मुख्तार अंसारी की डबल मर्डर मामले में वर्चुअल सुनवाई, कोरोना और स्‍वास्‍थ्‍य वजहों से आने में जताई असमर्थता

मऊ में सदर विधायक के अधिवक्ता दारोगा सिंह ने बताया कि मुख्तार अंसारी अस्वस्थता व कोरोना के कारण अदालत में व्यक्तिगत रूप से आने मे असमर्थ हैं। उनकी आनलाइन पेशी विडियो कान्फ्रेंसिग से कराये जाने का उनकी तरफ से आग्रह किया गया था।

Abhishek SharmaPublish: Sat, 29 Jan 2022 06:52 PM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 06:52 PM (IST)
मुख्तार अंसारी की डबल मर्डर मामले में वर्चुअल सुनवाई, कोरोना और स्‍वास्‍थ्‍य वजहों से आने में जताई असमर्थता

मऊ, जागरण संवाददाता। अपर जनपद एवं सत्र न्यायाधीश की विशेष कोर्ट दिनेश चौरसिया ने सदर विधायक मुख्तार अंसारी को विडियो कांन्फ्रेसिग के माध्यम से थाना दक्षिण टोला के राम सिह मौर्या व सिपाही सतीश कुमार की दोहरे हत्याकाण्ड के मामले में वीडियो कान्फ्रेसिग से बांदा जेल से पेशी करायी गयी।

इससे पूर्व भी मुख्‍तार की कई मामलों में पेशी हो चु‍की है, जिसमें स्‍वास्‍थ्‍य वजहों से उनके खुद पेश होने की जगह वीडियो कांफ्रेंसिंग से हाजिर होने की बात कही जा चुकी है। वहीं शनिवार को मुख्‍तार की पेशी को लेकर जारी गहमागहमी के बीच कोर्ट परिसर में मुख्‍तार के करीबी भी मौजूद रहे। वहीं परिसर में भी काफी गहमागहमी बनी रही।

न्यायालय ने इस मामले में अगली पेशी नौ फरवरी के लिये नियत कर दी। ज्ञातव्‍य है कि एमपी एमएलए की विशेष कोर्ट प्रत्येक जनपद मे स्थापित कर दिये जाने के कारण प्रयागराज से इनसे सम्बन्धित पत्रावली वापस आ चुकी है। सदर विधायक के अधिवक्ता दारोगा सिंह ने बताया कि मुख्तार अंसारी अस्वस्थता व कोरोना के कारण अदालत में व्यक्तिगत रूप से आने मे असमर्थ हैं। उनकी पेशी विडियो कान्फ्रेसिग से कराये जाने का उनकी तरफ से आग्रह किया गया था।

ज्ञातव्‍य है कि 12 वर्ष पूर्व ठीकेदार मन्ना सिंह दोहरे हत्याकाणड के चश्मदीद गवाह रामसिह मौर्या व उनके गनर सिपाही सतीश कुमार की दक्षिण टोला थाना क्षेत्र मे स्थित पुराने आरटीओ आफिस के सामने गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इस मामले में सदर विधायक मुख्तार अंसारी सहित आधा दर्जन से ऊपर लोगों को आरोपी बनाया गया है। उक्त मामला अदालत में लम्बित है। पेशी के दौरान मुख्तार अंसारी और जेल अधीक्षक बांदा वीडियो कान्फ्रेंसिग द्वारा जेल से जुडे थे। इससे पूर्व भी मुख्‍तार ने जेल में उनको सुविधाएं प्रदान न किए जाने को लेकर शिकायत किया था। वहीं स्‍वास्‍थ्‍य वजहों को लेकर भी मुख्‍तार और बांदा जेल काफी समय से चर्चा में बनी हुई है। 

Edited By Abhishek Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept