बड़ी खेप जब्त की  है। इस सिलसिले में दो तस्करों को भी गिरफ्तार किया गया है।

  बीएसएफ की ओर से बुधवार को जारी बयान में बताया गया कि जब्त सामानों में 2114 बोतल फेंसिडिल और 10,080 स्ट्रिप गर्भनिरोधक गोलियां है। इसकी सीमावर्ती जिलों के अलग-अलग स्थानों से अवैध तरीके से अंतरराष्ट्रीय सीमा के जरिए बांग्लादेश में तस्करी की कोशिश की जा रही थी। 22 व 23 दिसंबर की रात को बीएसएफ जवानों द्वारा चलाए गए एंटी-ट्रांस बॉर्डर क्राइम ऑपरेशन के दौरान इसे जब्त किया गया। बीएसएफ के अनुसार, जब्त फेंसिडिल का बाजार मूल्य 3,58,726 रुपये जबकि गर्भनिरोधक गोलियों का मूल्य 1,00,920 रुपये है। बयान के मुताबिक, 22 दिसंबर को, विशिष्ट खुफिया इनपुट पर सेक्टर कोलकाता के तहत बीएसएफ की सीमा चौकी बॉर्डर आउट पोस्ट गोजाडांगा में तैनात 153वीं बटालियन के जवानों ने चेक पोस्ट गोजाडांगा के पास संदिग्ध क्षेत्र में तलाशी अभियान चलाया। रात लगभग 12:10 बजे बीएसएफ जवानों ने वहां से गुजर रहे एक संदिग्ध वाहन टाटा मैजिक को रोका जिस पर रेत लदा हुआ था। 

 जवानों ने जब वाहन की तलाशी ली तो उसमें एक गुप्त स्थान से 985 बोतल फेंसिडिल बरामद किया गया। जवानों ने वाहन चालक और सह चालक को तुरंत हिरासत में ले लिया। पकड़े गए लोगों के नाम मो. अब्बास उद्दीन मोंडल, गांव- अखरपुर, इटिंडा, बशीरहाट, जिला- उत्तर 24 परगना एवं मुजाहिद हुसैन मोल्ला, गांव- मोल्ला, 173, पाइकडांगा रोड, पैकरडांगा, जिला- उत्तर 24 परगना, पश्चिम बंगाल है। पूछताछ में दोनों ने खुलासा किया कि, 21 दिसंबर को बसीरहाट थाना क्षेत्र के पाखीडांगा के रहने वाले फारुक और इब्राहिम सरदार ने उनसे फोन पर संपर्क किया और बताया कि उन्हेंं अपने वाहन के लिए एक ड्राइवर की आवश्यकता है जो वर्तमान में संग्रामपुर पुल पर रेत से भरी हुई हैं और इसे ग्राम मज़ारपारा मस्जिद के पास पहुंचना हैं। फिर 22 दिसंबर को इब्राहिम सरदार उसके घर आए और मोटरसाइकिल से उन्हें संग्रामपुर पुल पर ले गए तथा इस वाहन को मुझे सौंप दिया। उन्होंने यह भी खुलासा किया कि सभी सामानों  का मालिक साबिर मोल्ला और राजू मोंडल, गांव पकिडांगा है, जो याबा की गोलियों और गांजा की तस्करी में भी संलिप्त है। 

  बदमाशों ने बीएसएफ जवान पर किया हमला, आत्मरक्षा में जवानों ने की हवाई फायरिंग  

  एक अन्य घटना में 23 दिसंबर को बीएसएफ इंटेलिजेंस ब्रांच को बीओपी रेनू, 35वीं बटालियन, थाना- लालगोला, जिला मुर्शीदाबाद के जिम्मेदारी के क्षेत्र से नशीली वस्तुओं की तस्करी के बारे में एक सूचना मिली। जिस पर बीओपी लालगोला के जवानों ने भारत-बांग्लादेश बॉर्डर रोड के पास विशेष अभियान चलाया। रात लगभग 01:45 बजे जवानों ने भारत-बांग्लादेश बॉर्डर फेंसिंग के दोनों ओर 25-30 बदमाशों की संदिग्ध गतिदिधि को देखा। जवानों ने जब चुनौती दी तो बदमाश दो समूहों में विभाजित हो गए। एक समूह जवानों को उलझाने की कोशिश करने लगे तथा दूसरे समूह  बॉर्डर फेंस में बांस की तख्ती लगाने की कोशिश करने लगे। उसी समय, बाड़ के आगे, 10-12 बांग्लादेशी तस्करों ने बीएसएफ के दूसरे जवान को घेर लिया और उसके चेहरे पर एक उच्च बीम वाले टॉर्च से प्रकाश डालाते हुए लोहे की दाह से हमला कर दिया। परिणामस्वरूप, जवान के राइफल की  ऊपरी हैंड गार्ड टूट गया। आत्मरक्षा में, बीएसएफ के जवानों ने पीएजी से एक राउंड और इंसास राइफल से एक राउंड हवा में फायरिंग की। फायर होने पर सभी तस्कर भाग गए। जवानों ने इलाके की तलाशी ली तो मौके से  575 बोतल फेंसेडिल और 10,092 स्ट्रिप्स गर्वनिरोधक गोलियां बरामद की गई। अन्य घटनाओं में जवानों ने तस्करी की प्रयासों को नाकाम करते हुए 554 बोतल फेंसिडिल जब्त किया। बीएसएफ ने आगे की कानूनी कार्यवाही के लिए गिरफ्तार तस्करों को जब्त सामानों के साथ संबंधित थाने को सौंप दिया है। 

  इस साल 2.87 लाख से ज्यादा फेंसिडिल की बोतलें जब्त  

   गौरतलब है कि चालू वर्ष 2020 के दौरान दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के सजग जवानों ने 2,87,333 बोतल फेंसिडिल जब्त करने में सफलता हासिल की है, जब बांग्लादेश में इसकी तस्करी का प्रयास किया जा रहा था। बताते चलें कि बांग्लादेश में शराब प्रतिबंधित होने की वजह से वहां फेंसिडिल कफ सिरप का लोग नशे के तौर पर इस्तेमाल करते हैं।

कोलकाता में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!