पर्यटकों की संख्या बढ़ते ही डीएचआर मालामाल

- मई महीने के दौरान आय में रिकार्ड वृद्धि दर्ज - यात्रियों की संख्या बढ़ाने के लिए दी जा रही आ

JagranPublish: Wed, 22 Jun 2022 09:06 PM (IST)Updated: Wed, 22 Jun 2022 09:06 PM (IST)
पर्यटकों की संख्या बढ़ते ही डीएचआर मालामाल

- मई महीने के दौरान आय में रिकार्ड वृद्धि दर्ज

- यात्रियों की संख्या बढ़ाने के लिए दी जा रही आकर्षक सुविधाएं

03

करोड़ बीस लाख रुपये की कमाई हुई है ट्वाय ट्रेन से

04

करोड़ 73 लाख की कमाई हो चुकी है इस वित्तीय वर्ष में अब तक

12

ज्वाय राइड सेवाएं चलाई जा रही है पर्यटकों के लिए

जागरण संवाददाता,सिलीगुड़ी: कोरोना खत्म होने के बाद दार्जिलिंग पर्वतीय क्षेत्र में पर्यटकों के बढ़ने के साथ ही डीएचआर मालामाल हो गया है। पू. सी. रेल के यूनेस्को धरोहर दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे (डीएचआर) ने इस वित्तीय वर्ष 2022-23 के मई में उल्लेखनीय आय की है। डीएचआर ने मई 2022 के दौरान 2.75 करोड़ रुपये के व्यय की तुलना में अब तक का सर्वाधिक मासिक राजस्व लगभग 3.20 करोड़ रुपये अर्जित किया है। यह पहले के उच्चतम स्तर मई, 2018-19 में 2.07 करोड़ रुपये की तुलना में करीब 54 फीसद अधिक था। इस वित्त वर्ष मई 2022 तक, डीएचआर ने 4.73 करोड़ रुपये से अधिक की कमाई की है, जबकि इस अवधि के दौरान वार्षिक खर्च लगभग 4.53 करोड़ रुपये था। अधिक जॉयराइड सेवाओं के चलाये जाने के कारण आय में बढ़ोतरी हासिल की गयी। अनुभाग में पर्यटकों के प्रवाह के इस चरम मौसम में भारी आवाजाही और यात्री यातायात में वृद्धि के कारण आय में वृद्धि हुई। कोविड महामारी ने पूरी दुनिया के साथ- साथ डीएचआर को बड़े पैमाने पर प्रतिकूल रूप से प्रभावित किया। नतीजतन, इसके राजस्व में वित्त वर्ष 2020-21 और 2021-22 में गिरावट आई। डीएचआर पर ट्रेन सेवाएं वर्ष 2020 के 22 मार्च से 24 दिसंबर तक और वर्ष 2021 के 16 मई से 15 अगस्त तक और वर्ष 2022 में 15 जनवरी से 15 फरवरी तक बंद रहीं। कई विशेष सेवाएं शुरू की गई है

वर्तमान में, डीएचआर में न्यू जलपाईगुड़ी और दार्जिलिंग के बीच एक दैनिक सेवा और दार्जिलिंग एवं घुम के बीच 12 ज्वाय राइड सेवाएं हैं। इनमें से चार ज्वाय राइड सेवाओं को वाष्प इंजन द्वारा जबकि अन्य आठ को डीजल इंजन द्वारा चलाया जाता है। डीएचआर ने स्टीम जंगल टी सफारी, रेडपाडा, हिम कन्या इत्यादि जैसी विशेष सेवाएं भी शुरू की है। चार्टर ट्रेन, स्पेशल फिल्म शूटिंग ट्रेन, हेरिटेज डाइनिंग कार भी डीएचआर की कुछ आकर्षक सेवाएं हैं। इस अवधि के दौरान, डीएचआर पर्यटकों की माग को पूरा करने के लिए 1000 से अधिक की उच्चतम दैनिक सीट उपलब्ध करवाने में कामयाब रहा है। किस तरह की सुविधा दी जा रही है

इस संबंध में और अधिक जानकारी देते हुए सीपीआरओ सब्यसाची दे ने बताया कि देश-विदेश में डीएचआर को बढ़ावा देने के लिए कई पहल भी की गई हैं। दार्जिलिंग स्टेशन को हेरिटेज टाइप विंडो, कंचनजंगा व्यू प्वाइंट आदि जैसी नई सुविधाओं के साथ अपग्रेड किया जा रहा है। घुम स्टेशन का आधुनिकीकरण कार्य भी प्रगति पर है। इसके संरक्षण को बरकरार रखने और धरोहर मूल्य को बढ़ावा देने के लिए हितधारकों, टूर आपरेटरों, सास्कृतिक समूहों, स्थानीय आबादी आदि के साथ साझेदारी नियमित रूप से की जा रही है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept