2018 में हुई दोस्ती प्यार में बदली, फिर शिक्षिका को बेहोश कर युवक ने किया दुष्कर्म; बच्चा होने पर शादी से इनकार

शादी का झांसा देकर बिजनेसमैन से निजी स्कूल की अध्यापिका के साथ दुष्कर्म किया। युवती से जब गर्भवती हो गई और उसने बच्चे को जन्म दिया तो आरोपित शादी से मुकर गया। राजपुर थाना पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Raksha PanthriPublish: Wed, 22 Dec 2021 09:28 AM (IST)Updated: Wed, 22 Dec 2021 09:28 AM (IST)
2018 में हुई दोस्ती प्यार में बदली, फिर शिक्षिका को बेहोश कर युवक ने किया दुष्कर्म; बच्चा होने पर शादी से इनकार

जागरण संवाददाता, देहरादून। देहरादून में शादी का झांसा देकर बिजनेसमैन से निजी स्कूल की अध्यापिका के साथ दुष्कर्म किया। युवती से जब गर्भवती हो गई और उसने बच्चे को जन्म दिया तो आरोपित शादी से मुकर गया। राजपुर थाना पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

राजपुर रोड निवासी पीड़िता ने बताया कि वह एक निजी स्कूल में पढ़ाती है। 2018 में उसकी यश चौधरी निवासी शिप्रा सनसिटी, इंद्रापुरम, गाजियाबाद से मुलाकात हुई थी। दोनों के बीच दोस्ती हुई, जो प्यार में बदल गई। 19 मई 2020 को यश अध्यापिका के घर आया और एक सप्ताह तक वहीं रहा। पीड़िता का आरोप है कि यश ने उसे जूस में कुछ मिलाकर पिला दिया, जिससे वह बेसुध हो गई। इसके बाद आरोपित ने उसके साथ दुष्कर्म किया।

होश में आने पर आरोपित ने उसे विश्वास दिलाया कि वह उसके साथ शादी करेगा। इसके बाद पीडि़ता गर्भवती हो गई। आरोपित ने उससे बच्चा ना गिराने को कहा। फरवरी में उसने बच्चे को जन्म दिया। 27 नवंबर को आरोपित देहरादून पहुंचा और शादी करने की बात करने पर धमकाने लगा। राजपुर के एसओ मोहन सिंह ने बताया कि मुकदमा दर्ज किया गया है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

चरस के साथ महिला गिरफ्तार

राजपुर थाना पुलिस ने 250 ग्राम चरस के साथ एक महिला को गिरफ्तार किया है। एसओ राजपुर मोहन सिंह ने बताया कि मंगलवार को पुलिस वाहनों की चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान एक महिला को शक के आधार पर रोका गया। तलाशी में उसके पास से चरस बरामद हुई। महिला की पहचान सपेरा बस्ती, राजपुर निवासी बानो के रूप में हुई है। वह सहारनपुर से चरस लाती है और यहां स्कूल-कालेजों के छात्रों को बेचती है। आरोपित को जेल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें- रुड़की में बेटी से दुष्कर्म में सौतेले पिता को 20 साल की कठोर सजा

Edited By Raksha Panthri

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept