पेशोक चाय बागान खुलने की सूचना का विभिन्न लोगों ने किया स्वागत

संसू.मिरिक दार्जिलिंग के लम्बे अर्से से बन्द पेशोक चाय बागान खुलने की सूचना पाते ही गोजमुमो तक

JagranPublish: Tue, 18 Jan 2022 08:24 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 08:24 PM (IST)
पेशोक चाय बागान खुलने की सूचना का विभिन्न लोगों ने किया स्वागत

संसू.मिरिक : दार्जिलिंग के लम्बे अर्से से बन्द पेशोक चाय बागान खुलने की सूचना पाते ही गोजमुमो तकलिंग पेशोक समष्टि की ओर से अध्यक्ष मिलन लेप्चा ने पार्टी अध्यक्ष विमल गुरुंग समेत , दार्जिलिंग तराई-डुवार्स प्लांटेशन लेबर यूनियन के अध्यक्ष सूरज सुब्बा और संगठन के प्रति आभार व्यक्त किया है। मिलन लेप्चा ने कहा कि, यह श्रमिको की जीत है। यही नही आज गोजमुमो अध्यक्ष विमल गुरुंग और श्रमिक संगठन के अध्यक्ष सुरज सुब्बा ने राज्य सरकार से बन्द चाय बागान खुलवाने को लेकर लगातार ठोस पहल करने पर ही यह सफलता मिली है। इसके लिएपेशोक बागान के श्रमिकों ने खुशी व्यक्त की है।

-------------

पर्यटन केंद्रों में पर्यटकों की संख्या घटी

संसू. मिरिक: कोरोना महामारी के चलते राज्य सरकार से जारी दिशा निर्देश के चलते राज्यके सभी पर्यटन केन्द्रों में प्रोटोकल मेटेन किया जा रहा है। नए वर्ष मे उत्साह के साथ आनन्द लेने आए पर्यटकों की संख्या अब दार्जिलिंग हिल्स मे भी शून्य के बराबर है। होटल और लाज पूरी तरह खाली हैं जब कि पर्यटन केन्द्र वीरान पड़े हैं। पर्यटन व्यवसाय पर निर्भर स्थानीय मझोले व्यापारियों की दुकान भी खाली खाली दिख रही है। यद्यपि , आसपास के जगह से कम अवधि के लिए लोग कोविड नियमों का पालन कर मिरिक के पर्यटन केन्द्रो में पहुँच रहे हैं लेकिन उन्हे स्थानीय प्रशासन की ओर से सतर्कता बरतने की हिदायत दी जा रही है। इधर , मिरिक के पर्यटन केन्द्र मे धीरे-धीरे उभर रहे पर्यटन व्यवसाय पर विराम लगने से व्यापारियों में बेरोजगारी की परिस्थिति सृजन हुई है।

(फोटो -1 पर्यटकों के अभाव में सूना पड़ा मिरिक पर्यटन केन्द्र )

---------------

शार्ट फिल्म फेल छ जिन्दगी के निर्देशक व निर्माता सम्मानित

संसू. मिरिक: हाल ही में निर्माण की गई नेपाली कथानक शार्ट फिल्म फेल छ जिन्दगी के निर्देशक एवं निर्माता शिचल खवास और विशिष्ट समाजसेवी काजी छेत्री को समारोह के बीच सोशल वेलफेयर सोसाइटी गेल बस्ती और गेल होम बस्ती की ओर से सम्मानित किया गया। समाजसेवी तीलक मंगर की अध्यक्षता में सम्पन्न कार्यक्रम में सोसाइटी के सचिव राजू पाण्डेय ने समाजसेवी काजी छेत्री और शिचल खवास को सम्मान करने के औचित्य की जानकारी दी। समाज के प्रति दोनो प्रतिभाओ द्वारा दिए योगदान और सृजनात्मक कार्य ने जाति और समाज का सिर ऊंचा किया है । शिक्षक कमल छेत्री द्वारा संचालित कार्यक्रम में सम्मानित व्यक्तित्व को शिरशोभा,अंगवस्त्र, स्मृति चिन्ह आदि प्रदान किया गया। कार्यक्रम में समाज के विशिष्ट व्यक्ति उपस्थित थे जब कि कार्यक्रम गेल होम बस्ती सार्वजनिक भवन में सम्पन्न हुआ था।

(फोटो -2 सम्मानित श्रेष्टा निर्देशक शिचल खवास व काजी छेत्री)

------------

मिरिक के विभिन्न क्षेत्र में रसीले संतरे पेड़ से उतारने का क्रम जारी

संसू. मिरिक( दीप मिलन प्रधान ): दार्जिलिंग हिल्स में रसीले, स्वादिष्ट और खुशबूदार संतरे के फल तोड़ने का ( टिपाई) काम अंतिम चरण पर है। महकमा के मिरिक बस्ती , सौरेनी बस्ती ,मन्जु , फुवागड़ी , मरमा , निम्न सिंगबुली , घैयाबारी , फुवागड़ी और सुके खण्ड के मगरजोंग में फल तोड़ने का कार्य तीव्र गति से किया जा रहा है । संतरा उत्पादकों ने विगत वर्ष की तुलना में इस बार संतोषजनक आमदनी होने की उम्मीद व्यक्त करते हुए इसी माह के भीतर पेड़ो से सभी फसल उतारने की जानकारी दी। किसान् रमण सुब्बा ने बताया कि , दार्जिलिंग पहाड़ के रसीले संतरा की मांग अधिक है। यहाँ उत्पादित संतरा का गुणस्तर लाजवाब है। असम , बंग्लादेश में पहाड़ का संतरा अधिक निर्यात होती है। सबसे ज्यादा घबराने की बात यह है कि किसान जिस परिश्रम और उम्मीद से संतरे के पेड़ की देखभाल करते हैं उसी हिसाब से फल का उत्पादन नहीं हो रहा है। यह मामला प्रत्येक वर्ष देखने को मिल रहा है। इधर , संबंधित विभाग भी किसानों के लिए ठोस पहल कर रही है। किसानों की समस्या और अभाव को समाधान करने और उद्यमी किसानों को प्रोत्साहित करने के किए विभाग की ओर से सहयोग व जानकारी भी मुहैया की जा रही है। अत: दार्जिलिंग हिल्स मे लोकप्रिय संतरा उत्पादन को और बड़ावा देने एवं किसानों को लाभान्वित करने के लिए किसान और सम्बन्धी विभाग एवं एक्सपर्ट के बीच महत्वपूर्ण तालमेल होना जरुरी दिखाई है।

(फोटो -3 मिरिक बस्ती में पेड़ से तोड़े गये रसीले संतरे )

---

कमेटी गठित

मिरिक: मिरिक टिस्टा में हाम्रो पार्टी की सागठनिक सभा द्वारा कमेटी गठित की गई है। उक्त कमेटी गठन कार्यक्रम आशीष भुजेल के निवास पर सम्पन्न सभा के बाद गठित कमेटी मे आशिष भुजेल को अध्यक्ष समीर तामांग- उपाध्यक्ष राजा राई- सचिव, सागर बसोर- सहसचिव , शुभम रोनियार-को-ओडिनेटर, शिबलाल छेत्री- सल्लाहकार , स्वाधीन सुब्बा को कोषाध्यक्ष बनाया गया है ।

-------------------

मिरिक बाजार से मरमा गांव की सड़क की मरम्मत

संसू. मिरिक: बद से बदतर हुई मिरिक बाजार से मरमा गांव तक जाने वाली सड़क की मरम्मत हाम्रो पार्टी संस्थापक अजय एडवार्ड की मदद से हुई।

मिरिक बाजार से मिरिक थुलुंग गांव होते हुए मरमा सम्म तक जाने वाली सड़क की हालत इतनी खराब हो गयी है कि कोई भी वाहन मालिक सड़क मार्ग से निकलने में दस बार सोचता है। मरमा , मिरिक बस्ती के चालकबर्ग काफी समस्याओ से जुझ रहे थे। चालक व स्थानीय नागरिकों के दुख को देखकर अजय एडवर्ड ने सड़क की मरम्मत के लिए 50 बेग सीमेंट प्रदान किए। इस कार्य को संपन्न करने के लिए मरमा मिरिक बस्ती मरमा के वाहन चालकों और मरमा के हाम्रो पार्टी के सदस्य, युवा कार्यकर्ता समेत थुलुड गांव के आम नागरिकों ने सक्रिय भूमिका निर्वाह की। मरमा के हाम्रो पार्टी के सदस्य जुगल प्रधान, और अतित राई ने सड़क की मरम्मत के लिए सहयोग करने के लिए अजय एडवर्ड और स्थानीय सहयोगियों के प्रति आभार व्यक्त किया है।

( फोटो: मिरिक बस्ती में मुख्य सड़क की मरम्मत करते हाम्रो पार्टी के सदस्य)

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept