Uttarakhand Chunav 2022 : टिकट वितरण से पहले ही चम्पावत में भाजपाइयों ने अपनाए बगावती सुर

Uttarakhand Vidhan Sabha Chunav 2022 मंगलवार को टनकपुर के पार्टी कार्यकर्ताओं ने प्रदेश नेतृत्व को पत्र भेजकर सीटिंग विधायक को टिकट दिए जाने पर सामूहिक इस्तीफे की धमकी दी है। इससे पूर्व कार्यकर्ताओं ने बैठक भी की। जिसमें विधान सभा चुनाव की रणनीति पर मंथन भी किया गया।

Prashant MishraPublish: Tue, 18 Jan 2022 07:37 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 07:37 PM (IST)
Uttarakhand Chunav 2022 : टिकट वितरण से पहले ही चम्पावत में भाजपाइयों ने अपनाए बगावती सुर

जागरण संवाददाता, चम्पावत : विधान सभा चुनाव के टिकट आवंटन से पहले ही भाजपा पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने बगावती सुर अपना लिए हैं। मंगलवार को टनकपुर के पार्टी कार्यकर्ताओं ने प्रदेश नेतृत्व को पत्र भेजकर सीटिंग विधायक को टिकट दिए जाने पर सामूहिक इस्तीफे की धमकी दी है। इससे पूर्व कार्यकर्ताओं ने बैठक भी की। जिसमें विधान सभा चुनाव की रणनीति पर मंथन भी किया गया।

बैठक में मौजूद पूर्व एवं वर्तमान पदाधिकारियों ने एक मत से सीटिंग विधायक को टिकट दिए जाने पर सामूहिक इस्तीफे की चेतावनी दी। कहा कि क्षेत्र की जनता इस सीट से भाजपा से नए प्रत्याशी को देखना चाहती है। लेकिन बैठक में किसे टिकट दिया जाना है इस बात का जिक्र नहीं हुआ। वक्ताओं ने कहा कि कार्यकर्ताओं की भावनाओं का सम्मान नहीं किया गया तो वे अपने पदों से इस्तीफा देकर पार्टी की सदस्यता से भी त्यागपत्र दे देंगे। सूत्रों के अनुसार बैठक में मौजूद सभी लोगों ने नब्ज टटोलने आए पार्टी पर्यवेक्षकों के सामने भी सीटिंग विधायक को टिकट नहीं देने की मांग की थी। टिकट वितरण का कार्य अंतिम चरण में है। एक दो दिन में पार्टी अपने प्रत्याशियों के नामों की घोषणा कर देगी। लेकिन ऐन वक्त पार्टी पदाधिकारियों के बगावती सुर भाजपा को काफी नुकसान पहुंचा सकते हैं।

बैठक में अनुसूचित मोर्चा जिलाध्यक्ष मदन कुमार, भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष मोहित गडक़ोटी, भाजयुमो मंडल अध्यक्ष कपिल उप्रेती, मंडल महामंत्री पुष्कर सिंह महर, धूरा शक्ति केंद्र के प्रभारी शंकर जोशी, पूर्व जिला मंत्री योगेश जोशी, इंटरनेट मीडिया के जिला संयोजक अक्षत अग्रवाल, भाजयुमो के पूर्व जिला महामंत्री मुकेश साहू, पूर्व मंडल अध्यक्ष भीम रजवार, शत्रुघ्न कोठारी, दिनेश कुमार, रोशल लाल, राज किशोर भंडारी, पंकज कुमार, हर्षित कुमार, कृष्णा कुमार सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Edited By Prashant Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept