जानिए कौन हैं ब्रिगेडियर अजय सिंह नेगी, जिन्हें अदम्य साहस व वीरता के लिए दूसरी बार दिया गया विशिष्ट सेवा मेडल

नैनीताल के आल्मा कॉटेज निवासी व गढ़वाल राइफल्स के ब्रिगेडियर अजय सिंह नेगी आजकल दिल्ली में तैनात हैं। अजय सिंह नेगी को दूसरी बार विशिष्ट सेवा मेडल लिए चुना गया है। राष्ट्रपति की ओर से यह सम्मान प्रदान किया जाएगा।

Prashant MishraPublish: Tue, 25 Jan 2022 11:43 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 11:43 PM (IST)
जानिए कौन हैं ब्रिगेडियर अजय सिंह नेगी, जिन्हें अदम्य साहस व वीरता के लिए दूसरी बार दिया गया विशिष्ट सेवा मेडल

जागरण संवाददाता, नैनीताल।  गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर सरोवर नगरी के लाल को उनकी वीरता व अदम्य साहस के लिए राष्ट्रपति की ओर विशिष्ट सेवा मेडल अवार्ड के लिए घोषित किया गया है। नैनीताल के ब्रिगेडियर अजय सिंह नेगी को दूसरी बार विशिष्ट सेवा मेडल  लिए चुना गया है। उनको सम्मान के लिए चयनित होने पर स्वजनों में बेहद उत्साह है। राष्ट्रपति की ओर से यह सम्मान प्रदान किया जाएगा।

नैनीताल के आल्मा कॉटेज निवासी व गढ़वाल राइफल्स के ब्रिगेडियर अजय सिंह नेगी आजकल दिल्ली में तैनात हैं। बचपन से ही सेना में जाने के इच्छुक नेगी की प्रारंभिक शिक्षा भारतीय शहीद सैनिक स्कूल नैनीताल से हुई। इंटरमीडिएट पास होने के बाद डीएसबी से बीएससी किया। एमएससी में प्रवेश के दौरान सेंट्रल डिफेंस एकेडमी में चयन हो गया। पिछले करीब साढ़े तीन दशक की सेवा के दौरान ब्रिगेडियर नेगी ने जम्मू कश्मीर में कारगिल लद्दाख के साथ ही अन्य सेक्टर में सैन्य अभियानों का नेतृत्व करते हुए आतंकियों का सफाया किया। पूर्वोत्तर के राज्य मणिपुर समेत अन्य में भी अद्म्य साहस का परिचय देते हुए पृथकतावादी संगठनों को भारी नुकसान पहुंचाया। उनके परिवार के सदस्य व चिनार संस्था के संस्थापक प्रदीप मेहता के अनुसार ब्रिगेडियर नेगी के पिता भगवत नेगी नैनीताल के पॉलिटेक्निक में सेवारत रहे। ब्रिगेडियर नेगी को दूसरी बार यह सम्मान मिला है। ब्रिगेडियर नेगी ने नैनीताल में आयोजित खेल प्रतियोगिता में भी शानदार प्रदर्शन किया।

Edited By Prashant Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept