Year Ender 2021: उपलब्धियों के लिहाज से कुमाऊं विश्वविद्यालय के लिए बेहतरीन रहा 2021

Year Ender 2021 इंडिया टुडे ग्रुप की ओर से कराए गए सर्वे में कुविवि को प्रदेश में पहला एवं देश में 27वां स्थान मिला है। कोरोना काल में भी अपने सामाजिक एवं शैक्षिक दायित्‍वों को पूरा करके इस विश्‍वविद्यालय ने अपनी पहचान कायम की है।

Prashant MishraPublish: Fri, 31 Dec 2021 07:37 PM (IST)Updated: Fri, 31 Dec 2021 07:37 PM (IST)
Year Ender 2021: उपलब्धियों के लिहाज से कुमाऊं विश्वविद्यालय के लिए बेहतरीन रहा 2021

जागरण संवाददाता, नैनीताल। कुमाऊं विवि के लिए 2021 उपलब्धियों से भरा रहा। विवि को राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग में सुधार के लिए शैक्षणिक गुणवत्ता, शोध एवं नवाचार के क्षेत्र में किये प्रयास के बलबूते इस बार उच्च शैक्षिक संस्थानों की नैशनल इंस्टिट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क 2021 (NIRF 2021) में  विश्वविद्यालय को फार्मेसी कैटेगिरी में 58वां स्थान जबकि क्यूएस एशिया रैंकिंग में भी 551-600 स्थान मिला है।  इंडिया टुडे ग्रुप की ओर से कराए गए सर्वे में कुविवि को प्रदेश में पहला एवं देश में 27वां स्थान मिला है। कोरोना काल में भी अपने सामाजिक एवं शैक्षिक दायित्‍वों को पूरा करके इस विश्‍वविद्यालय ने अपनी पहचान कायम की है। 

विवि की उपलब्धियां 

- राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 का क्रियान्वयन के साथ स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में सीबीसीएस लागू किया। 

- प्लेसमेंट एंड कॉउंसलिंग सेल का पुनर्गठन किया गया। 

- इनोवेशन एंड इन्क्यूबेशन सेंटर की स्थापना की गई। 

- कॉम्पिटिटिव एग्जामिनेशन सेंटर (प्रतियोगी परीक्षा केंद्र) की स्थापना की गई। 

- शिक्षकों, लैब-लाईब्रेरी व अन्य प्रशासनिक व्यवस्थाओं के फीडबैक हेतु ऑनलाइन फॉर्म। 

- अकादमिक एवं प्रशासनिक क्रियाकलापों में पारदर्शिता एवं गुणवत्ता लाने हेतु ईआरपी० सॉफ्टवेयर सिस्टम को डेवेलप किया गया।

- एग्रोनोमी, एनवायरनमेंट, बायोकेमिस्ट्री, बायोइन्फार्मेटिक्स एवं मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी में एमएससी पाठ्यक्रम आरम्भ किया गया। 

- बीसीआई की मान्यता के पश्चात् पांच वर्षीय इंटीग्रेटेड बीए-एलएलबी पाठ्यक्रम आरम्भ किया गया।  

- डीएसबी० परिसर नैनीताल में बीएफए एवं एमएफए पाठ्यक्रम आरम्भ किया गया।

- क्रिमिनोलॉजी एवं साइबर सिक्योरिटी में क्रमशः स्नातकोत्तर एवं डिप्लोमा पाठ्यक्रम आरम्भ हुआ।

- फॉरेंसिक साइंस, बायोमेडिकल साइंस एवं मेडिकल बायोटेक्नोलॉजी के परास्नातक पाठ्यक्रम आरम्भ हुआ।   

- आईक्यूएसी सेल का पुनर्गठन एवं विस्तार करके NAAC के मूल्यांकन के प्रयास किये जा रहे हैं।  

- राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय स्तर पर 8 पेटेंट हासिल किये।

कुलपति को मिली पाठ्यक्रम निर्माण समिति के चेयरमैन की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी

नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के लिए कुलपति प्रो एनके जोशी को पाठ्यक्रम निर्माण समिति के चेयरमैन की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई है नए शैक्षणिक सत्र से विद्यार्थियों को नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत बनाये गए पाठ्यक्रमों का अध्ययन कराया जाएगा। गवर्नर एवं कुलाधिपति लेफ्टिनेंट जनरल सेवानिवृत्त गुरमीत सिंह ने भी विवि के प्रयासों की सराहना की है।

Edited By Prashant Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept