अधिकारों के प्रति सजग और अधिक सशक्त बनेंगी महिलाएं, महिला आयोग चलाएगा अभियान

राज्य महिला आयोग की नवनियुक्त अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने कहा कि राज्य में बालिकाओं महिलाओं को अधिकारों के प्रति सजग रहने और उन्हें सशक्त बनाना प्राथमिकता रहेगी। लंबित शिकायतों पर शीघ्र सुनवाई कर महिलाओं को आयोग के प्रति अधिक भरोसा दिलाया जाएगा।

Sumit KumarPublish: Thu, 27 Jan 2022 03:44 PM (IST)Updated: Thu, 27 Jan 2022 03:44 PM (IST)
अधिकारों के प्रति सजग और अधिक सशक्त बनेंगी महिलाएं, महिला आयोग चलाएगा अभियान

जागरण संवाददाता, देहरादून: राज्य महिला आयोग की नवनियुक्त अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने कहा कि राज्य में बालिकाओं, महिलाओं को अधिकारों के प्रति सजग रहने और उन्हें सशक्त बनाना प्राथमिकता रहेगी। लंबित शिकायतों पर शीघ्र सुनवाई कर महिलाओं को आयोग के प्रति अधिक भरोसा दिलाया जाएगा। कोरोना की स्थिति सामान्य होने के बाद स्कूल, ग्राम स्तर पर भी महिलाओं व बालिकाओं को अधिकारों के प्रति जागरूक किया जाएगा। बताया कि उनकी प्राथमिकता महिलाओं को जागरूक कर आगे बढ़ाना है और आयोग इस पर कार्य कर रहा है।

कुसम कंडवाल ने बीते आठ जनवरी को राज्य महिला आयोग के छठे अध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण किया। कुसम कंडवाल ने बताया कि उत्तराखंड में महिलाओं के प्रति अपराध पर अंकुश लगे इसके लिए जागरूकता अभियान चलाया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि उनकी प्राथमिकता महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना और जागरूक करना है। इसके लिए विभिन्न क्षेत्रों का भ्रमण करने के अलावा ऑनलाइन बैठकें की जाएंगी।

समाज के विभिन्न वर्गों के साथ जुड़ी रहीं

कुसम कंडवाल 2002 से समाज के विभिन्न वर्गों के साथ जुड़ी रहीं। 2003 में जिला पंचायत सदस्य पौड़ी रहीं। यमकेश्वर में सामाजिक संगठनों के साथ जुड़कर भी उन्होंने लोग को जागरूक किया। 2004 में भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष, 2007 से तीन बार भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष के पद पर रहीं। इसके साथ ही भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारणी में भी शामिल रहीं।

यह भी पढ़ें- उत्तरांचल उत्थान परिषद को नानाजी देशमुख राष्ट्रीय सम्मान से किया सम्‍मानित

यमकेश्वर कनेक्शन को लेकर चर्चा

महिला आयोग अध्यक्ष पद पर तीसरी बार यमकेश्वर की महिला को जिम्मेदारी मिली है। पूर्व यमकेश्वर विधानसभा सीट से कांग्रेस नेता सरोजनी कैंत्यूरा के बाद यमकेश्वर सीट से दो बार की विधायक रह चुकी विजय बड़थ्वाल अध्यक्ष पद पर रही। अब यमकेश्वर निवासी कुसुम कंडवाल को अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी मिली है। ऐसे में आयोग व विभाग में यमकेश्वर कनेक्शन को लेकर आम चर्चा होती नजर आ रही है।

यह भी पढ़ें- हजारों कर्मचारी ट्विटर पर उठाएंगे पुरानी पेंशन बहाली की मांग

Edited By Sumit Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept