उत्तराखंड में मौसम शुष्क, मैदानों में कोहरा और पहाड़ों में पाला मुसीबत; इस दिन सक्रिय हो सकता है पश्चिमी विक्षोभ

Today Uttarakhand Weather News Update दिन में चटख धूप खिलने से ठंड से फौरी राहत है लेकिन सुबह-शाम मैदानी क्षेत्रों में कोहरा और पहाड़ों में पाला दुश्वारी बढ़ा रहा है। शाम को बर्फीली हवाएं कंपकंपी छुटा रही हैं। मौसम विभाग के मुताबिक अगले तीन दिन मौसम सामान्य रहेगा।

Raksha PanthriPublish: Sun, 16 Jan 2022 07:55 AM (IST)Updated: Sun, 16 Jan 2022 07:55 AM (IST)
उत्तराखंड में मौसम शुष्क, मैदानों में कोहरा और पहाड़ों में पाला मुसीबत; इस दिन सक्रिय हो सकता है पश्चिमी विक्षोभ

जागरण संवाददाता, देहरादून। Today Uttarakhand Weather News Update उत्तराखंड में मौसम शुष्क बना हुआ है। दिन में चटख धूप खिलने से ठंड से फौरी राहत है, लेकिन सुबह-शाम मैदानी क्षेत्रों में कोहरा और पहाड़ों में पाला दुश्वारी बढ़ा रहा है। शाम को बर्फीली हवाएं कंपकंपी छुटा रही हैं। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले तीन दिन मौसम सामान्य रहेगा। उसके बाद पहाड़ों में मौसम के करवट बदलने के आसार हैं।

पिछले करीब पांच दिनों से प्रदेश में मौसम सामान्य है। ज्यादातर इलाकों का तापमान भी सामान्य के आसपास बना हुआ है। कोहरे और पाले के कारण सुबह और शाम कड़ाके की ठंड महसूस की जा रही है। ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी के कारण बाधित मार्ग भी सुचारु हो गए हैं। साथ ही चारधाम समेत तमाम मार्ग यातायात के लिए खुले हुए हैं। ऊधमसिंह नगर और हरिद्वार में सुबह कोहरे के कारण यातायात प्रभावित हो रहा है।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, मंगलवार तक मौसम का मिजाज ऐसा ही रहेगा। जबकि, बुधवार को ताजा पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के कारण पर्वतीय इलाकों में कहीं-कहीं हल्की बारिश और बर्फबारी हो सकती है।

खतरा बना मलबा, फिसल रहे हैं वाहन, लोग परेशान

कोटद्वार-दुगड्डा के मध्य कोटद्वार से करीब आठ किलोमीटर आगे राष्ट्रीय राजमार्ग पर गिरा मलबा दोपहिया वाहनों के लिए मुसीबत बन रहा है। लगातार पड़ रहे पाले से गीले हुए मलबे की चपेट में आने से आए दिन दोपहिया वाहन चालक घायल हो रहे हैं। बाजवूद इसके भी राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग समस्या को लेकर गंभीर नहीं दिख रहा। राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारी वाहनों की आवाजाही के दौरान भी लंबा जाम लग रहा है।

28 दिसंबर को कोटद्वार- दुगड्डा के मध्य कोटद्वार से करीब आठ किलोमीटर आगे सड़क का एक बड़ा हिस्सा ढह गया था। राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग ने इस स्थान पर चट्टान की कटिंग कर सड़क की वैकल्पिक व्यवस्था बनाकर यातायात सुचारू करवाया था, लेकिन सात जनवरी को हुई बारिश के बाद उक्त स्थान पर लगातार चट्टान से मलबा गिर रहा है। कई बार भारी वाहन भी मलबे में फंस चुके हैं।

ऐसे में सबसे अधिक परेशानी दोपहिया वाहन चालकों को हो रही है। मार्ग पर जगह-जगह पड़ी गीली मिट्टी की चपेट में आने से दोपहिया वाहन अनियंत्रित होकर रपट रहे हैं। शुक्रवार देर शाम कोटद्वार से दुगड्डा की ओर जा रहा एक बाइक चालक मिट्टी में रपट गया था, जिसे अन्य वाहन चालकों ने दुगड्डा के एक निजी क्लीनिक में उपचार के लिए पहुंचाया। इससे पूर्व भी कई दोपहिया वाहन चालक उक्त स्थान पर चोटिल हो चुके हैं। मार्ग से आवाजाही करने वालों ने राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग से मलबे के आसपास चूना डलवाने की मांग की है।

Edited By Raksha Panthri

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम