Uttarakhand Election: कोई विधायक करोड़पति तो किसी के पास कार नहीं, यहां मिलेगी रोचक जानकारी

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 धर्मपुर विधानसभा सीट की करें तो कांग्रेस प्रत्याशी दिनेश अग्रवाल करोड़पति हैं जबकि भाजपा प्रत्याशी मौजूदा विधायक विनोद चमोली के पास कार तक नहीं है। ऐसा नहीं कि चमोली के पास धन की कोई कमी हो।

Raksha PanthriPublish: Fri, 28 Jan 2022 01:32 PM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 01:32 PM (IST)
Uttarakhand Election: कोई विधायक करोड़पति तो किसी के पास कार नहीं, यहां मिलेगी रोचक जानकारी

जागरण संवाददाता, देहरादून। Uttarakhand Vidhan Sabha Election 2022 उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 के लिए दलों ने अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। इन प्रत्याशियों में कई तो करोड़पति हैं तो कई ऐसे भी हैं, जिनके पास वाहन तक नहीं। बात धर्मपुर विधानसभा सीट की करें तो कांग्रेस प्रत्याशी दिनेश अग्रवाल करोड़पति हैं, जबकि भाजपा प्रत्याशी मौजूदा विधायक विनोद चमोली के पास कार तक नहीं है। ऐसा नहीं कि चमोली के पास धन की कोई कमी हो, लेकिन चुनाव आयोग के समक्ष दिए शपथ-पत्र में उन्होंने अपने आप को 'बे-कार' बताया है। धर्मपुर में भाजपा और कांग्रेस के अलावा आम आदमी पार्टी, सपा औरबसपा के प्रत्याशी भी मैदान में हैं, मगर किसी करिश्में को छोड़ दें तो सीधी टक्कर अग्रवाल और चमोली में मानी जा रही।

दिनेश की संपत्ति डेढ़गुना, चमोली की दोगुना बढ़ी

वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव की तुलना करें तो विनोद चमोली की संपत्ति दोगुनी से अधिक हो गई। वर्ष 2017 में उनके पास नकद, जेवरात, निवेश व बैंक जमा समेत चल संपत्ति के रूप में कुल 18.95 लाख रुपये थे, जबकि वर्ष 2022 में उनकी चल संपत्ति बढ़कर 40 लाख हो गई। इसी तरह उनकी पत्नी शशि चमोली के पास 2017 में 27.62 लाख रुपये की चल संपत्ति थी, जो 2022 में 95.55 लाख रुपये पहुंच गई। वहीं, दिनेश अग्रवाल की बात करें तो वर्ष 2017 में उनके पास चल संपत्ति के रूप में 1.39 करोड़ रुपये जबकि वर्ष 2022 में यह राशि 1.94 करोड़ रूपये हो गई। उनकी पत्नी भावना के पास 2017 में 1.16 करोड़ रुपये की चल संपत्ति थी, जो वर्ष 2022 में 1.57 करोड़ रुपये पहुंच गई। यानी, चमोली की तुलना में अग्रवाल की संपत्ति महज डेढ़ फीसद बढ़ी। 2017 में अग्रवाल व चमोली के पास कोई वाहन नहीं था, जबकि 2022 में अग्रवाल के पास एक 2018 माडल इनोवा गाड़ी है, जबकि चमोली के पास अभी भी कोई वाहन नहीं है।

दिनेश अग्रवाल व उनकी पत्नी भावना अग्रवाल की कुल संपत्ति

दिनेश अग्रवाल, भावना अग्रवाल

नकद: 1.70 लाख, 1.90 लाख

बैंक जमा: 1.69 करोड़, 1.16 करोड़

निवेश: 5.83 लाख, 26.35 लाख

वाहन: एक इनोवा, कोई वाहन नहीं

जेवरात: 45 ग्राम सोना (1.80 लाख), 350 ग्राम सोना (14 लाख) व 500 ग्राम चांदी (30 हजार)

अचल संपत्ति: 6.72 करोड़, 1.26 करोड़

ऋण: कोई नहीं, 45.26 लाख

कुल चल-अचल संपत्ति: 8.66 करोड़, 2.83 करोड़

विनोद चमोली व उनकी पत्नी शशि चमोली की कुल संपत्ति

विनोद चमोली, शशि चमोली

नकद: 50 हजार, 45 हजार

बैंक जमा: 16.40 लाख, 10.32 लाख

निवेश: 17.14 लाख, 69.28 लाख

वाहन: कोई नहीं, कोई नहीं

जेवरात: 120 ग्राम सोना छह लाख, 310 ग्राम सोना 15.50 लाख

अचल संपत्ति: 40 लाख, 1.25 करोड़

ऋण: कोई नहीं, 16.19 लाख

कुल चल-अचल संपत्ति: 80 लाख, 2.20 करोड़

पांच साल में साढ़े चार गुना हो गई हीरा सिंह की संपत्ति

रायपुर सीट से कांग्रेस प्रत्याशी हीरा सिंह बिष्ट की संपत्ति पांच साल में करीब साढ़े चार गुना हो गई है। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने अपनी कुल संपत्ति एक करोड़ 41 लाख रुपये घोषित की थी, जबकि इस चुनाव में उन्होंने अपनी संपत्ति पांच करोड़ 35 लाख रुपये से अधिक घोषित की है।

नामांकन के दौरान दाखिल किए गए शपथ पत्र के मुताबिक हीरा सिंह की वार्षिक आय (इनकम टैक्स रिटर्न के अनुसार) नौ लाख 16 हजार 800 रुपये है। उनका पेशा अधिवक्ता और खेतीबाड़ी करना है। वहीं, हीरा सिंह की पत्नी प्रेमलता ने अपनी वार्षिक आय पांच लाख रुपये घोषित की है। उनकी चल-अचल संपत्ति पांच साल पहले 30.35 लाख रुपये थी, जो अब 65 लाख रुपये से अधिक है। हीरा सिंह के पास 100 ग्राम सोना तो उनकी पत्नी के पास 400 ग्राम सोना है। 81 वर्षीय हीरा सिंह एमए, एलएलबी हैं। उन पर ढाई लाख रुपये का कार ऋण भी है। हीरा सिंह के पास कुल 94.35 लाख रुपये की चल संपत्ति है और उनकी पत्नी के पास 32.68 लाख रुपये की।

हीरा सिंह और उनकी पत्नी की संपत्ति

चल संपत्ति

हीरा सिंह बिष्ट, प्रेमलता

हाथ में नकद

2.75 लाख रुपये, 2.5 लाख रुपये

बैंकों में जमा

81 लाख रुपये, 14 लाख रुपये

सोना व आभूषण

चार लाख रुपये कीमत, 18.40 लाख रुपये कीमत

अचल संपत्ति

4.41 करोड़ रुपये, 32.34 लाख रुपये

प्रीति के पास साढ़े तीन लाख की संपत्ति

चुनाव लड़ने के लिए संपत्ति पैमाना नहीं होती। यही कारण है कि मोटे बैंक बैलेंस और करोड़ों रुपये की अचल संपत्ति वालों के साथ ही कुछ लाख रुपये की संपत्ति वाले प्रत्याशी भी आमने-सामने हैैं। रायपुर सीट पर न्याय धर्मसभा की प्रत्याशी प्रीति डिमरी के नाम पर किसी तरह की अचल संपत्ति नहीं है और उनके पास कोई वाहन भी नहीं है। बैैंक में महज 1.79 लाख रुपये जमा हैं। इसमें उनके सोने के आभूषण भी जोड़ दिए जाएं तो कुल संपत्ति 3.49 लाख रुपये ही बैठती है।

कांग्रेस प्रत्याशी थापली के पास नहीं कोई वाहन

मसूरी विधानसभा सीट से कांग्रेस की प्रत्याशी गोदावरी थापली ने नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है। इस दौरान दिए गए ब्योरे में उन्होंने अपनी संपत्ति 60 लाख रुपये और पति की करीब सवा करोड़ रुपये संपत्ति दर्शायी है। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में दर्शायी गई संपत्ति से तुलना करें तो गोदावरी थापली की संपत्ति जस की तस है, जबकि पति की संपत्ति साढ़े तीन गुना के करीब घटी है। हालांकि, इस बीच थापली दंपती ने बैंक कर्ज 40 लाख रुपये से शून्य कर दिया है।

नामांकन पत्र के साथ गोदावरी थापली की ओर से अपनी और पति की संपत्ति का हलफनामा जमा किया गया है। जिसके मुताबिक गोदावरी थापली के पास वर्तमान में दो लाख 20 हजार रुपये और पति के पास साढ़े तीन लाख रुपये नकद हैं। उनके बैंक खाते में 25 हजार और पति के खाते में करीब पौने तीन लाख रुपये हैं। थापली दंपती के पास 2017 में 250 ग्राम सोना था, जोकि अभी भी यथावत है। पूर्व में थापली दंपती के पास एक मोटरसाइकिल थी, लेकिन वर्तमान में उनके पास कोई वाहन नहीं है। वर्ष 2017 के हलफनामे के अनुसार गोदावरी थापली के पास 70 हजार नकद, उनके पति के पास 80 हजार रुपये कैश था। साथ ही गोदावरी की कुल संपत्ति 60 लाख रुपये और पति की संपत्ति पांच करोड़ से अधिक थी।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Election 2022 : जानिए कितनी संपत्ति के मालिक हैं उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

Edited By Raksha Panthri

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept