This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

West Bengal Chunav: बंगाल चुनाव में कोविड-19 बना चुनावी हथियार, मुख्यमंत्री ने किया ट्वीट, भाजपा ने दिया नारा

बंगाल विधानसभा चुनाव के पांच चरण के चुनाव संपन्न हो चुके हैं जबकि तीन चरण के चुनाव होने हैं। पहले पांच चरण के चुनाव में बांग्लादेशी घुसपैठिए एनआरसी सीएए राजबंशी चाय बागान श्रमिक न्यूनतम मजदूरी चुनावी हिंसा तथा सीतलकुची फायरिंग का मुद्दा जोर शोर से उठता रहा है।

Vijay KumarMon, 19 Apr 2021 03:59 PM (IST)
West Bengal Chunav: बंगाल चुनाव में कोविड-19 बना चुनावी हथियार, मुख्यमंत्री ने किया ट्वीट, भाजपा ने दिया नारा

जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी: बंगाल विधानसभा चुनाव के पांच चरण के चुनाव संपन्न हो चुके हैं जबकि तीन चरण के चुनाव होने हैं। पहले पांच चरण के चुनाव में बांग्लादेशी घुसपैठिए, एनआरसी, सीएए, राजबंशी, चाय बागान श्रमिक न्यूनतम मजदूरी, चुनावी हिंसा तथा सीतलकुची फायरिंग का मुद्दा जोर शोर से उठता रहा है। लेकिन छठे चरण के चुनाव प्रचार के अंतिम दिन अब चुनावी राजनीति कोविड-19 महामारी को लेकर भाजपा टीएमसी सहित अन्य राजनीतिक दलों प्रचार का मुख्य बिंदु बन गया है।

उत्तर बंगाल दौरे पर पहुंची राज्य के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्विटर पर लिखा,देशभर में कोविड-19 के संक्रमण में भारी बढ़ोतरी के साथ ही पश्चिम बंगाल सरकार अपने लोगों की सुरक्षा के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है। मैंने अतिरिक्त दबाव और वैक्सीन की उपलब्धता के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संपर्क साधा है। इसके साथ ही मैंने सभी शीर्ष अधिकारियों को निर्देश दिया है कि कोविड-19 की स्थिति से निपटने के लिए हर स्तर पर विस्तृत व्यवस्था करें और रोकथाम के लिए हर संभव कोशिश जारी रखें।

इतना ही नहीं तृणमूल कांग्रेस की ओर से राज्य में कोरोनावायरस को फैलाने के लिए भारतीय जनता पार्टी की ओर से आ रहे लोगों को जिम्मेदार बताया जा रहा है। चुनावी सभाओं में होने वाली भीड़ को भी इसका कारण माना जा रहा है। इसको लेकर चुनाव आयोग से तृणमूल कांग्रेस ने शेष चरणों के बच्चे चुनाव को एक साथ कराने की मांग की थी। इस मांग को चुनाव आयोग ने ठुकरा दिया। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने चुनावी जनसभा के माध्यम से चुनाव के कारण  कोरोनावायरस को सिरे से नकारते हुए कहा कि अगर ऐसा होता तो महाराष्ट्र में कोरोनावायरस सबसे ज्यादा नहीं होता।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजू बिष्ट ने कहा कि जो लोग भाजपा पर कोरोनावायरस को लेकर गंभीर नहीं होने का आरोप लगाते हैं उन्हें पता होना चाहिए कि इस मामले में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने रविवार को पार्टी पदाधिकारियों से कहा कि देश में कोरोना संक्रमण के मामले बेतहाशा बढ़ोतरी को देखते हुए 'अपना बूथ कोरोना मुक्त' अभियान चलाएं। पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों और राज्य इकाई के प्रमुखों को ऑनलाइन संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा कि सहायता डेस्क बनाएं। 

लोगों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी करें। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कराने के उपाय करने चाहिए। साथ ही बीजेपी सदस्यों को मास्क और सैनिटाइजर बांटना चाहिए और प्लाज्मा दान करने के लिए स्थानीय प्रशासन के साथ समन्वय करना चाहिए। इसको लेकर लगातार कार्य किए जा रहे हैं। कांग्रेस की ओर से राहुल गांधी ने सबसे पहले कोरोना के कारण चुनावी जनसभा को संबोधित नहीं करने का फैसला लिया। उसके बाद संयुक्त मोर्चा की ओर से भी बच्चे चरणों के चुनाव में किसी भरी जनसभा का आयोजन नहीं करने का फैसला लिया गया।

मुख्यमंत्री के करीबी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद सोमवार को ही राज्य के मुख्य सचिव अलापन बंद्योपाध्याय और स्वास्थ्य सचिव एस निगम राज्य सचिवालय नबान्न में आवश्यक बैठक करेंगे। इस बैठक में कोरोना के मद्देनजर कदम उठाने के निर्णय किए जाएंगे। 

दार्जिलिंग में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!