10 दिन बाद कोरोना के केस दौ से कम

-मौत के मामले में भी लगातार मिल रही है राहत -जिंदगी की जंग जीतने वालों की संख्या में भारी

JagranPublish: Wed, 19 Jan 2022 09:00 PM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 09:00 PM (IST)
10 दिन बाद कोरोना के केस दौ से कम

-मौत के मामले में भी लगातार मिल रही है राहत

-जिंदगी की जंग जीतने वालों की संख्या में भारी बढ़ोत्तरी

180

नए मामले दर्ज किए गए हैं पिछले चौबीस घंटे में

19

दिनों के अंदर ही आए लगभग साढ़े चार हजार मामले

02

दिनों में पांच सौ ज्यादा मरीजों ने जीती कोरोना से जंग जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : नए साल के पहले दिन से ही सिलीगुड़ी व आसपास के क्षेत्रों में कोरोना के मामले कम होने के नाम नहीं ले रहे हैं। हालांकि पिछले 10 दिनों की बात करें, तो निश्चित रूप से बुधवार के दिन कुछ राहत मिलने वाली रही। पिछले 10 दिनों बाद बुधवार को कोरोना के दो सौ से कम मामले दर्ज किए गए हैं। कोरोना के मामले किस कदर बढ़ रहे थे, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि बीते मंगलवार को सिलीगुड़ी व आसपास के क्षेत्रों में कोरोना के साढ़े तीन सौ ज्यादा मामले दर्ज किए गए। जिला प्रशासन द्वारा मिली जानकारी के अनुसार जहां बीते मंगलवार को सिलीगुड़ी व आसपास के क्षेत्रों में कोरोना के 366 मामले दर्ज किए गए,वहीं बुधवार को सिलीगुड़ी व आसपास के क्षेत्रों में कोरोना के 180 मामले सामने आए। इनमें सिलीगुड़ी नगर निगम क्षेत्र में सबसे ज्यादा 105 मामले सामने आए हैं। जबकि सिलीगुड़ी महकमा के माटीगाड़ा प्रखंड में 23, नक्सलबाड़ी प्रखंड में 15, खोरीबारी में 10, फांसीदेवा प्रखंड में छह तथा सिलीगुड़ी से सटे सुकना में कोरोना के 21 मामले सामने आए। इस तरह से पिछले 19 दिनों के अंदर सिलीगुड़ी व आसपास के क्षेत्रों में कोरोना के 4432 मामले सामने आ चुके हैं। 19 दिनों के अंदर साढ़े चार हजार के करीब मामले पिछले वर्ष मई के बाद पहली बार दर्ज किए गए हैं। बुधवार को एनबीएमसीएच में कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत से राहत मिली है। हालांकि इस महीने एनबीएमसीएच में कोरोना संक्रमित पांच मरीजों की मौत हो चुकी है।

इस दिन 256 मरीजों ने कोरोना से जंग भी जीत ली है। वहीं पिछले दो दिनों की बात करें तो लगभग साढ़े पांच सौ मरीज कोरोना से ठीक हो चुके हैं।

हांलाकि मामले में भले ही थोड़ी कमी आई हो,लेकिन यह आंकउ़ा भी कम नहीं है। चिकित्सकों को कहना है कि यदि लोग कोरोना के प्रति लापरवाह होंगे तो इसके और गंभीर परिणाम आने वाले दिनों में देखने को मिल सकते हैं। लोगों को घर से बाहर निकलते समय मास्क लगाना नहीं भूलना चाहिए। जबकि नवंबर महीने में कोरोना काफी कम था। नवंबर महीने में सिलीगुड़ी व आसपास के क्षेत्रों में करीब छह सौ मामले दर्ज किए गए। जबकि 21 मरीजों की मौत कोरोना के संक्रमण से हुई थी। दिसंबर में भी यह आंकड़ा ऐसा ही था। लेकिन जनवरी में तीसरी लहर में इसने जोरदार छलांग लगाई है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept