चम्पावत के कोलीढेक झील में कार्य कर रहे चालक व आपरेटर हादसे में मौत

कोली ढेक पुल के पास सोमवार रात्रि झील में बाइक संख्या यूके 06ए-08627 से जा रहे थे कि बाइक अनियंत्रित होकर लोहावती नदी में गिर गई। रात का वक्त होने के कारण किसी को भी हादसे की खबर नहीं हो पाई।

Prashant MishraPublish: Wed, 19 Jan 2022 12:45 AM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 12:45 AM (IST)
चम्पावत के कोलीढेक झील में कार्य कर रहे चालक व आपरेटर हादसे में मौत

संवाद सहयोगी, लोहाघाट : कड़ाके की ठंड व रात के सन्नाटे में लोहावती नदी में गिरे दो बाइक सवारों की मौत हो गई। सुबह सूचना पर पहुंची पुलिस व फायर टीम ने शवों को खाई से बाहर निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। दोनों युवक निर्माणाधीन कोलीढेक निर्माणाधीन झील में ट्रेक्टर चालक व मिक्सर मशीन आपरेटर हैं।

निर्माणाधीन कोलीढेक में कार्य करने वाले 32 वर्षीय ट्रेक्टर चालक सुबोध राय पुत्र राम प्रसाद निवासी वार्ड नंबर 12 बिसारा जिला समस्तीपुर बिहार और 32 वर्षीय मिक्सर मशीन आपरेटर चंदन राणा पुत्र पोती ङ्क्षसह राणा निवासी बमनपुरी बनबसा लोहाघाट बाजार आए थे। कोली ढेक पुल के पास सोमवार रात्रि झील में बाइक संख्या यूके 06ए-08627 से जा रहे थे कि बाइक अनियंत्रित होकर लोहावती नदी में गिर गई। रात का वक्त होने के कारण किसी को भी हादसे की खबर नहीं हो पाई। जिस कारण ठंड में पड़े रहने व समय से उपचार न मिल पाने के कारण दोनों की मौत हो गई। मंगलवार सुबह आसपास के लोगों को घटना की जानकारी हुई तो लोगों ने पुलिस को घटना की जानकारी दी। सूचना पर थानाध्यक्ष जसवीर ङ्क्षसह चौहान पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और फायर कर्मियों के साथ बड़ी मशक्कत के बाद बाइक व शवों को बाहर निकाल कर पीएम के लिए भेजा। शवों को पोस्टमार्टम उप जिला अस्पातल के चिकित्सक डा. अमन अग्रवाल और डा. सोनाली मंडल ने किया। मृतकों के स्वजनों को घटना की सूचना दे दी है।  बताया जा रहा है कि चंदन राणा लगभग दो साल से तथा सुबोध राय सात माह से निर्माणाधीन कोलीढेक झील में कार्य कर रहे थे। 

पैराफिट व रैलिंग होती तो टल जाता हादसा

बाइक दुर्घटना को लेकर लोगों में  लोनिवि विभाग के खिलाफ आक्रोश पैदा हो गया है। जगत ङ्क्षसह, प्रकाश ङ्क्षसह, हरीश ङ्क्षसह ने कहा कि पुल के समीप रैङ्क्षलग और पैराफिट होते तो वाहन दुर्घटना होने से बच सकती थी। लोगों ने शीघ्र रैङ्क्षलग और पेराफिट बनाने की मांग की है। अन्यथा बड़ी दुर्घटना हो सकती है। 

मृदुल स्वभाव के थे दोनों युवक 

निर्माणाधीन कोलीढेक झील में कार्य कर रहे लोगों ने बताया सुबोध राय के दो बच्चे है चंदन राणा की अभी शादी नहीं हुई है। दोनों ही युवक मृदुल स्वभाव के थे। जब कार्य के लिए निर्माणाधीन स्थल पर आते थे सबके साथ हंसना बोलना और खुश रहते थे। कार्य कर रहे लोग बोले सुबह जब सुबह दुर्घटना की सूचना मिली तो यकीन नहीं हो रहा था कि दुर्घटना में दोनों युवक काल के गाल में समा गए होंगे। घटना के बाद कोलीढेक निर्माणाधीन क्षेत्र में सन्नाटा पसरा रहा है। मंगलवार को घटना के बाद मजदूरों ने काम की छूट्टी कर दी। मृतक चंदन राणा का शव स्वजनों को सौंप दिया गया है। जबकि सुबोध राय के स्वजन बुधवार तक लोहाघाट पहुंचेंगे। 

Edited By Prashant Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम