कांग्रेस के सवाल पर भाजपा का जोरदार प्रहार, कहा- सैनिकों का हमेशा अपमान करती आई है कांग्रेस

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी ने कहा कि कांग्रेस सैनिकों का अपमान करती आई है। सेना को अत्याधुनिक हथियारों और साजोसामान की आवश्यकता को भी पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने हाशिये पर रखा था। जानिए उन्होंने और क्या कहा।

Raksha PanthriPublish: Sat, 29 Jan 2022 08:54 AM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 08:54 AM (IST)
कांग्रेस के सवाल पर भाजपा का जोरदार प्रहार, कहा- सैनिकों का हमेशा अपमान करती आई है कांग्रेस

राज्य ब्यूरो, देहरादून। कांग्रेस की ओर से उठाए गए सेना की अनदेखी के प्रश्न पर भाजपा ने जोरदार प्रहार किया है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता सुरेश जोशी ने कहा कि कांग्रेस सैनिकों का अपमान करती आई है। सेना को अत्याधुनिक हथियारों और साजोसामान की आवश्यकता को भी पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने हाशिये पर रखा था।

भाजपा नेता जोशी ने कहा कि कांग्रेस ने अपने शासनकाल में कभी भी सेना और सैनिकों का सम्मान नहीं किया। वर्ष 1997 से पहले जब सीमा पर जवान शहीद होते थे तो कांग्रेस सरकार एक काला बक्सा, काला कंबल और पांच पैसे का पोस्टकार्ड भेजकर सैनिक परिवारों को सूचित कर देती थी। भाजपा की अटल सरकार ने पहली बार शहीदों के पार्थिव शरीर ससम्मान उसकी मातृभूमि तक पहुंचाने का कार्य किया। शहीदों के परिवार की चिंता करते हुए समुचित आर्थिक और अन्य मदद की परंपरा प्रारंभ की।

उन्होंने कहा कि भाजपा की मोदी सरकार ने वर्षों से लंबित वन रैंक-वन पेंशन की मांग को पूरा किया, जबकि कांग्रेस सरकारों ने इसे लटकाए रखा। उन्होंने कहा कि यह वही कांग्रेस है, जिसके कार्यकाल में सेना के हाथ बंधे थे। दुश्मनों के हमले का जवाब देने तक के लिए सेना को सरकार से अनुमति लेनी पड़ती थी। मोदी सरकार आने के बाद सेना को दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब देने की स्वतंत्रता मिली हुई है।

जोशी ने कहा कि कांग्रेस सरकारों ने सेना के आधुनिकीकरण को हमेशा हाशिये पर रखा। वर्ष 2014 में मोदी सरकार आने के बाद अत्याधुनिक विमान वायुसेना के बेड़े में सम्मिलित किए गए। सुखोई टी-4 जैसा अत्याधुनिक सयंत्र सेना को सौपा गया। नवीनतम तकनीकी से युक्त हथियार सेना को सौंपे जा रहे हैं। पूर्व सैनिकों व अद्र्ध सैनिक बलों के कार्मिकों व उनके परिवारों को अनेक सुविधाएं भी दी गई है। महिलाओं को सेना में स्थायी कमीशन में पूरा अधिकार मिला है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को अपनी गलतियों से सबक लेते हुए सेना का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें- पूर्व सैनिकों, महिलाओं और अनुसूचित जाति को साध गए अमित शाह, उन मुद्दों से भावनाओं को छुआ

Edited By Raksha Panthri

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept