बदरीनाथ मास्टर प्लान कार्यों का किया निरीक्षण

प्रधानमंत्री कार्यालय के उप सचिव मंगेश घिल्डियाल ने शनिवार को बदरीनाथ धाम पहुंचकर मास्टर प्लान के तहत संचालित कार्यो का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों व कार्यदायी संस्थाओं को पहले चरण के तहत संचालित निर्माण कार्यो में तेजी लाने के निर्देश दिए।

JagranPublish: Sat, 25 Jun 2022 10:47 PM (IST)Updated: Sat, 25 Jun 2022 10:47 PM (IST)
बदरीनाथ मास्टर प्लान कार्यों का किया निरीक्षण

संवाद सहयोगी, गोपेश्वर: प्रधानमंत्री कार्यालय के उप सचिव मंगेश घिल्डियाल ने शनिवार को बदरीनाथ धाम पहुंचकर मास्टर प्लान के तहत संचालित कार्यो का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों व कार्यदायी संस्थाओं को पहले चरण के तहत संचालित निर्माण कार्यो में तेजी लाने के निर्देश दिए। कहा कि कहीं पर भी समस्या आ रही है, तो उसका त्वरित समाधान करें तथा आगामी सितंबर माह तक पहले चरण के कार्यो को पूरा किया जाए।

उप सचिव मंगेश घिल्डियाल अपने निर्धारित भ्रमण कार्यक्रम के तहत शनिवार को दोपहर 12:30 बजे बदरीनाथ धाम पहुंचे। यहां मंदिर में भगवान बदरीनाथ के दर्शन एवं पूजा अर्चना करने के बाद उप सचिव ने बदरीनाथ धाम में मास्टर प्लान के तहत किए जा रहे कार्यो का स्थलीय निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने लूप रोड व बीआरओ बाईपास निर्माण, झीलों का सुंदरीकरण, रिवर फ्रंट डेवलपमेंट आदि निर्माण कार्यों को देखा। उन्होंने कहा कि शेष नेत्र झील और बदरीश झील में पानी की वैकल्पिक व्यवस्था भी रखी जाए। उप सचिव ने पहले चरण के कायरें को आगामी सितंबर तक पूरा करने पर जोर देते हुए सभी कार्यदायी संस्थाओं को बेहतर समन्वय के साथ कार्य करने के निर्देश दिए।

इस दौरान जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने मास्टर प्लान के तहत संचालित कार्यो के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी आशीष त्रिपाठी, एसडीएम कुमकुम जोशी सहित कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारी भी मौजूद थे।

पहाड़ी शैली के पत्थर से हो रहा लूप रोड का निर्माण

बदरीनाथ धाम में धार्मिक-पौराणिक महत्व, मान्यताओं व परंपराओं को ध्यान में रखते हुए मास्टर प्लान के तहत यात्रियों की सुख, सुविधा, अच्छे दर्शन और अगले 100 सालों की जरूरत के हिसाब से बुनियादी ढांचों का विकास एवं निर्माण कार्य किए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत तीन चरणों में बदरीनाथ धाम को एक स्मार्ट टाउन के रूप में तैयार किया जाएगा, जिसमें पहले चरण का कार्य चल रहा है। पहले चरण में बदरीनाथ धाम में वन-वे लूप रोड का पहाड़ी शैली के पत्थर से निर्माण किया जाएगा। इसमें लगभग 700 मीटर सड़क बनाई जा रही है। अराइवल प्लाजा के निर्माण से टिकट बुकिग, होटलों की जानकारी जैसी सुविधाएं तीर्थ यात्रियों को आसानी से मिल सकेंगी। बदरीनाथ में स्थित शेष नेत्र झील और बदरीश झील का सुंदरीकरण का कार्य प्रगति पर है। ये दोनों झीलें लगभग 300 मीटर तक फैली हैं। यहां आने वाले तीर्थयात्रियों को अच्छा उपचार मिले, इसके लिए बदरीनाथ धाम में स्थित अस्पताल का विस्तारीकरण किया जा रहा है। इसके साथ ही धाम में सभी घाटों का सुंदरीकरण और निर्माण कार्य भी हो रहा है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept