This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

45 दिन बाद भी नहीं खुला दारमा मार्ग, 36 से अधिक गांव प्रभावित

पिथौरागढ़ जिले में बारिश का वेग कुछ कम हुआ है परंतु जिले की 17 सड़कें अभी भी यातायत के लिए बंद हैं।

JagranSat, 31 Jul 2021 09:47 PM (IST)
45 दिन बाद भी नहीं खुला दारमा मार्ग, 36 से अधिक गांव प्रभावित

जासं, पिथौरागढ़: जिले में बारिश का वेग कुछ कम हुआ है, परंतु जिले की 17 सड़कें अभी भी यातायात के लिए बंद हैं। चीन सीमा को जोड़ने वाले तवाघाट-सोबला-तिदांग मार्ग 45वें दिन भी नहीं खुला है। तल्ला, मल्ला दारमा और चौदास घाटी अलग-थलग पड़ी हैं। काली नदी के जलस्तर यथावत बना हुआ है।

शुक्रवार की रात्रि को मौसम अन्य दिनों की अपेक्षा शांत रहा। केवल धारचूला तहसील क्षेत्र में 26 एमएम बारिश हुई। डीडीहाट में 8.4 एमएम, मुनस्यारी में 12.20 एमएम, पिथौरागढ़ में दो एमएम, गंगोलीहाट में 1.5 एमएम बारिश हुई। जबकि बेरीनाग में मौसम शुष्क रहा। शनिवार दिन में जिला मुख्यालय में हल्की बारिश हुई। बीते दिनों की बारिश से बंद 17 मार्ग यातायात के लिए नहीं खुल सके हैं। मौसम विभाग ने दो अगस्त से फिर से भारी बारिश की संभावना जताई है। मौसम विभाग की चेतावनी को देखते हुए जिलाधिकारी ने संबंधित सभी विभागों को सतर्क रहने को कहा है। सड़क विभागों से बंद मार्ग शीघ्र खोलने और संवेदनशील क्षेत्र की सड़कों पर लोडर मशीन और मजदूर तैनात रखने के निर्देश दिए हैं। ======== जिले में बंद मार्ग

तवाघाट-नारायण आश्रम, बांस-आंवलाघाट, सोसा-सिर्खा, छिरकिला-जम्कू, नाचनी-भैंस्कोट, मसूरीकांठा-होकरा, बांसबगड़-कोटा पंद्रहपाला, आदिचौरा-सीणी, कालिका -खुम्ती, सेराघाट-बुसैल, चंडाक-चमाली, पाताल भुवनेश्वर- दौलावालिया, तवाघाट-सोबला, तवाघाट-घटियाबगड्र, गर्बाधार-लिपुलेख, सोबला-दर-तिदांग, पंपाबे-उर्थिग। =========== जौलढुंगा मार्ग नहीं खुलने पर ग्रामीण देंगे धरना

मुनस्यारी: मदकोट-जौलढुंगा मोटर मार्ग विगत कई दिनों से बंद है। सड़क किनारे पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं होने से नाले सड़क पर बह रहे हैं। मार्ग बंद होने से चार ग्राम पंचायतें प्रभावित हैं। गांवो तक राशन सहित अन्य सामग्री नहीं पहुंच पा रही है।

इस संबंध में शनिवार को एनएसयूआइ के नेतृत्व में कांग्रेसजनों और ग्रामीणों ने उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। जिसमें लोनिवि द्वारा 8 अगस्त तक मार्ग सुचारू नहीं किए जाने पर नौ अगस्त को उपजिलाधिकारी कार्यालय के सम्मुख धरना देने की चेतावनी दी है। ज्ञापन सौंपने वालों में एनएसयूआइ के अध्यक्ष सुरेंद्र पाना, पूर्व यूथ कांग्रेस के ब्लाक अध्यक्ष लक्ष्मण विश्वकर्मा, पूर्व प्रधान कुंवर सिंह, सामाजिक कार्यकर्ता तेज सिंह, पूर्व प्रधान पुष्कर सिंह, राजेंद्र कोश्यारी आदि शामिल थे।

Edited By Jagran

पिथौरागढ़ में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
Jagran Play

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

  • game banner
  • game banner
  • game banner
  • game banner