विहिप व बजरंग दल ने की उदयपुर कांड की निंदा

-आरोपितों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग -उत्तर बंगाल में 11 स्थानों पर किया प्रद

JagranPublish: Fri, 01 Jul 2022 10:52 PM (IST)Updated: Fri, 01 Jul 2022 10:52 PM (IST)
विहिप व बजरंग दल ने की उदयपुर कांड की निंदा

-आरोपितों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग

-उत्तर बंगाल में 11 स्थानों पर किया प्रदर्शन

जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी: राजस्थान के उदयपुर की घटना को लेकर विश्व हिन्दू परिषद व बजरंग दल का देश भर में लगातार प्रदर्शन जारी है। इनके द्वारा आरोपियों को सख्त से सख्त सजा दिए जाने की मांग की जा रही है। शुक्रवार को सिलीगुड़ी जर्नलिस्टस क्लब में पत्रकारों से बातचीत करते हुए विश्व हिन्दू परिषद के उत्तर बंग प्रांत सचिव लक्ष्मण बंसल ने कहा कि राजस्थान की अमानवीय घटना को लेकर उत्तर बंगाल प्रांत के 11 जगहों पर प्रदर्शन हुआ है। सिलीगुड़ी में विरोधी रैली निकालने के दौरान पुलिस द्वारा उन्हें रोका गया था। उनके कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया था, जिन्हें बाद में छोड़ दिया गया। उन्होंने कहा कि पुलिस से किसी भी कार्यक्रम की अनुमति मांगने पर अनुमति नहीं दी जाती है।

इस मौके पर विश्व हिन्दू परिषद के संरक्षक रतन बागची ने कहा कि बांग्लादेश में भी हिन्दू प्रताड़ित हो रहे हैं। दुनिया में हिन्दुओं के लिए एकमात्र भारत देश है। इसके अलावा दुनिया में दूसरा कोई देश हिन्दूओं के लिए नहीं है। राजस्थान में कन्हैया लाल की जिस तरह से हत्या की गई, वह दिल को दहलाने वाली घटना है। हिन्दुओं पर जब तब हमले हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब हिन्दुओं को एकजुट होना होगा। विभिन्न पंथों में विभाजित होने के कारण हिन्दू एकजुट नहीं हो पा रहा है। बजरंग दल के जिला संयोजक किशन अग्रवाल ने कहा कि कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक अब तक हिन्दुओं की अनगिनत हत्याएं हुई हैं। यह 21 वीं सदी का भारत है। नई पीढ़ी के हाथों में लैपटाप, मोबाइल व कलम होनी चाहिए, लेकिन पाषाण युग की तरह हाथों में हथियार उठाए जा रहे हैं। वहीं दुर्गा वाहिनी की सुतापा साहा ने भी इस मौके पर वक्तव्य रखा। बताते चले कि गुरुवार को जयपुर की घटना को लेकर एयरव्यू मोड़ पर बैनर के साथ नारेबाजी कर रहे बजरंग दल के 7 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। पुलिस की इस कार्रवाई का विरोध करते हुए बजरंग दल व विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकर्ताओं ने सिलीगुड़ी थाना का घेराव भी किया था। कुछ समय तक घेराव चलने के बाद सिलीगुड़ी थाना पुलिस ने हिरासत में लिए गए कार्यकर्ताओं को रिहा कर दिया था।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept