रुड़की: औषधि नियंत्रण विभाग ने दवा के छह गोदाम किए सील, बरामद दवाओं और केमिकल के सैंपल की कराई जाएगी जांच, सभी दवाएं एक्सपायर

रुड़की और भगवानपुर में नकली और एक्सपायर दवाओं के मिलने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। पांच जून को देहरादून से आई एसटीएफ की टीम ने भगवानपुर स्थित एक सील दवा कंपनी पर छापा मारकर भारी मात्रा में नकली दवाएं बरामद की थी।

Sumit KumarPublish: Thu, 30 Jun 2022 05:58 PM (IST)Updated: Thu, 30 Jun 2022 05:58 PM (IST)
रुड़की: औषधि नियंत्रण विभाग ने दवा के छह गोदाम किए सील, बरामद दवाओं और केमिकल के सैंपल की कराई जाएगी जांच, सभी दवाएं एक्सपायर

संवाद सहयोगी, रुड़की: देहरादून से आई एसटीएफ की टीम ने सलेमपुर में दवा के छह गोदामों पर छापा मारा है। औषधि नियंत्रण विभाग ने इन सभी गोदामों को सील कर दिया है। गोदाम में रखी दवाओं और केमिकल आदि के सैंपल की जांच की तैयारी की जा रही है। हालांकि पैक्ड दवा एक्सपायर हो चुकी हैं। दवाओं की हालत से लग रहा है कि वह कई माह से यहां पड़ी हैं।

रुड़की और भगवानपुर में नकली और एक्सपायर दवाओं के मिलने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। पांच जून को देहरादून से आई एसटीएफ की टीम ने भगवानपुर स्थित एक सील दवा कंपनी पर छापा मारकर भारी मात्रा में नकली दवाएं बरामद की थी।

एसटीएफ ने सहारनपुर के कैलाशपुर व लक्सर में भी उसी दिन छापा मारकर नकली दवाएं व दवा बनाने में इस्तेमाल होने वाली मशीनें जब्त की थी। एसटीएफ ने चार आरोपितों को गिरफ्तार किया था। गुरुवार को देहरादून से आई एसटीएफ टीम ने सलेमपुर में बंद पड़ी छह दुकानों पर छापा मारा। यहां से भी भारी मात्रा में पैक्ड और लूज दवाएं मिली हैं। इसके अलावा भारी मात्रा में केमिकल आदि भी बरामद किया गया है।

औषधि नियंत्रण विभाग रुड़की के ड्रग इंस्पेक्टर मानवेंद्र ङ्क्षसह राणा ने बताया कि बरामद सभी दवाएं एक्सपायर हो चुकी हैं। दवाओं और रा मेटेरियल के सैंपल लिए जा रहे हैं। सभी छह दुकानों को सील कर दिए गए हैैं। दवाएं कहां से आई, इस संबंध में जानकारी जुटाई जा रही है। दवाओं के सैंपल की जांच रिपोर्ट आने पर ही पता चल सकेगा कि दवाएं नकली हैं या नहीं।

फार्मासिस्ट और एंबुलेंस चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज

मंगलौर: ट्राले को ओवरटेक करने के दौरान एंबुलेंस की टक्कर से हुई मौत के मामले में एंबुलेंस के चालक और फार्मासिस्ट स्टाफ के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। मृतक हल्द्वानी का रहने वाला था।

हल्द्वानी के डेहरिया धान मिल न्यू आइटीआइ निवासी सुनीता ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि उसके पति गोपाल शर्मा को एक जून को ब्रेन हेमरेज हुआ था। जिन्हें उपचार के लिए दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 25 जून को वे अपने पति को लेकर एंबुलेंस में एम्स ऋषिकेश जा रही थीं।

उनकी एंबुलेंस मंगलौर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम मुंडियाकी हाईवे पर पहुंची थी तो सामने से आ रहे एक बड़े ट्राले को ओवरटेक करने के चक्कर में एंबुलेंस की टक्कर हो गई। हादसे में गोपाल शर्मा की मृत्यु हो गई थी। जबकि सुनीता के अलावा एंबुलेंस चालक और फार्मासिस्ट स्टाफ मनोज बहुगुणा घायल हो गए थे। सुनीता ने चालक और फार्मेसिस्ट पर रास्ते में दो बार एंबुलेंस रोककर शराब पीने का आरोप लगाया है। मंगलौर पुलिस ने एंबुलेंस चालक और फार्मासिस्ट स्टाफ के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Crime News: रुड़की में मां बेटी से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पांच आरोपित गिरफ्तार, चार उत्‍तर प्रदेश के हैं रहने वाले

Edited By Sumit Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept