Uttarakhand Chunav 2022 : भाजपा के टिकट फाइनल करते ही बागेश्वर के कपकोट में मचा घमासान

Uttarakhand Election 2022 शुक्रवार को कपकोट में जिला पंचायत सदस्य प्रभा गढिय़ा की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। जिला पंचायत सदस्य समेत 39 कार्यकर्ताओं ने अपने पदों से इस्तीफा दे दिया है। हस्ताक्षरयुक्त शिकायत पत्र प्रदेश अध्यक्ष को पत्र भेजा है।

Prashant MishraPublish: Fri, 21 Jan 2022 08:02 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 08:02 PM (IST)
Uttarakhand Chunav 2022 : भाजपा के टिकट फाइनल करते ही बागेश्वर के कपकोट में मचा घमासान

जागरण संवाददाता, बागेश्वर : भाजपा के टिकट फाइनल होते ही बगावत के सुर तेज तो गए हैं। टिकट के दूसरे दावेदार शेर ङ्क्षसह गढिय़ा को टिकट नहीं मिलने पर कार्यकर्ताओं में गुस्सा है। जिला पंचायत सदस्य समेत 39 कार्यकर्ताओं ने अपने पदों से इस्तीफा दे दिया है। हस्ताक्षरयुक्त शिकायत पत्र प्रदेश अध्यक्ष को पत्र भेजा है।

शुक्रवार को कपकोट में जिला पंचायत सदस्य प्रभा गढिय़ा की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। टिकट को लेकर चर्चा हुई। कार्यकर्ताओं ने बैठक कर हाइकमान पर टिकट वितरण में मनमानी का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि टिकट वितरण में संपूर्ण रायशुमारी के बाद मनमानी की गई है। इस तरह की मनमानी कतई सहन नहीं होगी। उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष को अपने इस्तीफे भेज दिए हैं। इस्तीफा देने वालों में जिला पंचायत सदस्य तोली प्रभा गढिय़ा, महिमन कपकोटी, भुवन गढिय़ा, भगवत गढिय़ा, लाल ङ्क्षसह दीवान, करम ङ्क्षसह, विनोद कपकोटी, पूरन दानू, हरीश दानू, संजय जोशी, जगदीश सुरकाली, दीपक ऐठानी, राजेंद्र बिष्ट समेत 39 नाम शामिल हैं। इस मामले शेर ङ्क्षसह गढिय़ा सोमवार पत्रकार वार्ता करेंगे।

ये थे प्रमुख दावेदार 

कपकोट से विधायक के लिए दावेदारों की लंबी सूची थी। इसमें कपकोट के विधायक बलवंत ङ्क्षसह भौर्याल, पूर्व विधायक शेर ङ्क्षसह गढिय़ा, सुरेश गढिय़ा, पूर्व जिपं अध्यक्ष विक्रम शाही, ब्लाक प्रमुख गोङ्क्षवद दानू शामिल थे। पर्यवेक्षकों की रायशुमारी के बाद गुरुवार को कपकोट से सुरेश गढिय़ा का टिकट फाइनल हो गया।

पोथिंग भगवती मंदिर में ठेका माथा

भाजपा के प्रत्याशी सुरेश गढिय़ा ने शुक्रवार को पोथिंग भगवती मंदिर पहुंचे। उन्होंने पूजा-अर्चना की और भाजपा की जीत के लिए भगवती से मनौती मांगी। उन्होंने चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है। गढिय़ा ने कहा कि भाजपा अनुशासित पार्टी है। संगठन पूरी तरह उनके साथ है।

जिलाध्यक्ष शिव सिंह बिष्ट ने बताया कि अभी मेरे संज्ञान में नहीं है। पार्टी का निर्णय है। सभी को मानना चाहिए। यदि ऐसी बात है तो उन्हें मना लिया जाएगा। भाजपा अनुशासित पार्टी है। एक साथ मिलकर सभी काम करेगे।

Edited By Prashant Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम