विधानसभा चुनाव के लिए यहां मास्टर बनकर हाजिरी ले रहे हैं थाना प्रभारी, जानें- क्या है इसके पीछे की वजह

Uttarakhand Election 2022 वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र सिंह रावत के निर्देश पर सभी थाना कोतवालियों में रोजाना तीन बार पुलिसकर्मियों की अटेंडेंस ली जा रही है। उन्हें साफ हिदायत दी गई है कि चुनाव तक कोई भी पुलिसकर्मी तैनाती स्थल से दूर नहीं जाएगा।

Raksha PanthriPublish: Thu, 20 Jan 2022 11:06 AM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 11:06 AM (IST)
विधानसभा चुनाव के लिए यहां मास्टर बनकर हाजिरी ले रहे हैं थाना प्रभारी, जानें- क्या है इसके पीछे की वजह

मेहताब आलम, हरिद्वार। Uttarakhand Election 2022 स्कूल टाइम में पढ़ाई से बचने के लिए बंक मारने वाली शरारत से सब लोग वाकिफ हैं। छात्रों को बंक मारने से रोकने के लिए दिन में दो से तीन बार हाजिरी का फार्मूला भी अपनाया जाता था। दूसरी या तीसरी अटेंडेंस में गैर हाजिर रहने वाले छात्रों को अगली सुबह सजा भी मिलती थी। चुनावी मौसम में यही फार्मूला पुलिस अपना रही है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र सिंह रावत के निर्देश पर सभी थाना कोतवालियों में रोजाना तीन बार पुलिसकर्मियों की अटेंडेंस ली जा रही है। उन्हें साफ हिदायत दी गई है कि चुनाव तक कोई भी पुलिसकर्मी तैनाती स्थल से दूर नहीं जाएगा।

जिले के लगभग सभी थाने कोतवालियों में पुलिसकर्मियों के लिए बैरक बनी हैं। आधे से ज्यादा थाना कोतवाली में पुलिसकर्मियों के आवास भी बने हैं। कुछ पुलिसकर्मी आवास न मिलने और कुछ अपनी सुविधा के हिसाब से थाना-कोतवाली के बजाय बाहर रहना पसंद करते हैं। ऐसे पुलिसकर्मियों की संख्या करीब 20 फीसद है। इनमें कुछ पुलिसकर्मी अगल बगल के शहरों या जिलों से भी आना जाना करते हैं। हालांकि यह आवागमन देहरादून और हरिद्वार तक ही सीमित है।

अलबत्ता, चुनाव के समय दिक्कत यह है किसी भी समय कोई सूचना आती है तो आपात स्थिति में बाहर रहने वाले पुलिसकर्मियों को इकट्ठा करने में समय लगेगा। इसलिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र सिंह रावत ने सभी पुलिसकर्मियों को थाना-कोतवाली की बैरकों में रखने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही दिन में तीन बार हाजिरी के लिए भी कहा गया है।

गैर हाजिर पाए जाने पर कार्रवाई के निर्देश भी दिए गए हैं। एसएसपी के निर्देश पर सभी थाना-कोतवाली प्रभारी दिन में तीन बार मास्टर की तरह अपने छात्रों के तौर पर पुलिसकर्मियों की हाजिरी ले रहे हैं। जिससे पुलिसकर्मियों को अनुशासन के साथ ही अपने स्कूली दिन भी याद आ रहे हैं।

पुलिसकर्मियों की छुट्टी पर रोक

हरिद्वार में पुलिस सहित सभी कार्मिकों की छुट्टी पर निर्वाचन आयोग पहले ही रोक लगा चुका है। बहुत आपात स्थिति होने पर केवल अपरिहार्य कारणों में ही छुट्टी मिल सकेगी। इसके लिए सभी पुलिसकर्मियों को स्पष्ट रूप से बता दिया गया है। कोई आपात स्थित आती है तो वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से अनुमति लेनी होगी।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि चुनाव के मद्देनजर पुलिसकर्मियों को थाना कोतवाली की बैरक या सरकारी आवास में ही रखने के निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए तीन बार अटेंडेंस भी ली जा रही है। कहीं कोई लापरवाही सामने आने पर कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Election 2022: उत्‍तराखंड के उत्तरकाशी में महिलाएं मतदान में तो पुरुषों से आगे, पर प्रतिनिधित्व में हैं पीछे

Edited By Raksha Panthri

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept