जल संस्थान कर्मियों ने पेयजल मंत्री से लगाई गुहार, इन मांगों को लेकर सौंपा ज्ञापन

जल संस्थान कर्मियों को वेतन व पेंशन का भुगतान ट्रेजरी से करने और आयुष्मान योजना का लाभ देने की मांग को लेकर कार्मिकों ने पेयजल मंत्री से गुहार लगाई है। उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संघ के बैनर तले कार्मिकों ने पेयजल मंत्री बिशन सिंह चुफाल से मुलाकात की।

Sumit KumarPublish: Wed, 24 Nov 2021 04:12 PM (IST)Updated: Wed, 24 Nov 2021 04:12 PM (IST)
जल संस्थान कर्मियों ने पेयजल मंत्री से लगाई गुहार, इन मांगों को लेकर सौंपा ज्ञापन

जागरण संवाददाता, देहरादून : जल संस्थान कर्मियों को वेतन व पेंशन का भुगतान ट्रेजरी से करने और आयुष्मान योजना का लाभ देने की मांग को लेकर कार्मिकों ने पेयजल मंत्री से गुहार लगाई है। उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संघ के बैनर तले कार्मिकों ने पेयजल मंत्री बिशन सिंह चुफाल से मुलाकात की और मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा।

मंगलवार को उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संघ व उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संगठन संयुक्त मोर्चा के प्रदेश महामंत्री रमेश बिंजोला के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल पेयजल मंत्री बिशन सिंह चुफाल से उनके आवास पर मिला। इस दौरान कर्मचारियों ने काबीना मंत्री को समस्याओं अवगत कराया। साथ ही दो सूत्रीय मांग पत्र भी सौंपा। प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि जल संस्थान व पेयजल निगम का राजकीयकरण किया जाए। यदि राजकीयकरण व एकीकरण में कुछ विलंब होता है तो ऐसी स्थिति में पेयजल निगम की भांति जल संस्थान के कर्मचारियों को वेतन भत्ते व पेंशन का भुगतान ट्रेजरी के माध्यम किया जाए। जिस पर पेयजल मंत्री ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया कि मांग पर कार्रवाई को शासन को निर्देश दिए गए हैं।

साथ ही प्रतिनिधि मंडल ने कार्मिकों को आयुष्मान योजना का लाभ देने की मांग भी की। पेयजल मंत्री ने बताया कि शासन स्तर पर निगम, निकायों व जल संस्थान की आयुष्मान योजना से संबंधित पत्रावली पर कार्रवाई प्रगति पर है। जिसके शीघ्र ही आदेश जारी कर दिए जाएंगे। इस दौरान श्याम सिंह नेगी, संदीप मल्होत्रा, प्रेम किशोर कुकरेती, प्रवीण गुसाईं, ओम प्रकाश कनौजिया, लाल सिंह रौतेला, धूम सिंह सोलंकी आदि उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें- CM Vatsalya Yojna: तीन छात्राओं को लौटाई गई फीस, आगे भी शुल्क नहीं लेगा महिला प्रौद्योगिकी संस्थान

जाय संस्था चला रही सेनेटरी पैड वितरण अभियान

मासिक धर्म की स्वच्छता के बारे में जागरूक करने के लिए जस्ट ओपन योरसेल्फ (जाय) संस्था के तकरीबन 25 युवा गांव व मोहल्लों में जाकर युवती और महिलाओं को जागरूक कर सेनेटरी पैड वितरित कर रहे हैं।

देहरादून के कौलागढ़ रोड निवासी व संस्था के संस्थापक जय शर्मा ने बयान जारी कर कहा कि कोरोनाकाल की दूसरी लहर के दौरान संस्था ने उतराखंड के जिलों के कई गांवों में जाकर सेनेटरी पैड वितरित किए। उन्होंने दावा किया कि दिसंबर अंत तक संस्था की टीम 10 लाख सेनेटरी पैड वितरित करेगी। कहा कि मासिक धर्म स्वच्छता को लेकर लोग जागरूक हैं, लेकिन कई जगहों पर इसे खुले मंच पर नहीं कह पाते। उन्हें इस बारे में जागरूक करने और सेनेटरी पैड वितरित करने की प्रक्रिया जारी है। इसमें ग्राम प्रधान, वार्ड सदस्य, क्षेत्र के जागरूक व्यक्तियों का सहयोग मिल रहा है।

यह भी पढ़ें- MBBS के शुल्क का बांड नहीं भरने वाले छात्रों को भी मिलेगा कम शुल्क का लाभ, इसी सत्र से होगी शुरुआत

Edited By Sumit Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept