कार्बेट नेशनल पार्क में जंगल सफारी की हसरत रखने वालों के लिए अच्‍छी खबर

कार्बेट नेशनल पार्क में जगल सफारी की हशरत रखने वालों के लिए एक अच्‍छी खबर है। कार्बेट पार्क में दुर्गादेवी जाने के लिए अब मैदावन से भी पर्यटकों की आवाजाही हो सकेगी। शासन ने मैदावन से भी पर्यटकों के लिए गेट खोलने के आदेश कर दिए हैं।

Skand ShuklaPublish: Wed, 29 Dec 2021 09:09 AM (IST)Updated: Wed, 29 Dec 2021 11:55 AM (IST)
कार्बेट नेशनल पार्क में जंगल सफारी की हसरत रखने वालों के लिए अच्‍छी खबर

रामनगर, जागरण संवाददाता : कार्बेट नेशनल पार्क में जगल सफारी की हशरत रखने वालों के लिए एक अच्‍छी खबर है। कार्बेट पार्क में दुर्गादेवी जाने के लिए अब मैदावन से भी पर्यटकों की आवाजाही हो सकेगी। शासन ने मैदावन से भी पर्यटकों के लिए गेट खोलने के आदेश कर दिए हैं। इससे लैंसडोन क्षेत्र के लोगों को भी पर्यटन शुरू होने से रोजगार मिल सकेगा।

कार्बेट नेशनल पार्क के अंतर्गत कालागढ़ वन प्रभाग के जंगल में घूमने के लिए दुर्गादेवी पर्यटन जोन है। इस जोन में सुबह व शाम की पाली में पर्यटकों की 30 जिप्सी जाती है। पिछले कई समय से जिला पौड़ी के अंतर्गत लैंसडोन में दुर्गादेवी पर्यटन जोन में जाने के लिए लैंसडॉन के अंतर्गत मैदावन-दुर्गादेवी-लोहाचौड़ वन मोटर मार्ग को पर्यटकों के लिए खोलने की मांग की जा रही थी। जिससे कि उस क्षेत्र के गांव में रह रहे लोगों को पर्यटन गतिविधि शुरू होने से रोजगार मिल सके।

लोगों ने सूबे के वन मंत्री हरक सिंह रावत से इस दिशा में कार्रवाई की मांग की थी। गंभीर थे। सोमवार को मैदावन से पर्यटन गतिविधि शुरू करने के लिए शासन ने आदेश जारी कर दिए। इस संबंध में प्रभागीय वनाधिकारी कालागढ़ टाइगर रिजर्व को भी पत्र भेजा गया है। जिसके बाद सीटीआर के निदेशक राहुल ने इस मार्ग पर पर्यटन शुरू करने की अनुमति प्रदान की है।

सीटीआर के निदेशक राहुल ने बताया कि मैदावन के रास्ते से भी अब दुर्गादेवी पर्यटन जोन में सुबह व शाम की पाली में डे सफारी के लिए 15-15 जिप्सियों का संचालन होगा। अभी तक रामनगर से ही 15-15 जिप्सियां सफारी के लिए जाती थी। मैदावन से भी गेट खोलने के लिए दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं।

Edited By Skand Shukla

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept