भंडारी का जिला पंचायत उपाध्यक्ष पर पलटवार

चमोली में जिला पंचायत की सियासत गरमा गई है। जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी के पति राजेंद्र भंडारी ने जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण सिंह रावत पर पलटवार किया है। भंडारी ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार लक्ष्मण सिंह रावत की आड़ में उनकी पत्नी को अध्यक्ष पद से हटाने की साजिश रच रही है। आरोप लगाया कि जिला पंचायत उपाध्यक्ष ने कांग्रेस की प्राथमिकता सदस्यता तक नहीं ली है और वह भाजपा के इशारे पर उनकी राजनीतिक छवि खराब करना चाहते हैं।

JagranPublish: Tue, 26 Oct 2021 11:03 PM (IST)Updated: Tue, 26 Oct 2021 11:03 PM (IST)
भंडारी का जिला पंचायत उपाध्यक्ष पर पलटवार

संवाद सहयोगी, गोपेश्वर: चमोली में जिला पंचायत की सियासत गरमा गई है। जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी के पति राजेंद्र भंडारी ने जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण सिंह रावत पर पलटवार किया है। भंडारी ने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार लक्ष्मण सिंह रावत की आड़ में उनकी पत्नी को अध्यक्ष पद से हटाने की साजिश रच रही है। आरोप लगाया कि जिला पंचायत उपाध्यक्ष ने कांग्रेस की प्राथमिकता सदस्यता तक नहीं ली है और वह भाजपा के इशारे पर उनकी राजनीतिक छवि खराब करना चाहते हैं।

भंडारी ने मंगलवार को यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण सिंह रावत देहरादून में जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी के फ्लैट पर किराएदार हैं। वह पिछले कई साल से किराया जमा नहीं कर रहे हैं। उनको तीन बार लीगल नोटिस जारी किए जा चुके हैं। कहा कि उपाध्यक्ष उनका फ्लैट कब्जाना चाहते हैं, लिहाजा वह फ्लैट नहीं छोड़ रहे हैं। उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि उपाध्यक्ष ने इंटरनेट मीडिया पर जो वाइस रेकार्ड वायरल किया है, वह एक वर्ष पुराना है। अब चुनावों का समय निकट आ गया है। ऐसे में भाजपा सरकार की शह पर उपाध्यक्ष उन पर अनर्गल आरोप लगा रहे हैं।

कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष पर नंदा देवी राजजात के कार्यों में धांधली का आरोप लगाया जा रहा है, जबकि उस मामले में दो आइएएस अधिकारियों ने अलग-अलग जांच रिपोर्ट में क्लीन चिट दी है। कहा कि भाजपा सरकार जिला पंचायत अध्यक्ष पद से रजनी भंडारी को हटाने की साजिश रच रही है। सरकार की ताकत के बल पर उन्हें हटाने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस मामले में वह न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे। जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी ने कहा कि उन्होंने प्रत्येक जिला पंचायत सदस्य को अपने विवेकाधीन कोष से बराबर धनराशि बांटी है। खुद उपाध्यक्ष को सबसे अधिक राशि बांटी गई है। कहा कि वह हर आरोप की जांच के लिए तैयार हैं। ----------------------

सदस्य आए अध्यक्ष के पक्ष में

कांग्रेस समर्थित जिला पंचायत सदस्यों लक्ष्मण बिष्ट, देवी जोशी, अनिल अग्रवाल, बबीता त्रिकोटी, धनपा देवी, लक्ष्मी कठैत, ममता देवी और मंजू कठैत ने पत्रकारों से बातचीत में कहा जिला पंचायत उपाध्यक्ष की कांग्रेस में प्राथमिक सदस्यता तक नहीं है। कहा कि यदि वे कांग्रेसी होते तो जब जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव हुए तब वह पंचायत सदस्यों को लेकर तत्कालीन मुख्यमंत्री के पास नहीं जाते। कोरोना राहत सामग्री में उपाध्यक्ष के धांधली के आरोपों पर सदस्यों ने कहा कि स्वयं उपाध्यक्ष ने ही लाखों की कोरोना राहत सामग्री की खरीद की है। कहा कि भाजपा उपाध्यक्ष को मोहरा बनाकर राजनीति का खेल खेल रही है। आरोप लगाए कि उपाध्यक्ष मौजूदा बदरीनाथ विधायक के साथ मिलकर चमोली जिले में एक अरब से अधिक के कार्य करा हैं, जिनकी भी जांच होनी चाहिए।

-----------------

भाजपा समर्थित जिपं सदस्यों ने लगाया आरोप

भाजपा समर्थित जिला पंचायत सदस्यों ने अलग से प्रेस वार्ता कर नंदा देवी राजजात के टेंडरों में अनियमितता का आरोप लगाया। कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष ने अपने पद का दुरुपयोग किया है, उन्हें तत्काल इस्तीफा देना चाहिए। इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य योगेंद्र सेमवाल, विक्रम बत्र्वाल आदि शामिल थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept