Pandit Birju Maharaj : नैनीताल दो बार आए थे बिरजू महराज, शरदोत्सव पर दी थी अविस्मरणीय प्रस्तुति

2003-04 में तत्कालीन डीएम अमित कुमार घोष व तत्कालीन एसएसपी जीवन पांडे ने मंच पर जाकर बिरजू महाराज को गले लगा लिया था। इसके अलावा 90 के दशक के पहले भी शरदोत्सव में नैनीताल क्लब में आयोजित कार्यक्रम में बिरजू महाराज ने प्रस्तुति दी थी।

Prashant MishraPublish: Mon, 17 Jan 2022 10:25 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 10:25 PM (IST)
Pandit Birju Maharaj : नैनीताल दो बार आए थे बिरजू महराज, शरदोत्सव पर दी थी अविस्मरणीय प्रस्तुति

जागरण संवाददाता, नैनीताल : प्रसिद्ध कथक सम्राट बिरजू महाराज के निधन से सरोवर नगरी के रंगकर्मी शोकसंतप्त हैं। बिरजू महाराज ने नैनीताल शरदोत्सव में प्रस्तुति दी थी। वह नैनीताल में दो बार आए थे। 

राज्य बनने के बाद आयोजित शरदोत्सव में बिरजू महाराज ने फ्लैट्स मैदान पर बने मुख्य मंच पर शानदार प्रस्तुति दी थी। रंगकर्मी जहूर आलम बताते हैं कि जब बिरजू महाराज ने करीब एक घंटे की प्रस्तुति दी थी तो लोग झूम उठे थे। यह वह दौर था जब नैनीताल शरदोत्सव में शास्त्रीय संगीत, मुशायरा व कवि सम्मेलन में दर्शकों की मौजूदगी भरपूर रहती थी। जब बिरजू महाराज ने प्रस्तुति दी तो दर्शकों ने तालियां बजाकर उनका अभिवादन किया।

2003-04 में तत्कालीन डीएम अमित कुमार घोष व तत्कालीन एसएसपी जीवन पांडे ने मंच पर जाकर बिरजू महाराज को गले लगा लिया था। इसके अलावा 90 के दशक के पहले भी शरदोत्सव में नैनीताल क्लब में आयोजित कार्यक्रम में बिरजू महाराज ने प्रस्तुति दी थी। पूर्व पालिकाध्यक्ष मुकेश जोशी मंटू बताते हैं कि तब वह पालिका के सभासद थे और बिरजू महाराज ने स्टेज पर जब कथक नृत्य पेश किया तो हर कोई हैरान रह गया। नैनीताल के जयलाल साह बाजार निवासी पूनम जोशी बिरजू महाराज की शिष्या हैं, उन्होंने भी यहां प्रस्तुति दी है। पूनम जोशी अब राजस्थान में रहती हैं।

Edited By Prashant Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept