Chardham Yatra 2021: नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने लिया बदरी-केदार में निर्माण कार्यों का जायजा, दोनों धामों में की पूजा-अर्चना

Chardham Yatra 2021 नीति आयोग के उपाध्यक्ष डा. राजीव कुमार पहले केदराथान और फिर बदरीनाथ धाम पहुंचे। यहां उन्होंने केदारबाबा और बदरी-विशाल के दर्शन कर पूजा अर्चना की। सुबह लगभग नौ बजे वह हेलीकॉप्टर से केदारनाथ पहुंचे थे।

Raksha PanthriPublish: Sun, 10 Oct 2021 04:10 PM (IST)Updated: Sun, 10 Oct 2021 08:54 PM (IST)
Chardham Yatra 2021: नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने लिया बदरी-केदार में निर्माण कार्यों का जायजा, दोनों धामों में की पूजा-अर्चना

जागरण संवाददाता, रुद्रप्रयाग : नीति आयोग के उपाध्यक्ष डा. राजीव कुमार ने केदारनाथ और बदरीनाथ में निर्माण कार्यों का जायजा लिया। उन्होंने उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के पदाधिकारियों से भी मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने दोनों धामों में दर्शन भी किए।

रविवार सुबह डा. राजीव कुमार हेलीकाप्टर से केदारनाथ धाम पहुंचे। धाम में पूजा-अर्चना के बाद उन्होंने द्वितीय चरण के निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने निर्माणाधीन आदि शंकराचार्य की समाधि स्थल को भी देखा। बोर्ड के प्रशासनिक अधिकारी युद्धवीर सिंह पुष्पवान ने बताया कि करीब डेढ़ घंटा यहां ठहरने के बाद वह बदरीनाथ के लिए रवाना हो गए। देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि बदरीनाथ के दर्शन के बाद नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने बोर्ड के गेस्ट हाउस में अधिकारियों से धाम में मास्टर प्लान के तहत होने वाले निर्माण कार्यों के बारे में जानकारी ली।

केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने किए भगवान बदरीविशाल के दर्शन

केंद्रीय सड़क परिवहन राष्ट्रीय राजमार्ग राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने शनिवार को भगवान श्री बदरीविशाल के दर्शन कर पूजा अर्चना की। केंद्रीय मंत्री हेलीकाप्टर से बदरीनाथ धाम पहुंचे। उन्होंने भगवान बदरीविशाल के दर्शन किए। इस अवसर पर देवस्थानम बोर्ड के अपरमुख्य कार्यकारी अधिकारी बीडी सिंह और धर्माधिकारी भुवनचंद उनियाल ने उनका स्वागत किया।

बदरीनाथ का प्रसाद लेकर डिमरी पुजारी नरेंद्रनगर रवाना

बदरीनाथ धाम में कपाटबंदी से पूर्व आयोजित होने वाले धार्मिक अनुष्ठान शुरू हो गए। इसी कड़ी डिमरी पुजारियों का दल भगवान बदरी विशाल का प्रसाद लेकर शनिवार को नरेंद्रनगर राजमहल के लिए रवाना हुआ। इसके अलावा तुलसी माला, चंदन, केसर व भगवान के अंगवस्त्र भी बदरीनाथ धाम से नरेंद्रनगर ले जाए गए हैं। आपको बता दें कि बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होने की तिथि विजयदशमी पर्व पर तय होगी।

यह भी पढ़ें- Chardham Yatra 2021: ई-पास की बाध्यता खत्म, अब सिर्फ पंजीकरण जरूरी; जानें SOP में और क्या है खास

इससे पहले धाम में कई अन्य धार्मिक परंपराओं का निर्वहन भी किया जाता है। इसी में से एक है भगवान बदरी विशाल का प्रसाद नरेंद्रनगर राजमहल पहुंचाना। यह कार्य डिमरी पुजारी संपन्न करते हैं। शनिवार को डिमरी पुजारियों का दल बदरीनाथ धाम से प्रसाद लेकर नरेंद्रनगर राजमहल के लिए रवाना हुआ।

यह भी पढ़ें- Hemkund Sahib Yatra: शीतकाल के लिए बंद हुए हेमकुंड साहिब के कपाट, अंतिम अरदास को पहुंचे कई श्रद्धालु

 

Edited By Raksha Panthri

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept