This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

UPSC Result 2020 : ऊधमसिंह नगर की वरुणा तीसरे प्रयास में 38वीं रैंक पाकर बनीं आइएएस

UPSC Result 2020 नैनीताल रोड रुद्रपुर निवासी वरुणा अग्रवाल ने जेसीज स्कूल से वर्ष 2013 में इंटरमीडिएट में विज्ञान वर्ग में 95.4 फीसद अंक प्राप्त कर स्कूल में टाप किया था। वह पुणे में कानून की पढ़ाई करने चली गईं और 2018 में कानून में स्नातक की डिग्री ली।

Prashant MishraFri, 24 Sep 2021 09:53 PM (IST)
UPSC Result 2020 : ऊधमसिंह नगर की वरुणा तीसरे प्रयास में 38वीं रैंक पाकर बनीं आइएएस

जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : कहते हैं कि यदि जज्बा, लगन व लक्ष्य हो तो मंजिल खुद कदम चूमती है। ऐसे भी प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती है। रुद्रपुर की वरुणा अग्रवाल ने यूपीएससी की परीक्षा पास कर न केवल स्वजनों का नाम रोशन किया है, बल्कि तराई के साथ यूएस नगर का भी मान बढ़ाया है। वरुणा ने कहा कि देश की तरक्कती के साथ शिक्षा व महिला सशक्तीकरण करना उनकी प्राथमिकता होंगी।

नैनीताल रोड रुद्रपुर निवासी वरुणा अग्रवाल ने जेसीज स्कूल से वर्ष, 2013 में इंटरमीडिएट में विज्ञान वर्ग में 95.4 फीसद अंक प्राप्त कर स्कूल में टाप किया था। इसके बाद वह पुणे में कानून की पढ़ाई करने चली गईं और वर्ष 2018 में कानून में स्नातक की डिग्री ली। इसके बाद वह दिल्ली में आइएएस की एक साल कोचिंग कर घर से ही तैयारी करने लगीं। तीसरे प्रयास में यूपीएससी परीक्षा पास की है। वरुणा को 38वीं रैंक मिली हैं। 

हाईस्कूल में ठाना आइएएस बनना

वरुणा बताती हैं कि आइएएस बनकर बेहतर तरीके से देश की सेवा कर सकती हूं। हाईस्कूल में पढ़ाई के समय ही आइएएस बनने की ठान ली थीं। फिर इसे मुड़कर नहीं देखा। इसलिए स्नातक में कानून में पढ़ाई की। कानून की पढ़ाई के समय सिस्टम काफी समझ में आया। बताया कि 21 सितंबर को दिल्ली में साक्षात्कार हुआ था और शुक्रवार शाम रिजल्ट आउट हो गया। जिसमें उन्हेंं 38वीं रैंक मिली हैं। लक्ष्य रखकर रोजाना पढ़ाई करती थीं। यह कोई समय फिक्स नहीं था कि इतने घंटे पढ़ाई करनी है। बताया कि लक्ष्य भले ही कठिन होता है, यदि लगन व लक्ष्य निर्धारित कर मेहनत की जाए तो निश्चित तौर पर सफलता मिलती है। शार्टकट का रास्ता नहीं चुनना चाहिए।

उनके पिता सुबोध अग्रवाल सीए हैं और उनकी माता साधना अग्रवाल गृहणी है। बड़ा भाई राहुल अग्रवाल सीए है। माता-पिता, भाई, गुरुजन व दादा बनवारी लाल अग्रवाल को सफलता का श्रेय देेते हुए वरुणा ने बताया कि किताबें पढ़ाना व योग करना उनकी रुचि है।  वरुणा को स्वजनों ने मिठाई खिलाकर खुशी जताई। राइस मिल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष पुरुषोत्तम दास अग्रवाल सहित लोगों ने वरुणा को बधाई दी।

Edited By: Prashant Mishra

नैनीताल में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!