सिरोबगड़ व लामबगड़ में चार-चार घंटे बंद रहा बदरीनाथ हाईवे

पहाड़ में वर्षाकाल परेशानी का सबब बनने लगा है। चारधाम यात्रा मार्ग पर भी खतरा बढ़ता जा रहा है। वर्षा के कारण मलबा आने से बदरीनाथ हाईवे सिरोबगड़ और लामबगड़ में चार-चार घंटे बंद रहा।

JagranPublish: Sun, 03 Jul 2022 11:08 PM (IST)Updated: Sun, 03 Jul 2022 11:08 PM (IST)
सिरोबगड़ व लामबगड़ में चार-चार घंटे बंद रहा बदरीनाथ हाईवे

जागरण टीम, गढ़वाल: पहाड़ में वर्षाकाल परेशानी का सबब बनने लगा है। चारधाम यात्रा मार्ग पर भी खतरा बढ़ता जा रहा है। वर्षा के कारण मलबा आने से बदरीनाथ हाईवे सिरोबगड़ और लामबगड़ में चार-चार घंटे बंद रहा। उधर, शिवपुरी में सड़क पर मलबा आने से ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे एक घंटे बंद रहा। इसके अलावा, रुद्रप्रयाग, नई टिहरी और पौड़ी जिले में 33 ग्रामीण मोटर मलबा आने से बंद पड़े हैं, जिससे ग्रामीणों की परेशानी बढ़ गई है।

चार घंटे बंद रहा बदरीनाथ हाईवे

रुद्रप्रयाग: रुद्रप्रयाग व श्रीनगर के बीच बदरीनाथ हाईवे सिरोबगड़ में रविवार सुबह लगभग छह बजे मलबा आने से अवरुद्ध हो गया था। दस बजे हाईवे से मलबा हटाया गया, जिसके बाद यातायात सुचारू हुआ। वहीं, जनपद में 12 मोटर मार्ग मलबा आने से अवरुद्ध चल रहे हैं, हालांकि मलबा हटाकर यातायात सुचारू किया जा रहा है, लेकिन फिर से मलबा सड़क पर आ जा रहा है। जनपद के बीस गांवों का संपर्क टूटा हुआ है। जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने सभी कार्यदायी संस्थाओं को तत्काल मलबा हटाकर यातायात सुचारू करने के निर्देश दिए हैं।

-------------------

लामबगड़ में चार घंटे रहा हाईवे बाधित

गोपेश्वर: बदरीनाथ हाईवे शनिवार रात को वर्षा से लामबगड़ खचड़ा नाले के पास भूस्खलन के कारण बंद रहा। सुबह पांच बजे हाईवे से मलबा हटाने का काम शुरू हुआ और नौ बजे यानी चार घंटे बाद यातायात सुचारू हो सका। हाईवे पर पत्थर गिरने के कारण वाहनों की आवाजाही दिनभर एसडीआरएफ व पुलिस की देखरेख में कराई गई।

-------------------

शिवपुरी में एक घंटे तक बंद रहा बदरीनाथ हाईवे

नई टिहरी: रविवार तड़के हुई वर्षा से ऋषिकेश-बदरीनाथ मोटर मार्ग शिवपुरी के पास सुबह करीब छह बजे पहाड़ी से मलबा आने के कारण बंद हो गया। इस दौरान हाईवे के दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई। सुबह बारिश होने के कारण हाईवे पर फंसे यात्रियों व स्थानीय निवासियों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ा। मलबा हटाने के लिए तत्काल जेसीबी मशीन लगाई गई, जिसके बाद करीब सात बजे हाईवे पर आवागमन सुचारू हो पाया। वहीं, वर्षा के चलते 11 मोटर मार्ग बंद पड़े हैं, जिनमें मरोड़ा-बनाली, जाजल-हाड़ीसैरा, चंद्रश्वरसैंण, गजा-तमियार, गुलर-नाई मिडांथ, निगेर-खनाना, शिवपुरी-तेखला, बरसोली-गुरछोली, छतियारा-खवाड़ा, कांडीखाल-गेंवली, पालकोट-चौंड शामिल हैं। इसमें से आधा दर्जन ग्रामीण मोटर मार्ग को बंद हुए पांच दिन का समय हो गया है। सड़कें बंद होने के कारण ग्रामीणों को आवागमन में परेशानी और बढ़ गई है। वहीं क्षेत्र में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति नहीं होने से ग्रामीण परेशान हैं। कुछ ग्रामीण सड़कें मलबा व बोल्डर आने से जोखिम भरी बनी हैं।

----------------

एक राज्य मार्ग समेत दस मोटर मार्ग रहे अवरुद्व

पौड़ी: जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में रविवार को एक राज्य मार्ग समेत ग्रामीण क्षेत्रों के 10 मोटर मार्गों पर वाहनों की आवाजाही ठप रही। वर्षा से जगह-जगह बोल्डर आने से कर्णप्रयाग-नौटी-पैठाणी राज्य मार्ग के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों के नालीखाल-पोखरीखेत मोटर मार्ग, खंडेश्वर मैदान मार्ग, जाख-अक्सोड़ा, स्योली-टीला, चपडेत-कन्दलाई-अमडांडा समेत दस मोटर मार्गों पर वाहनों की आवागमन बाधित रही।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept