पथारोहण को बनाया जाए जीवन का हिस्सा: बछेंद्री पाल

देश की पहली महिला एवरेस्ट विजेता बछेंद्री पाल ने कहा कि महिलाएं भी पुरुषों के समान हर मुकाम हासिल कर सकती हैं और उन्हें कठिन से कठिन परिस्थितियों से मुकाबला करने को तैयार रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर में पथारोहण (टै्रकिंग) को भी जीवन का हिस्सा बनाया जाना चाहिए ताकि आम जनमानस स्वस्थ व फिट रह सके।

JagranPublish: Tue, 21 Jun 2022 11:17 PM (IST)Updated: Tue, 21 Jun 2022 11:17 PM (IST)
पथारोहण को बनाया जाए जीवन का हिस्सा: बछेंद्री पाल

संवाद सूत्र, जोशीमठ: देश की पहली महिला एवरेस्ट विजेता बछेंद्री पाल ने कहा कि महिलाएं भी पुरुषों के समान हर मुकाम हासिल कर सकती हैं और उन्हें कठिन से कठिन परिस्थितियों से मुकाबला करने को तैयार रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि मौजूदा दौर में पथारोहण (टै्रकिंग) को भी जीवन का हिस्सा बनाया जाना चाहिए, ताकि आम जनमानस स्वस्थ व फिट रह सके।

एवरेस्टर बछेंद्री पाल जोशीमठ ब्लाक के रायगढ़ी हाईस्कूल में आयोजित स्वागत कार्यक्रम में बोल रही थी। दल के सदस्यों ने वाण गांव से लेकर झींजी, इराणी, औली-गौरसों बुग्याल, लार्ड कर्जन रोड-क्वांरीपास तक के दिलकश नजारों का वर्णन करते हुए आमजन को ट्रैकिग के लिए प्रेरित किया।

माउंट एवरेस्ट को फतह करने वाली पहली भारतीय महिला बछेंद्री पाल के नेतृत्व में कोर टीम में 50 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं का फिट इंडिया के तहत महिला ट्रांस हिमालयन अभियान चल रहा है, जिसकी शुरुआत अरुणाचल प्रदेश से हुई थी और समापन कारगिल में किया जाएगा। इससे पहले रायगढ़ी गांव में पहुंचने पर नौ स्वतंत्र पर्वतीय ब्रिगेड ग्रुप की गढ़वाल स्काउट्स बटालियन, शिक्षा विभाग व स्थानीय ग्रामीणों ने इस दल का फूलमालाओं के साथ भव्य स्वागत किया। दल की लीडर बछेंद्री पाल (67) के अलावा इसमें पर्वतारोही चेतना साहू (54), सविता धपवाल (53), चैला जागीरदार (64), गंगोत्री सोनेजी (63), पायो मुर्मू (57), डा. सुषमा बिस्सा (55), शामला पद्मनाभन (64), मेजर कृष्णा (59), विमला देवस्कर (54), वसुमति श्रीनिवासन (68), एल अन्नपूर्णा (52) शामिल हैं। इस अवसर पर नौ स्वतंत्र पर्वतीय ब्रिगेड ग्रुप के कमांडर ब्रिगेडियर अमन आनंद, गढ़वाल स्काउट्स के कमांडिग आफिसर कर्नल तरुण सुंद्रियाल, ग्रिनेडियर रेजीमेंट के कमांडिग आफिसर कर्नल हेमंत कुमार, ग्राम प्रधान कुसुम नेगी, महिला मंगल दल अध्यक्ष अनीता देवी आदि मौजूद थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept