नैनीताल में रोप वे की व्यवस्था पर हो विचार, मुख्‍य सचिव एसएस संधु ने दिए निर्देश

मुख्य सचिव एसएस संधु ने नैनीताल में जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए वहां रोप वे की व्यवस्था पर विचार करने के निर्देश दिए हैं ताकि पर्यटकों के वाहन शहर से बाहर ही रुकें और जाम की स्थिति से बचा जा सके।

Sumit KumarPublish: Thu, 02 Dec 2021 05:00 PM (IST)Updated: Thu, 02 Dec 2021 05:00 PM (IST)
नैनीताल में रोप वे की व्यवस्था पर हो विचार, मुख्‍य सचिव  एसएस संधु ने दिए निर्देश

राज्य ब्यूरो, देहरादून: मुख्य सचिव एसएस संधु ने नैनीताल में जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए वहां रोप वे की व्यवस्था पर विचार करने के निर्देश दिए हैं, ताकि पर्यटकों के वाहन शहर से बाहर ही रुकें और जाम की स्थिति से बचा जा सके। उन्होंने पर्यटन विभाग को मोबाइल एप और एफएम रेडियो के माध्यम से पर्यटकों को ट्रैफिक की जानकारी दिए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

बुधवार को मुख्य सचिव एसएस संधु ने सचिवालय में नैनीताल जिले की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि नैनीताल में पार्किंग स्थलों के लिए सैद्धांतिक सहमति दी गई है। पार्किंग बनाते समय इस बात का ध्यान रखा जाए कि इससे शहर की खूबसूरती खराब न हो। उन्होंने शहर की वाहन व यात्रियों की वहन क्षमता का ध्यान रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पर्यटन शहरों में फुटपाथ की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। जिन जिलों में जिलाधिकारियों व किसी विभाग ने अभिनव पहल एवं अच्छे कार्य किए हैं, उन्हें वेबसाइट पर अपलोड किया जाए।

उन्होंने कहा कि शासन स्तर पर लंबित समस्याओं के निराकरण के लिए सभी विभाग आपसी समन्वय के साथ कार्य करें। बैठक में जिलाधिकारी नैनीताल धीराज गब्र्याल ने पार्किंग के संबंध में शासन स्तर पर लंबित प्रस्तावों पर जल्द कार्यवाही करने का अनुरोध किया। बैठक में प्रमुख सचिव आरके सुधांशु, सचिव अरविंद सिंह ह्यांकि समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड में टेंशन बढ़ा रहा कोरोना, अब तक 50 पुलिसकर्मी मिले संक्रमित; 13 हजार की हो चुकी है जांच

विधानसभा अध्यक्ष ने किया परिसर का निरीक्षण

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने विधानसभा परिसर में स्वच्छता एवं सुरक्षा का आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने परिसर के भीतर स्वच्छता न पाए जाने पर नाराजगी भी जताई।

बुधवार को विधानसभा परिसर में निरीक्षण के दौरान उन्होंने कहा कि प्रत्येक कार्मिक और बाहर से आने वाले आगंतुकों का कर्तव्य है कि वह विधानसभा को स्वच्छ रखे। उन्होंने सुरक्षा से संबंधित दीवार पर लगी कंटीली तारों को दुरुस्त करने के लिए प्रभारी सचिव विधानसभा को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सत्र से पहले तमाम तरह की व्यवस्था को दुरुस्त किया जाए ताकि सत्र संचालन को लेकर किसी प्रकार की परेशानी न हो। इस दौरान विधानसभा के प्रभारी सचिव मुकेश सिंघल, सुरक्षा अधिकारी प्रदीप गुणवंत, व्यवस्था अधिकारी दीपचंद व उप सचिव चंद्रमोहन गोस्वामी समेत अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें- करोड़ों के घाटे में डूबे रोडवेज को Fastag के बाद अब डीजल में चपत, अधिकारियों की लापरवाही पड़ रही भारी

Edited By Sumit Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept