आधार के चक्कर में परिवहन निगम के 200 कर्मियों का पीएफ अटका, जानिए क्‍या है मामला

परिवहन निगम के 200 से अधिक कर्मचारियों का पीएफ अंशदान भविष्य निधि खाते में जमा नहीं हो पा रहा। आधार कार्ड व अन्य दस्तावेज की कमी के कारण यह दिक्कत आ रही है। जिस वजह से कटौती के पैसे निगम पीएफ को नहीं दे सकता।

Skand ShuklaPublish: Thu, 16 Sep 2021 06:55 PM (IST)Updated: Thu, 16 Sep 2021 06:55 PM (IST)
आधार के चक्कर में परिवहन निगम के  200 कर्मियों का पीएफ अटका, जानिए क्‍या है मामला

जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : परिवहन निगम के 200 से अधिक कर्मचारियों का पीएफ अंशदान भविष्य निधि खाते में जमा नहीं हो पा रहा। आधार कार्ड व अन्य दस्तावेज की कमी के कारण यह दिक्कत आ रही है। जिस वजह से कटौती के पैसे निगम पीएफ को नहीं दे सकता। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ईपीएफओ के नए प्रावधान के मुताबिक आधार को भविष्य निधि खाते से लिंक होना अनिवार्य है।

पूर्व में कई बार रोडवेज अफसरों ने स्टेशन इंचार्ज के माध्यम से यह जानकारी कर्मचारियों तक पहुंचाई थी। मगर प्रक्रिया पूरी नहीं की गई। इसलिए अब स्टेशन पर इन कर्मचारियों के नाम व पद का ब्यौरा चस्पा किया गया है। ताकि वह आधार व अन्य दस्तावेज जाम कर सके। निगम का साफ कहना है कि जल्द दोबारा लापरवाही बरतने पर जिम्मेदारी कर्मचारियों की होगी।

लॉकडाउन में मददगार

लॉकडाउन के दौरान पीएफ हर वर्ग के लोगों के लिए काफी मददगार साबित हुआ था। आर्थिक संकट से जूझते लोगों ने खाते से पैसे निकाल जैसे-तैसे काम चलाया। पिछले एक साल में रिकॉर्ड लोगों ने पैसे निकासी के लिए आवेदन किया था।

पैसे निकालने में भी आएगी दिक्कत

ईपीएफओ के नियमों के अनुसार नियुक्ता यानी कंपनियों के लिए अपने इंप्लाय के खातों में पीएफ अंशदान डालने के लिए आधार व पीएफ खाते का आपस में लिंक होना जरूरी है। इस नियम के मुताबिक बिना आधार लिंक वाले खातों में परिवहन निगम पीएफ की धनराशि नहीं डाल पाएगा। ऐसे में कर्मचारियों को भविष्य में दिक्कत झेलनी पड़ेगी। भविष्य में खाते से निकासी करने में भी उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

Edited By Skand Shukla

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept