500 से अधिक परिवार गांव में ही कैद होने को मजबूर

संवाद सूत्र कर्णप्रयाग चमोली जिले में बीते तीन दिन से लगातार बारिश के चलते ग्रामीण क्षेत्रों का ज

JagranPublish: Wed, 20 Oct 2021 06:44 PM (IST)Updated: Wed, 20 Oct 2021 06:44 PM (IST)
500 से अधिक परिवार गांव 
में ही कैद होने को मजबूर

संवाद सूत्र, कर्णप्रयाग: चमोली जिले में बीते तीन दिन से लगातार बारिश के चलते ग्रामीण क्षेत्रों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। जिले के चटवापीपल-गलनाव से सिरण गांव को जोड़ने वाली सड़क कई स्थानों पर बुरी तरह क्षतिग्रस्त पड़ी है। इससे ग्रामीणों को पांच किमी पैदल चलकर मुख्यालय तक पहुंचना पड़ रहा है। हालांकि प्रशासन की ओर से जल्द ही ग्रामीण सड़कों को सुचारू करने का दावा किया जा रहा है।

पूर्व प्रधान प्रमोद नौटियाल, अनिल नेगी, मनवर सिंह, वसदेव सिंह और गिरीश सिंह ने बताया कि साढ़े तीन किलोमीटर क्षेत्र में सड़क पूरी तरह ध्वस्त हो गई है। इसके कारण गांवों तक राशन व आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई नहीं पहुंच पा रही है। मोटर मार्ग अवरुद्ध होने से 500 से अधिक परिवार गांव में ही कैद होने को मजबूर हैं। पीएमजीएसवाई कर्णप्रयाग को जानकारी दे दी गई है, लेकिन विभाग ने सड़क को खोलने का कार्य अभी तक शुरू नहीं किया, जिससे समस्या हो रही है। वहीं पीएमजीएसवाई कर्णप्रयाग के कनिष्ठ अभियंता प्रदीप सिंह का कहना है कि विभाग की छह सड़कें अवरुद्ध चल रही हैं। विभाग के पास दो जेसीबी मशीन हैं, जो सड़क खोलने में लगी हैं। अन्य मशीनों की व्यवस्था की जा रही है। जैसे ही मशीनों की व्यवस्था होती है सड़कों को खोल दिया जाएगा।

उधर, गौचर-रानों-सरमोला (पोखरी) संपर्क मोटर मार्ग बीती रात हुई बारिश के चलते सूगी में मार्ग के ऊपरी हिस्से में भूस्खलन से मलबा और भारी पत्थर सड़क पर आ गए। इससे सड़क बुधवार दोपहर तक बंद रही। मार्ग खुलवाने के लिए ग्राम प्रधान प्रकाश रावत ने लोनिवि पोखरी से संपर्क की कोशिश की, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया। वहीं दूसरी ओर गौचर-सिदोली संपर्क मोटर मार्ग भी क्षतिग्रस्त होने से आवाजाही बंद है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम