This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Tokyo Olympic: हाकी खिलाड़ी वंदना कटारिया ने स्‍वजनों को संयम से काम लेने की दी सलाह, कहा- शर्मनाक हरकत करने वालों को देश देगा जवाब

टोक्यो ओलिंपिक में हैट्रिक लगाने वाली भारतीय महिला हाकी टीम की एकमात्र खिलाड़ी वंदना कटारिया ने कहा कि बेटियों ने देश का मान बढ़ाया है। उन्होंने उनके घर के बाहर आतिशबाजी करने के साथ ही जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करने वालों को महामूर्ख करार दिया।

Sunil NegiFri, 06 Aug 2021 11:13 PM (IST)
Tokyo Olympic: हाकी खिलाड़ी वंदना कटारिया ने स्‍वजनों को संयम से काम लेने की दी सलाह, कहा- शर्मनाक हरकत करने वालों को देश देगा जवाब

जागरण संवाददाता, हरिद्वार : टोक्यो ओलिंपिक में हैट्रिक लगाने वाली भारतीय महिला हाकी टीम की एकमात्र खिलाड़ी वंदना कटारिया ने कहा कि बेटियों ने देश का मान बढ़ाया है। उन्होंने उनके घर के बाहर आतिशबाजी करने के साथ ही जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करने वालों को महामूर्ख करार दिया और कहा कि ऐसी शर्मनाक हरकत करने वालों को देश जवाब देगा। अपने परिवार के सदस्यों को सलाह दी कि वे परेशान न हों और संयम बरतते हुए इस पर किसी तरह की प्रतिक्रिया न दें।

पिछले दिनों अर्जेंटीना से हुए मुकाबले में भारत की हार के बाद कुछ शरारती तत्वों ने वंदना के घर के बाहर पटाखे छोड़े और जातिसूचक शब्दों के साथ अभद्र टिप्पणी की थी। शुक्रवार को ग्रेट ब्रिटेन के साथ खेले गए रोमांचक मुकाबले के बाद वंदना ने हरिद्वार के रोशनाबाद स्थित अपने घर पर मां और तीन भाइयों से फोन पर बात की। उनके भाई चंद्रशेखर ने बताया कि शरारती तत्वों की हरकत के बाद उनकी मां सोरण देवी का स्वास्थ्य खराब हो गया। अभी उनका इलाज चल रहा है। वंदना के साथ हुई बातचीत को साझा करते हुए उन्होंने बताया कि बहन ने कहा है कि 'ऐसी हरकत करने वालों को भी हम पर गर्व होना चाहिए, क्योंकि मैंने उनका और गांव का भी तो मान बढ़ाया है।' वंदना ने मां के स्वास्थ्य को लेकर चिंता जताई।

कहा कि तुम मां का ध्यान रखो। भाई पंकज ने कहा कि इस घटना से वंदना आहत तो हैं, लेकिन उन्होंने न केवल खुद को संभाला, बल्कि परिवार की भी हिम्मत बढ़ाई। पंकज और चंद्रशेखर के अनुसार टोक्यो ओलिंपिक में भाग ले रही वंदना की इन दिनों परिवार से बेहद कम बात हो पाती है। उनका पूरा ध्यान अपने खेल पर रहता है।

मेरे और परिवार के लिए कठिन दौर

वंदना के घर के बाहर शरारती तत्वों की हरकत के बाद इंटरनेट मीडिया पर उनके नाम से एक ट्विीटर अकाउंट पर चल रही प्रतिक्रियाओं को लेकर भी उन्होंने स्थिति साफ की है। ट्विीट कर उन्होंने कहा है कि इस समय वह और उनका परिवार कठिन दौर से गुजर रहा है। समर्थकों का आभार जताते हुए वंदना ने आग्रह किया कि जिस अकाउंट को उनके नाम से इस्तेमाल किया जा रहा है, वह फेक है। उन्होंने समर्थकों से अपील की कि इस अकाउंट पर प्रतिक्रिया देकर मुश्किलें न बढ़ाएं।

पीएम ने सराहा तो मां हुई भावुक

टोक्यो ओलिंपिक में ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ खेले गए मैच के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फोन पर भारतीय महिला हाकी टीम से बात कर उनकी हौसलाफजाई की। बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री ने वंदना कटारिया की तारीफ की। प्रधानमंत्री के शब्दों से वंदना के घर-परिवार के साथ ही उत्तराखंड भी गौरवान्वित है। पीएम की सराहना से वंदना की मां सोरण देवी भावुक हो गईं। कहा कि यह उनके लिए गर्व का पल है। वंदना ने अपने प्रदर्शन और मेहनत से देश का मान बढ़ाया है। प्रधानमंत्री ने फोन पर उसकी तारीफ की है। यदि आज वंदना के पिता होते हो फूले नहीं समाते। वंदना के पिता नाहर सिंह का 30 मई को निधन हो गया था। वंदना की मां ने प्रधानमंत्री आभार जताते हुए कहा कि अब टीम दोगुने जोश के साथ भविष्य में होने वाली प्रतियोगिताओं में उतरेगी। वंदना की इस उपलब्धि पर इंटरनेट मीडिया पर बड़ी संख्या में खेलप्रेमियों ने उन्हें बधाई दी।

वंदना समेत 22 को तीलू रौतेली पुरस्कार

देहरादून : टोक्यो ओलिंपिक में भारतीय महिला हाकी टीम की सदस्य रही वंदना कटारिया समेत विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली 22 महिलाओं व किशोरियों को आठ अगस्त को उत्तराखंड के प्रतिष्ठित तीलू रौतेली राज्य स्त्री शक्ति पुरस्कार से नवाजा जाएगा। पहली बार इन पुरस्कारों में कोरोना योद्धा को भी शामिल किया गया है। वीरबाला तीलू रौतेली के नाम प्रदेश सरकार ने वर्ष 2006 से महिला सशक्तीकरण के क्षेत्र में कार्य करने वाली महिलाओं व किशोरियों के लिए तीलू रौतेली राज्य स्त्री पुरस्कार की शुरुआत की थी। दूसरी ओर देहरादून स्थित ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी ने वंदना को 11 लाख रुपये का पुरस्कार प्रदान किया। ग्राफिक एरा एजुकेशनल ग्रुप की वरिष्ठ पदाधिकारी राखी घनशाला ने शुक्रवार को हरिद्वार में वंदना के घर पहुंची और उनकी मां व भाई चेक भेंट किया।

वंदना कटारिया के घर पहुंचे विधायक देशराज कर्णवाल

आज विधायक देशराज कर्णवाल वंदना कटारिया के घर पहुंचे। अनुसूचित जाति से जुड़े संगठनों के पदाधिकारियों ने वंदना के परिजनों को समर्थन दिया। झबरेड़ा विधायक देशराज कर्णवाल ने कहा कि यह हरिद्वार की बेटी का अपमान नहीं, बल्कि पूरे दलित समाज का अपमान है। जिसे किसी भी सूरत में सहन नहीं किया जाएगा। भाजपा विधायक ने एसएसपी हरिद्वार से फोन पर बात कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। उन्होंने कहा कि आरोपितों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए। वहीं, आजाद समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष महक सिंह के साथ भीम आर्मी कार्यकर्त्‍ताओं ने भी वंदना के घर पहुंच कर घटना पर नाराजगी जताई। सीवी महासंघ समेत कई संगठनों के पदाधिकारी वंदना कटारिया के घर पहुंचे हैं।

फरार तीसरे आरोपित की गिरफ्तारी के लिए छापे

वंदना कटारिया मामले में फरार तीसरे आरोपित की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने छापे मारे। पुलिस कोर्ट से गैर जमानती वारंट लेने की तैयारी कर रही है। ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम के हारने के बाद हरिद्वार के रोशनाबाद में हाकी खिलाड़ी वंदना कटारिया के घर के बाहर पटाखे फोड़ने वाले दो सगे भाई अंकुर पाल और विजयपाल को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। तीसरे आरोपित सुमित चौहान की तलाश में पुलिस दबिश डाल रही है, लेकिन वह पुलिस के हाथ नहीं आ पाया है। इस मामले में पुलिस अब उस पर कानूनी शिकंजा कसने की तैयारी में है। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि आरोपित के गैर जमानती वारंट लिए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें:- Tokyo Olympic: वंदना कटारिया के समर्थन में आए लोग, कहा जातिसूचक शब्द कहने वालों के खिलाफ दर्ज हो मुकदमा

Edited By: Sunil Negi

हरिद्वार में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
Jagran Play

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

  • game banner
  • game banner
  • game banner
  • game banner